Thursday, January 27, 2022
Homeदेश-समाजगोधरा में कंटेनमेंट जोन सील करने पहुँची पुलिस पर पथराव, असम की मस्जिद में...

गोधरा में कंटेनमेंट जोन सील करने पहुँची पुलिस पर पथराव, असम की मस्जिद में सामूहिक नमाज रुकवाने पर हमला

गोधरा के पंचमहल में पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच उस समय झड़प हो गई जब पुलिस कंटेनमेंट जोन इलाके को सील करने पहुँची थी। इस दौरान स्थानीय लोगों ने पुलिस पर जमकर पथराव किया। हालात काबू करने के लिए पुलिस को आँसू गैस का प्रयोग करना पड़ा।

लॉकडाउन के बीच पुलिस पर हमले का सिलसिला जारी है। गुजरात के गोधरा में कंटेनमेंट जोन सील करने पहुॅंची पुलिस पर पथराव किया गया। वहीं असम की एक मस्जिद में पुलिस ने जब लोगों को सामूहिक रूप से नमाज अदा करने से रोका तो उन्होंने हमला कर दिया। हमले में पॉंच पुलिसकर्मी घायल हो गए, जबकि गोधरा में एक अधिकारी के घायल होने की सूचना है।

जानकारी के मुताबिक असम के लखीमपुर जिले के दक्खिन पंडोवा गाँव की एक मस्जिद में गुरुवार रात को कुछ लोग लॉकडाउन का उल्लंघन कर नमाज अदा करने के लिए एकत्र हो गए। जानकारी मिलने पर नाओबीचा पुलिस चौकी के प्रभारी बिस्वजीत नाथ एक पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुँचे।

पुलिस ने मस्जिद के अंदर इमाम सहित 12 लोगों को मौके पर पाया। पुलिस ने सभी को लॉकडाउन का हवाला देते हुए इकट्ठा न होने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की बात कही। पुलिस अधिकारी के मुताबिक मस्जिद में पहुँचने से पहले इलाके में खुल रहे एक बाजार को पुलिस की टीम ने तत्काल प्रभाव से बंद करा दिया। इसके बाद जैसे ही पुलिस की टीम मस्जिद से निकली उस पर पथराव शुरू हो गया। इसमें ग्राम प्रधान सहित चार पुलिसकर्मी घायल हो गए। पथराव में पुलिस का वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गया।

इसके बाद गाँव में भारी पुलिस तैनात कर दी गई है। वहीं पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए मस्जिद के इमाम सहित 12 लोगों के खिलाफ लखीमपुर पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज की है। साथ ही पुलिस अब मामले की जाँच में जुट गई है। बताया जा रहा है कि पुलिस को मस्जिद में नमाजियों के जुटने की जानकारी गाँव के प्रधान ने ही दी थी।

लखीमपुर के पुलिस अधीक्षक राजवीर ने पीटीआइ से कहा, “ऐसे समय में जब पूरा राज्य लॉकडाउन मानदंडों का पालन कर रहा है, ऐसी घटना अवांछित है और हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं। हम दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे।” एक अन्य अधिकारी ने कहा, “ग्राम प्रधान अब्दुल जलील फ़ारशी और ग्राम रक्षा दल ने उन्हें मस्जिद का दौरा न करने के लिए कई बार कहा और उनसे घरों में नमाज़ अदा करने को कहा। लेकिन किसी ने उनकी बात नहीं सुनी और उन्हें अपमानित करने के साथ-साथ धमकी भी दी गई।”

स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक असम में कोरोना से एक की मौत है। अब तक राज्य में संक्रमण के 42 मामले सामने आए हैं। 29 लोग अस्पतालों से ठीक होकर अपने घरों को जा चुके हैं।

वहीं गुजरात के गोधरा के पंचमहल में पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच उस समय झड़प हो गई जब पुलिस कंटेनमेंट जोन इलाके को सील करने पहुँची थी। इस दौरान स्थानीय लोगों ने पुलिस पर जमकर पथराव किया। हालात काबू करने के लिए पुलिस को आँसू गैस का प्रयोग करना पड़ा। पथराव में पुलिस निरीक्षक एमपी पांड्या घायल हो गए, उनके सिर में हल्की चोट आई है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

TMC सांसद जवाहर सरकार ने ‘पद्म विभूषण’ अवॉर्ड के लिए इस अभिनेता के नाम पर फैलाया झूठ: यूजर्स बोले- 2015 में ही दे चुकी...

TMC सांसद और प्रसार भारती के पूर्व सीईओ जवाहर सरकार द्वारा भ्रामक ट्वीट करने के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने उनकी क्लास लगा दी।

‘योगी जैसा मुख्यमंत्री मुलायम सिंह और अखिलेश भी नहीं रहे’: सपा के खिलाफ प्रचार पर बोलीं अपर्णा यादव- ‘पार्टी जो कहेगी करूँगी’

अपर्णा यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें मेरा समाजसेवा का काम दिखा था, जबकि अखिलेश यह नहीं देख पाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,876FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe