Thursday, August 13, 2020
Home देश-समाज शशि थरूर ने एक ट्वीट से करोड़ों हिन्दू श्रद्धालुओं को 'नंगा' और 'पापी' कहा,...

शशि थरूर ने एक ट्वीट से करोड़ों हिन्दू श्रद्धालुओं को ‘नंगा’ और ‘पापी’ कहा, लेकिन नंगा हुआ कौन?

कॉन्ग्रेस, राहुल गाँधी के जनेऊ पहनने और डिस्कवरी ऑफ़ गोत्र करने से पहले, हिन्दुओं को 'काशी का अस्सी' की भाषा में वहाँ रखा करती थी जो लिखा नहीं जा सकता। इसलिए कभी नदियों को साफ नहीं किया गया क्योंकि न तो नदियाँ वोट देती हैं, न ही नदी में नहाने वाले इनको वोट देते हैं।

शशि थरूर एक अच्छे वक्ता, बेहतर लेखक, बढ़िया डिप्लोमैट और हमारे दौर के खूबसूरत विचारक हुआ करते थे। फिर इनको एक दिन कुत्ते ने काटा और कॉन्ग्रेस में शामिल हो गए। उसके बाद से पारिवारिक उद्यम और उसके कूड़ेदानों को सँभालने में इनकी अंतड़ियाँ निकल गईं और स्थिति यह है कि पढ़ा-लिखा आदमी गंगास्नान को ‘हमाम में नंगे’ होने से तौल रहा है।

एक ट्वीट आया है। बड़े आदमी हैं तो ट्वीट कर देते हैं, और फिर नीचे जो सवाल आते हैं उसका जवाब नहीं देते। ट्वीट में इन्होंने बड़ी ही संजीदगी से लिखा है, “गंगा भी स्वच्छ रखनी है और पाप भी यहीं धोने हैं। इस संगम में सब नंगे हैं! जय गंगा मैया की!”

‘जय गंगा मैया’ तो बोलना ज़रूरी है ही क्योंकि सुनंदा पुष्कर की आत्मा की शांति के लिए शशि ब्रो हरिद्वार के गंगा तट पर ही गए थे। संतों के स्नान से तो शरीर का मैल ही शायद गंगा माँ में मिले, लेकिन आपके मन का मैल, सुनंदा पुष्कर की अस्थियों और राख के साथ जो गंगा में मिला, उससे गंगा कितनी मैली हुई, ये कभी सोचा है?

जब शशि थरूर अपनी तृतीय पत्नी सुनंदा पुष्कर की राख हरिद्वार में प्रवाहित करने गए थे

धूर्त आदमी कम शब्दों में बहुत कुछ कह देता है। शब्दों की समझ हो तो आप दो तरह की बात, कन्विन्सिंग तरीके से रख सकते हैं। यहाँ शशि थरूर ने ‘नमामि गंगे योजना’, ‘कुम्भ मेला’, ‘हिन्दुओं की नदी को लेकर आस्था’, ‘संतों समाज को पापी’ कहते हुए, सिर्फ़ एक ट्वीट में सब लपेटकर सरकार की नीतियों और हिन्दुओं के तमाम प्रतीकों पर बहुत कम शब्दों में हमला किया है।

- विज्ञापन -

हो न हो, कल तक इनका यह ट्वीट भी आ जाए कि ‘मेरा वो मतलब नहीं था’, क्योंकि इनके एक्सिडेंटल हिन्दू के परनाती मालिक साल भर में जनेऊ पहनने से लेकर अवतार पुरुष बनकर पोस्टरों पर अवतरित हो रहे हैं। राष्ट्रीय किसान की धर्मपत्नी और कॉन्ग्रेस की अंतिम आस, प्रियंका भी ‘गंगा की बेटी’ बनकर कुम्भ में चार फ़रवरी को आ ही रही हैं। देखना यह है कि शब्दों से लैस थरूर जी ये न ट्वीट कर दें – ‘नंगे संतों के पाप से गंदी गंगा को गंगापुत्री प्रियंका ने छूकर किया निर्मल’।

गंगा की बेटी बनकर थरूर के पार्टी की प्रियंका गाँधी कुम्भ नहाने (यानी पाप धोने) आ सकती हैं

शशि थरूर जी, आपका जो भी मतलब है, वो जनता तय कर देगी। जनता तो नेहरू की ‘कुम्भ में डुबकी’ का सच भी निकाल चुकी है, और आपके अस्थि विसर्जन की तस्वीर भी। बाक़ी का काम सुब्रह्मण्यम स्वामी कर ही रहे हैं, इसलिए पाप और पुण्य की बातें आप तो मत ही कीजिए। 

ट्वीट पर ग़ौर किया जाए तो आप देखेंगे कि एक कॉन्ग्रेसी अनजाने में ही ‘नमामि गंगे’ की सफलता को स्वीकार रहा है। लेकिन ये स्वीकार्यता ऐसे ही नहीं आई है, क्योंकि सामने का पानी निर्मल है, और वो दिख रहा है। इस निर्मल पानी के पीछे साढ़े चार साल की वो मेहनत है, जो सीधे तौर पर कभी दिखी नहीं। पानी को गंदा करने वाले स्रोतों (गंदे, बड़े नाले) को रोकने, उसके कचरे को ट्रीटमेंट प्लांट में ट्रीट करने, रीसायकल्ड और रीचार्ज्ड पानी को गंगा में बहाने तक की प्रक्रिया में काफ़ी समय लगा। 

समय लगा, पर उसका फल सीधा दिख रहा है। जब फल दिख रहा हो, तो ‘मुझे माँ गंगा ने बुलाया है’ वाले मीम बनाने से लेकर ‘राम तेरी गंगा मैली’ का रट लगानेवालों के पास इसपर अटैक करने के लिए कुछ बचा ही नहीं है। अब वो यह नहीं कह सकते कि संतों को गंदगी में नहाना पड़ा रहा है, क्योंकि वो कॉन्ग्रेस के दौर में हुआ करता था।

वो इसलिए हुआ करता था क्योंकि कॉन्ग्रेस, राहुल गाँधी के जनेऊ पहनने और डिस्कवरी ऑफ़ गोत्र करने से पहले, हिन्दुओं को ‘काशी का अस्सी’ की भाषा में वहाँ रखा करती थी जो लिखा नहीं जा सकता। इसलिए कभी नदियों को साफ नहीं किया गया क्योंकि न तो नदियाँ वोट देती हैं, न ही नदी में नहाने वाले इनको वोट देते हैं। कम से कम, गंगा की उपेक्षा से तो यही लगता है कि इन्होंने तय तरीके से यमुना की तरह गंगा को भी मृतप्राय बनाने की पूरी कोशिश की थी। 

इसलिए थरूर साहब ने नैरेटिव बदल दिया है। ये मान लिया है कि गंगा साफ़ हो रही है, और वो नहाने से गंदी हो जाएगी। थरूर ब्रो, ऐसा है कि ‘जा की रही भावना जैसी, प्रभु मूरत देखहिं तिन तैसी’। ये दोहा लैटिन में है, और आपको ज़रूर समझ में आएगा। इसका अंग्रेज़ी इक्वीवेलेंट लाने की कोशिश करें तो एक सकारात्मक कहावत याद आती है कि ‘ब्यूटी लाइज़ इन द आईज़ ऑफ़ बिहोल्डर’। आप तो पढ़े-लिखे आदमी है, इसका नकारात्मक भाव तो मन में समझ ही जाएँगे! 

गंगा पापनाशिनी ज़रूर है, लेकिन ऐसा भी नहीं कि संतों के उतरने से वो गंदी हो जाती है। संत पापी नहीं होते, आप और हम (मैं आप से थोड़ा कम) पापी हैं। जो पापी हैं, चाहे बाबा हों या नेता, वो भुगत रहे हैं, आप भी भुगतेंगे। दूसरी बात, गंगा पापों को हरती है, वो गंदी नहीं होती। कॉन्सेप्ट आपके थोड़े हिले हुए हैं, उसको पेंचकश से ठीक करा लीजिए। गंगा में पाप धोने से हम साफ़ होते हैं, गंगा गंदी नहीं होती।

आगे आपने कुम्भ और संगम को निशाना बनाते हुए लिखा है कि ‘इस संगम में सब नंगे हैं’। क्यूट टाइप की स्माइल वाली प्रोफाइल पिक लगाकर ऊर्दू के मुहावरे में हिन्दू प्रतीक घुसा देने से आपका ज्ञान नहीं, आपकी धूर्तता सामने आती है। संगम में सब नंगे नहीं हैं, संगम साफ़ है, और वहाँ गंगा निर्बाध, अविरल रूप से बह रही है। वो हम्माम नहीं है जहाँ आप राहुल के शरीर का मैल अपने ऊपर लिए मुस्कुरा रहे हैं कि ‘राहुल जी, थोड़ा और छुड़ा कर इधर फेंकिए ना!‘ 

संगम में जाना सौभाग्य है। संगम का तो स्मरण करने भर से व्यक्ति के पाप धुल जाते हैं। लेकिन आपको वो सुविधा नहीं मिलेगी क्योंकि पाप धुलवाने की भी पात्रता होती है। काशी में आने भर से मोक्ष प्राप्त हो जाता है, लेकिन सबको नहीं, उसी को जो उस लायक है। इसलिए, आप लम्बी डींगे मार लीजिए, आपको स्वामी जी समेट लेंगे, और न्यायिक व्यवस्था समेट लेगी। अगर व्यवस्था को आपने मैनेज कर लिया, तो भी हरिद्वार की गंगा आपके पापों का बदला ज़रूर लेगी। 

जब गंगा साफ़ दिख रही है तो हिन्दुओं की आस्था पर आक्रमण किया जा रहा है। अब संत में पाप दिख रहा है। संत जिस धर्म के प्रतीक हैं, उसे ‘नंगा’ कहा जा रहा है। क्योंकि यही धर्म है जहाँ यह कहने और सुनने की गुंजाइश है। वरना मज़हब तो ऐसे भी हैं जो झंडे पर नाम लिखकर, अपनी बातों के अलग कुछ भी कहने, लिखने या बनाने पर तलवार, बम और बंदूक लेकर उतर जाते हैं।

शशि जी ख़ैर मनाइए कि आपने संगम जैसे तीर्थ और हिन्दू धर्म जैसे धर्म के संतों का अपमान किया है। यहाँ यह सब कहने की भी छूट है, ये बात अलग है कि वो हिसाब आपसे ऊपर लिया जाएगा, न कि एके सैंतालीस लेकर यहीं ले लिया जाए, जैसा कि कुछ रिलिजन में प्रैस्क्राइब्ड है! 

अपना इतिहास खँगालिए, अपनी पार्टी का इतिहास खँगालिए। अपने नेताओं के नंगे देह देखिए जब वो गंगा में उतर रहे हों। जब नेता यह सब करते हैं, तब आप पाप की बात करें तो चलता भी है क्योंकि वो आपकी प्रजाति के हैं, तो शायद आप उन्हें बेहतर जानते होंगे। 

पिता की राख प्रवाहित करने के बाद जवाहरलाल नेहरू गंगा से बाहर आते हुए

लेकिन, संतों को, और उनके नाम पर करोड़ों श्रद्धालुओं को आपने ‘नंगा’ और ‘पापी’ कहा है। शब्द की समझ तो आपको है ही, इसलिए आप जान-बूझकर, सोच-समझकर ट्वीट करते होंगे कि कम कहकर कैसे माखौल किया जाए। आपने बहुत कुछ कहने की कोशिश की है जो कि आपकी बेकार मानसिकता, टार से भरे दिमाग और कुत्सित सोच का परिचायक है। 

यही ‘नंगे’ और ‘पापी’ लोग आपकी पार्टी को, आपकी निजी ज़िंदगी को और आपको डिफ़ेंड करनेवालों को जवाब देंगे। ट्विटर पर अंग्रेज़ी लिखकर आप ज्ञान नहीं दे रहे, आप बस दूसरों को नंगा कहते हुए अपना ही नाड़ा कटवा रहे हैं। बाक़ी, ‘गंगा मैया की जय’ कहने से भी आपके पाप तो नहीं धुलनेवाले। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अजीत भारतीhttp://www.ajeetbharti.com
सम्पादक (ऑपइंडिया) | लेखक (बकर पुराण, घर वापसी, There Will Be No Love)

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

क्या सुशांत सिंह को मारने के लिए किया गया स्टन गन का प्रयोग? सुब्रमण्यम स्वामी ने की NIA जाँच की माँग

सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्विटर पर लिखा है, "क्या यह गन अरब सागर के जरिए भारत में आई है? एनआईए को इस मामले की जाँच के साथ जुड़ना चाहिए ताकि सच सबके सामने आ सके।"

‘राम नहीं अल्लाह बोलो, हिन्दू महिलाओं से छेड़छाड़’: भूमिपूजन की खुशी मनाते परिवार ने अमानतुल्लाह के करीबियों पर लगाया आरोप

राम मंदिर भूमिपूजन के बाद अमानतुल्लाह खान के करीबी मिन्नतुल्लाह खान पर आरोप लगा है कि उन्होंने 30-40 लोगों की भीड़ के साथ एक परिवार पर हमला किया। वहीं.....

काशी विश्वनाथ मंदिर-ज्ञानवापी मस्जिद मामला: सुन्नी सेंट्रल वक़्फ बोर्ड को नोटिस जारी, अगली सुनवाई 1 सितंबर को तय

अयोध्या में रामजन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के शिलान्यास के बाद से ही काशी और मथुरा का मुद्दा भी गरमाता नजर आ रहा है। लोगों की निगाहें अब काशी विश्वनाथ मंदिर के फैसले पर टिकी हुई है।

बेगूसराय में नाबालिग लड़की के अपहरण को पुलिस ने बताया प्रेम प्रसंग: न आरोपित मुस्लिमों से पूछताछ और न POCSO में केस दर्ज

बेगूसराय के डीएसपी ने लड़की के पिता की बातों को बेतुका और मनगढ़ंत करार दिया है। पिता ने आरोप लगाया कि पुलिस उसकी तलाश के लिए कुछ नहीं कर रही है।

‘जल्दी अपलोड कर’ – बेंगलुरु में मुस्लिमों के मंदिर बचाने का ड्रामा अंत के 5 सेकंड में फुस्स, नए वीडियो से खुली पोल

राजदीप सरदेसाई ने भी मुसलमानों को 'मानव श्रृंखला' कहा। आगजनी करने वालों का कोई धर्म नहीं, मगर मंदिर के लिए मानव श्रृंखला बनाने वाले...

अब्दुल अब्दुल अब्दुल… सौ में लगा धागा, अब्दुल आग लगा कर भागा

अब्दुल आग लगाएगा, फिर ह्यूमन चेन बनाएगा, फिर फोटो भी खिंचवाएगा, फिर अच्छा अब्दुल कहलाएगा! पर अब्दुल भाई ये तो बोलो, अपने दिल के राज तो खोलो, मंदिर को बचा रहे थे किस से? जलाने वाले थे किस मजहब के!

प्रचलित ख़बरें

पैगम्बर मुहम्मद पर FB पोस्ट, दलित कॉन्ग्रेस MLA के घर पर हमला: 1000+ मुस्लिम भीड़, बेंगलुरु में दंगे व आगजनी

बेंगलुरु में 1000 से भी अधिक की मुस्लिम भीड़ ने स्थानीय विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के घर को घेर लिया और तोड़फोड़ शुरू कर दी।

गोधरा पर मुस्लिम भीड़ को क्लिन चिट, घुटनों को सेक्स में समेट वाजपेयी का मजाक: एक राहत इंदौरी यह भी

"रंग चेहरे का ज़र्द कैसा है, आईना गर्द-गर्द कैसा है, काम घुटनों से जब लिया ही नहीं...फिर ये घुटनों में दर्द कैसा है" - राहत इंदौरी ने यह...

पैगंबर मुहम्मद पर खबर, भड़के दंगे और 17 लोगों की मौत: घटना भारत की, जब दो मीडिया हाउस पर किया गया अटैक

वो 5 मौके, जब पैगंबर मुहम्मद के नाम पर इस्लामी कट्टरता का भयावह चेहरा देखने को मिला। मीडिया हाउस पर हमला भारत में हुआ था, लोग भूल गए होंगे!

दंगाइयों के संपत्ति से की जाएगी नुकसान की भरपाई: कर्नाटक के गृहमंत्री का ऐलान, तेजस्वी सूर्या ने योगी सरकार की तर्ज पर की थी...

बसवराज बोम्मई ने एक महत्वपूर्ण घोषणा करते हुए कहा कि सार्वजनिक संपत्ति और वाहनों को नुकसान की भरपाई क्षति पहुँचाने वाले दंगाइयों को करना होगा।

महेश भट्ट की ‘सड़क-2’ में किया जाएगा हिन्दुओं को बदनाम: आश्रम के साधु के ‘असली चेहरे’ को एक्सपोज करेगी आलिया

21 साल बाद निर्देशन में लौट रहे महेश भट्ट की फिल्म सड़क-2 में एक साधु को बुरा दिखाया जाएगा, आलिया द्वारा उसके 'काले कृत्यों' का खुलासा...

पैगम्बर मुहम्मद पर FB पोस्ट लिखने वाला हुआ अरेस्ट: बेंगलुरु में मुस्लिम भीड़ द्वारा हिंसा में 150 दंगाई गिरफ्तार

बेंगलुरु में मुस्लिम भीड़ द्वारा दलित विधायक के घर पर हमले, दंगे, आगजनी और पत्थरबाजी के मामले में CM येदियुरप्पा ने कड़ा रुख अख्तियार किया।

क्या सुशांत सिंह को मारने के लिए किया गया स्टन गन का प्रयोग? सुब्रमण्यम स्वामी ने की NIA जाँच की माँग

सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्विटर पर लिखा है, "क्या यह गन अरब सागर के जरिए भारत में आई है? एनआईए को इस मामले की जाँच के साथ जुड़ना चाहिए ताकि सच सबके सामने आ सके।"

‘दंगे-हिंदुओं को निशाना न बनाए मुसलमान, BJP मुसलमानों के लिए समस्याएँ खड़ी करने के लिए कर सकती है इस्तेमाल’: अभिसार

अभिसार शर्मा ने दावा किया कि मुसलमानों को दंगा नहीं करना चाहिए क्योंकि 'भाजपा प्रचार तंत्र' अब इस मुद्दे का इस्तेमाल कर उन्हें निशाना बनाएगी और उनके लिए समस्याएँ खड़ी करेंगी।

LOC पर मौजूद हैं लश्कर-जैश-अल बद्र के आतंकियों के कई शिविर: खुफिया एजेंसी ने किया अलर्ट

लश्कर और जैश के साथ ही अल बद्र जैसे आतंकी संगठनों से जुड़े दर्जनों आतंकियों का LOC पर मौजूद लॉन्च पैड और शिविरों में होने का पता चला है।

सुशांत केस: शेखर सुमन ने की रिया की गिरफ्तारी की माँग, बोले- अब रिहा नहीं हो सकती रिया

एक्टर शेखर सोशल मीडिया पर लगातार सुशांत को न्याय दिलाने की मुहिम चला रहे है शेखर सुमन ने एक बार फिर रिया के खिलाफ आवाज बुलंद की है। शेखर सुमन ने रिया चक्रवर्ती की गिरफ्तारी की माँग करते हुए ट्वीट किया है।

‘गर्दन उड़ाओ उस मादर** की’: कमलेश तिवारी की ही तरह नवीन को भी मिल रही जान से मारने की धमकी

फेसबुक-ट्विटर नवीन के खिलाफ किए गए पोस्ट और टिप्पणियों से भरे हुए हैं। 'शांतिपूर्ण समुदाय' के लोग उत्तेजक और आक्रामक भाषा में उनके खिलाफ आवाज उठा रहे हैं।

बेंगलुरु दंगों में भारी हिंसा पर उतारू मुस्लिम भीड़ के कई भयावह वीडियो इंटरनेट पर वायरल

बेंगलुरु दंगों के वीडियो में आक्रोशित भीड़ को 'अल्लाह-हो-अकबर' और 'नारा-ए-तकबीर' जैसे इस्लामी नारे लगाते देखा जा सकता है।

SDPI ने दंगों के लिए पुलिस को ठहराया दोषी: पोस्ट करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की देरी ने मुस्लिम भीड़ को किया नाराज

SDPI द्वारा बेंगलुरु की सड़कों पर दंगे भड़काने के लिए हिंसक मुस्लिम भीड़ का नेतृत्व करने के एक दिन बाद इस्लामी संगठन ने भयावह दंगों के लिए बेंगलुरु पुलिस को दोषी ठहराया है।

राम मंदिर ट्रस्ट ने दान के के लिए जारी की एकाउंट नम्बर: यथासम्भव दान की अपील, ताकि भव्य मंदिर का सपना हो साकार

ट्रस्ट ने अकाउंट नंबर और अन्य जानकारियाँ शेयर कर लोगों ने यथासंभव व यथाशक्ति दान करने की अपील की है, जिससे कि भव्य मंदिर का सपना साकार हो सके।

‘राम नहीं अल्लाह बोलो, हिन्दू महिलाओं से छेड़छाड़’: भूमिपूजन की खुशी मनाते परिवार ने अमानतुल्लाह के करीबियों पर लगाया आरोप

राम मंदिर भूमिपूजन के बाद अमानतुल्लाह खान के करीबी मिन्नतुल्लाह खान पर आरोप लगा है कि उन्होंने 30-40 लोगों की भीड़ के साथ एक परिवार पर हमला किया। वहीं.....

महेश भट्ट की सड़क-2 के ट्रेलर ने बनाया डिसलाइक का नया रिकॉर्ड: केवल यूट्यूब पर 1.3 मिलियन ने कुछ ही घंटो में किया ख़ारिज

जहाँ इस ट्रेलर को 1.3 मिलियन लोगों ने नापसंद (डिसलाइक) किया है। वहीं 1 लाख से भी कम लोगों ने इसे पसंद (लाइक) किया है। ट्रेलर को लाइक्स से ज्यादा डिस्लाइक्स मिल रहे हैं।

हमसे जुड़ें

246,500FansLike
64,696FollowersFollow
297,000SubscribersSubscribe
Advertisements