Tuesday, October 4, 2022
Homeदेश-समाजरोहिणी कोर्ट में जज के सामने गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की गोली मारकर हत्या, वकील...

रोहिणी कोर्ट में जज के सामने गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की गोली मारकर हत्या, वकील बन घुसे दोनों हमलावर भी ढेर: देखें वीडियो

रोहिणी कोर्ट रूम 207 में एनडीपीएस के एक मामले में जितेंद्र गोगी को पेशी के लिए लाया गया था। कोर्ट में मामले की सुनवाई चल ही रही थी कि वकील की पोशाक पहने दो हमलावरों ने गोगी पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि गोगी को तीन से चार गोलियाँ लगी और उसकी अस्पताल ले जाते हुए मौत हो गई।

राजधानी दिल्ली में आज दिनदहाड़े रोहिणी कोर्ट परिसर में फायरिंग से हड़कंप मच गया। इससे पहले कि कोई कुछ समझ पाता कि हुआ क्या है। कोर्ट में दो बदमाशोें ने अंधाधुंध फायरिंग कर कुख्यात बदमाश जितेंद्र मान उर्फ गोगी की हत्या कर दी। वारदात के समय उसे कोर्ट रूम में पेशी के लिए लाया गया था। जबावी कार्रवाई में दिल्ली पुलिस ने भी गोली चलाई। जिसमें दोनों हमलावरों की भी मौके पर ही मौत हो गई। रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने तीनों शवाें को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की जाँच कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, रोहिणी कोर्ट रूम 207 में एनडीपीएस के एक मामले में जितेंद्र गोगी को पेशी के लिए लाया गया था। कोर्ट में मामले की सुनवाई चल ही रही थी कि वकील की पोशाक पहने दो हमलावरों ने गोगी पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि गोगी को तीन से चार गोलियाँ लगी और उसकी अस्पताल ले जाते हुए मौत हो गई। जबकि जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी दोनों हमलावरों पर ताबड़तोड़ गोली चलाई। जिसमें उन दोनों हमलावरों की भी गोली लगने से मौके पर ही मौत हो गई।

पुलिस के सूत्रों के हवाले से यह दावा किया जा रहा है कि गोगी गैंग के सरगना जितेंद्र गोगी पर यह हमला कभी उसका दोस्त रहा और अब उसका धुर विरोधी सुनील मान उर्फ टिल्लू ताजपुरिया गैंग के दो हमलावरों ने किया है। टिल्लू गैंग का गोगी के साथ दुश्मनी बहुत पुरानी बताई जाती है।

बता दें कि जितेंद्र गोगी की पेशी एएसजे गगन दीप सिंह के कोर्ट में हो रही थी तभी कोर्ट रूम में पेशी के दौरान गैंगस्‍टर पर हमला होने से हड़कंप मच गया। इस पर दिल्‍ली पुलिस के आयुक्‍त राकेश अस्‍थाना ने कहा कि यह गैंगवार नहीं है बल्कि हमला है। जबकि पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए दोनों हमलावरों को ढेर कर दिया है। हमलावरों को ढेर करने वाले प्रत्येक पुलिसकर्मियों को 50-50 हजार रुपए बतौर इनाम देने की घोषणा भी पुलिस आयुक्त के द्वारा की गई है।

रोहिणी कोर्ट बार एसोसिएशन के पूर्व सचिव सत्यनारायण शर्मा ने मीडिया को बताया कि वकील की पोशाक पहनकर आए बदमाशों ने कोर्ट रूम में जज के सामने गोली मारी। इतिहास में शायद पहली ऐसी घटना है। इस वारदात के बाद कोर्ट रूम में वकील की ड्रेस में बदमाशों के पहुँचने से सुरक्षा व्‍यवस्‍था पर सवाल भी उठ रहे हैं।

वहीं पुलिस ने भी बदमाशों के मारे जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि गोगी को मारने आए राहुल फफूंदा और उसके साथी को सुरक्षा बल के जवानों ने मार गिराया। गोगी समेत कुल तीन बदमाश मरे हैं। कहा जा रहा है कि एक महिला वकील के पैर में गोली लगी है। घटना के बाद पुलिस ने रोहिणी कोर्ट में सुरक्षा बढ़ा दी है। फिलहाल, कोर्ट के अंदर किसी को नहीं जाने दिया जा रहा है।

इस वारदात के बाद अब कयास लगाए जा रहे हैं कि दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में आज जो वारदात हुई है, वो दिल्ली की किसी भी निचली अदालत में हो सकती है। साकेत कोर्ट में भी सुरक्षा राम भरोसे होने का दावा किया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट में एक वकील ने बताया कि साकेत में भी न तो मेटल डिटेक्टर ठीक से काम करता है और न ही प्रवेश के समय वकीलों या अन्य किसी की कोई जाँच की जाती है। जब सुप्रीम कोर्ट में वकीलों की जाँच होती है, हाई कोर्ट में बिना आइ कार्ड दिखाए वकील कोर्ट परिसर में नहीं जा सकते तो निचली अदालतों में भी सुरक्षा की ऐसी ही कड़ी व्यवस्था क्यों नहीं की जाती। पुलिस को वकीलों के साथ समन्वय के साथ कोर्ट परिसर में सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करनी चाहिए।

गौरतलब है कि गोगी रोहिणी जेल संख्या- 2 के हाई रिस्क वार्ड में बंद था। गोगी को स्पेशल सेल ने पिछले साल मार्च में बहुत मुश्किल से गुरुग्राम से पकड़ा था। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, करीब 1 साल पहले दिल्ली पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर कुख्यात गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की गिरफ्तारी के लिए गुरुग्राम के सेक्टर-83 में छापा मारा था। इस दौरान गोगी के साथ उसके गैंग के तीन साथी कुलदीप मान उर्फ फज्जा, रोहित उर्फ मोई और कपिल उर्फ गौरव भी फ्लैट में थे। पुलिस से घिरने के बाद जितेंद्र गोगी ने फोन पर वीडियो बनाकर वायरल कर दिया था। उसका आरोप था कि पुलिस उसका एनकाउंटर कर देगी और वो सरेंडर करना चाहता है।

दिल्ली के अलीपुर के रहने वाले गैंगस्टर जितेंद्र गोगी पर गिरफ्तारी के समय लगभग 8 लाख रुपए का इनाम घोषित था। गोगी बेहद कुख्यात बदमाश था, जिस पर हत्या, जबरन उगाही और पुलिस पर हमला करने जैसे कई मामले दर्ज था। कुछ महीने पहले जितेंद्र गोगी के खास माने जाने वाले कुलदीप मान उर्फ फज्जा का दिल्‍ली पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया था। यह एनकाउंटर भी रोहिणी के ही एक फ्लैट में हुआ था।

रिपोर्ट में पुलिस सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि टिल्लू ताजपुरिया और जितेंद्र गोगी दोनों ही दिल्ली यूनिवर्सिटी के श्रद्धानंद कॉलेज के स्टूडेंट थे। जबकि कॉलेज के समय से ही दोनों के बीच दुश्मनी शुरू हो गई। यही नहीं, गोगी गैंग और टिल्लू ताजपुरिया गैंग के बीच पिछले 3-4 वर्षों में 20 से ज्यादा गैंगवार हुई हैं, जिसमें कई लोगों की जान चली गई। इससे पहले दिल्ली के बुराड़ी इलाके में भी इन दोनों गैंग के बीच फायरिंग हुई थी, जिसमें तीन लोगों की जान चली गई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

एक मिनट में दागेगा 750 गोलियाँ, ऊँचाई वाले स्थानों पर दुश्मन की खैर नहीं: जानें 5800 किलो के स्वदेशी ‘प्रचंड’ के बारे में, जो...

'प्रचंड' चॉपर दुश्मनों के लड़ाकू विमानों को ध्वस्त करने, आतंकवाद विरोधी अभियानों को अंजाम देने, कॉम्बैट सर्च और बचाव कार्यों में सक्षम हैं।

कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने भारत आए चीतों को बताया लंपी वायरस का कारण, नामीबिया को बताया ‘नाइजीरिया’: BJP नेता ने कहा – इनको...

महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा है कि देश में फैले हुए लंपी वायरस के लिए 'नाइजीरिया' से आए चीते जिम्मेदार हैं। हुई जगहँसाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
226,129FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe