Saturday, September 18, 2021
Homeदेश-समाजकोरोना वैक्सीन कीमतों पर मची रार के बीच SII ने घटाया कोविशील्ड टीके का...

कोरोना वैक्सीन कीमतों पर मची रार के बीच SII ने घटाया कोविशील्ड टीके का दाम, जानें कितनी हुई कीमत

''सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की तरफ से राज्य को दी जाने वाली वैक्सीन की कीमत 400 रुपए से घटाकर 300 रुपए प्रति डोज करता हूँ और यह तत्काल प्रभाव से लागू होगा। इससे राज्य के हजारों करोड़ रुपए की बचत होगी। इससे और ज्यादा वैक्सीनेशन हो पाएगा और अनगिनत जिंदगियाँ बचाई जा सकेंगी।''

सीरम इंस्टीट्यूट ने राज्यों को दी जाने वाली कोविशील्ड वैक्सीन की कीमत 100 रुपए घटा दी है। पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने अपने कोविड-19 टीके ‘कोविशील्ड’ की राज्य सरकारों के लिए कीमत 400 रुपए प्रति खुराक तय की थी। अब इसे 300 रुपए प्रति खुराक कर दिया गया है। खुद एसआईआई के सीईओ अदार पूनावाला ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है।

उन्होंने कहा, ”सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की तरफ से राज्य को दी जाने वाली वैक्सीन की कीमत 400 रुपए से घटाकर 300 रुपए प्रति डोज करता हूँ और यह तत्काल प्रभाव से लागू होगा। इससे राज्य के हजारों करोड़ रुपए की बचत होगी। इससे और ज्यादा वैक्सीनेशन हो पाएगा और अनगिनत जिंदगियाँ बचाई जा सकेंगी।”

दरअसल, 1 मई से देश में कोरोना वैक्सीनेशन का अगला चरण शुरू हो रहा है। इसके तहत 18 साल से ऊपर के लोग भी कोरोना से बचाव की वैक्सीन लगवा सकेंगे जिसके लिए आज से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन भी शुरू हो चुका है। इस चरण के लिए केंद्र ने राज्यों और प्राइवेट अस्पतालों को सीधे वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों से वैक्सीन खरीदने की छूट दी है। सीरम इंस्टिट्यूट ने ऐलान किया था कि वह राज्यों को 400 रुपए प्रति डोज के हिसाब से कोविशील्ड की सप्लाई करेगी। प्राइवेट अस्पतालों के लिए यह कीमत 600 रुपए प्रति डोज है। अब राज्यों के लिए यह कीमत 400 रुपए से घटकर 300 रुपए प्रति डोज हो गई है।

कोविशील्ड की कीमत पर सवाल भी उठे थे। सोशल मीडिया पर तमाम यूजर इस बात को उठा रहे थे कि एस्ट्राजेनेका की जिस वैक्सीन को सीरम ने बनाया है, वह भारत में सबसे महँगी क्यों है जबकि अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देशों में इसकी कीमत भारत के मुकाबले आधे या उससे भी कम रखी गई है। इसके अलावा, केंद्र सरकार ने भी सीरम और भारत बायोटेक से वैक्सीनों की कीमत घटाने की अपील की थी। अब सीरम ने राज्यों के लिए कोविशील्ड की कीमत घटा दी है। हालाँकि, प्राइवेट अस्पतालों को यह 600 रुपए प्रति डोज के हिसाब से ही मिलेगी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फर्जी प्रेम विवाह, 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का यौन शोषण व उत्पीड़न’: केरल के चर्च ने कहा – ‘योजना बना कर हो रहा...

केरल के थमारसेरी सूबा के कैटेसिस विभाग ने आरोप लगाया है कि 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का फर्जी प्रेम विवाह के नाम पर यौन शोषण किया गया।

डॉ जुमाना ने किया 9 बच्चियों का खतना, सभी 7 साल की: चीखती-रोती बच्चियों का हाथ पकड़ लेते थे डॉ फखरुद्दीन व बीवी फरीदा

अमेरिका में मुस्लिम डॉक्टर ने 9 नाबालिग बच्चियों का खतना किया। सभी की उम्र 7 साल थी। 30 से अधिक देशों में है गैरकानूनी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,951FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe