Tuesday, September 21, 2021
Homeदेश-समाजSII ने तय की कोविशील्ड की कीमत: राज्य और निजी अस्पताल खरीद सकेंगे उत्पादन...

SII ने तय की कोविशील्ड की कीमत: राज्य और निजी अस्पताल खरीद सकेंगे उत्पादन का 50% हिस्सा

अपने मीडिया स्टेटमेंट में एसआईआई ने भारत सरकार द्वारा वैक्सीनेशन कार्यक्रम के विस्तार और वैक्सीन निर्माताओं के द्वारा 1 मई 2021 से पहले राज्यों और बाजार में उपलब्ध वैक्सीन की कीमतें तय करने के सरकार के आदेश के बाद यह रेट लिस्ट जारी की है।

भारत की प्रमुख वैक्सीन निर्माता कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने Covid-19 वैक्सीन कोविशील्ड की कीमत तय की है। 1 मई से शुरू हो रहे वैक्सीनेशन के अगले चरण के लिए यह कीमत राज्य सरकार और निजी अस्पतालों के लिए तय की गई है। एसआईआई के अनुसार राज्य की सरकारों के लिए यह कीमत 400 रुपए प्रति डोज होगी एवं निजी अस्पतालों के लिए 600 रुपए प्रति डोज के हिसाब से चुकाने होंगे।

अपने मीडिया स्टेटमेंट में एसआईआई ने भारत सरकार द्वारा वैक्सीनेशन कार्यक्रम के विस्तार और वैक्सीन निर्माताओं के द्वारा 1 मई 2021 से पहले राज्यों और बाजार में उपलब्ध वैक्सीन की कीमतें तय करने के सरकार के आदेश के बाद यह रेट लिस्ट जारी की है।

कंपनी ने अपने स्टेटमेंट में कहा है कि कुल उत्पादन का 50% हिस्सा भारत सरकार के वैक्सीनेशन कार्यक्रम के लिए समर्पित होगा जबकि शेष 50% राज्य सरकारों और निजी अस्पतालों की आपूर्ति के लिए होगा। कंपनी ने यह स्टेटमेंट केंद्र सरकार की वैक्सीन खरीद की गाइडलाइन के बाद जारी किया है।

एसआईआई ने यह भी बताया कि वर्तमान में वैश्विक स्तर पर उपलब्ध वैक्सीनों की तुलना में कोविशील्ड की कीमतों को कम रखने का प्रयास किया गया है। कंपनी के अनुसार अमेरिका की वैक्सीन की कीमत 1500 रुपए से अधिक है जबकि बाजार में रूस और चीन की वैक्सीन की कीमत 750 रुपए से अधिक है।

एसआईआई ने अपने मीडिया स्टेटमेंट में अन्य कॉर्पोरेट संस्थानों और निजी ईकाईयों को राज्य और निजी स्वास्थ्य क्षेत्रों के माध्यम से वैक्सीन प्राप्त करने की सलाह दी है क्योंकि वर्तमान चुनौतियों को देखते हुए वैक्सीन को सभी के लिए उपलब्ध कराना फिलहाल मुश्किल है।

एसआईआई द्वारा कोविशील्ड की कीमतें तय कर देने का बाद राज्य सरकारें और निजी अस्पताल इन्हीं कीमतों के आधार पर वैक्सीन का अंतिम मूल्य निर्धारित कर सकेंगे। हालाँकि उत्तर प्रदेश और असम जैसे राज्य अपने निवासियों को मुफ्त में वैक्सीन उपलब्ध कराने का निर्णय ले चुके हैं।

भारत सरकार का वैक्सीनेशन कार्यक्रम का तीसरा चरण :

19 अप्रैल को भारत सरकार ने कोविड-19 के वैक्सीनेशन के तीसरे चरण की घोषणा की। इसके अनुसार 1 मई 2021 से 18 वर्ष से अधिक की आयु के सभी नागरिक वैक्सीन का डोज ले पाएँगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में वैक्सीनेशन कार्यक्रम से संबंधित कई नीतियों की समीक्षा हुई जिसमें यह निर्णय लिया गया कि अब राज्य, वैक्सीन निर्माताओं से सीधे वैक्सीन खरीद सकते हैं। केंद्र सरकार ने वैक्सीन निर्माताओं को अपने उत्पादन का 50% राज्य और अन्य निजी इकाईयों को प्रदान करने की छूट भी प्रदान की।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अमित शाह के मंत्रालय ने कहा- हिंदू धर्म को खतरा काल्पनिक’: कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता को RTI एक्टिविस्ट बता TOI ने किया गुमराह

TOI ने एक खबर चलाई, जिसका शीर्षक था - 'RTI: हिन्दू धर्म को खतरा 'काल्पनिक' है - केंद्रीय गृह मंत्रालय' ने कहा'। जानिए इसकी सच्चाई क्या है।

NDTV से रवीश कुमार का इस्तीफा, जहाँ जा रहे… वहाँ चलेगा फॉर्च्यून कड़ुआ तेल का विज्ञापन

रवीश कुमार NDTV से इस्तीफा दे चुके हैं। सोर्स बता रहे हैं कि देने वाले हैं। मैं मीडिया में हूँ, मुझे सोर्स से भी ज्यादा भीतर तक की खबर है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,490FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe