Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाजSSR नहीं कर सकते आत्महत्या, उनका मर्डर हुआ: सुशांत की बहन ने 'बॉलीवुड नेक्सस'...

SSR नहीं कर सकते आत्महत्या, उनका मर्डर हुआ: सुशांत की बहन ने ‘बॉलीवुड नेक्सस’ पर लगाए आरोप, कहा- रिया को पीछे लगाया गया था

रिया चक्रवर्ती का नाम चार्जशीट में आने के बाद सुशांत सिंह राजपूत की बहन प्रियंका राजपूत ने मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि दो साल पहले की घटना ने उन लोगों की जिंदगी को तबाह कर दिया है।

सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत के दो साल बाद अब दोबारा से उनके लिए न्याय की माँग उठने लगी है। हाल में रिया चक्रवर्ती का नाम एनसीबी की चार्जशीट में दायर होने के बाद सुशांत की बहन प्रियंका राजपूत मीडिया से मुखातिब हुईं और दावा किया कि उनका भाई आत्महत्या नहीं कर सकता था। वह जब तक जिंदा हैं तब तक इस केस को बंद नहीं होने देंगी।

इंडिया न्यूज से बातचीत में उन्होंने कहा कि सुशांत को न्याय दिलाने की जो मुहीम चल रही है उसे वो अपने जिंदा रहने तक रुकने नहीं देंगी। उनके मुताबिक, सुशांत का दुनिया से जाना सामान्य नहीं था। ये एक बहुत बड़ी साजिश का नतीजा है जो कि एक नेक्सस ने रची और उसका नाम बॉलीवुड है।

प्रियंका ने बताया कि जब सुशांत सफल होने लगे तो बॉलीवुड के नेक्सस को अपने वर्चस्व का डर सताने लगा। उन्होंने उसे अपने पाले में करने की कोशिश भी की थी। हालाँकि जब ऐसा नहीं हुआ तो सुशांत का करियर समाप्त करने की कोशिश की गई। प्रियंका के मुताबिक, उन लोगों (नेक्सस) को असुरक्षित महसूस होने लगा था कि जो काम वो लोग नेक्सस में रहकर नहीं कर पा रहे वो बिहार से आया कोई लड़का अकेले कैसे कर पा रहा है। उनका मकसद यही होता है कि ऐसा टैलेंट या तो उनके पास आए वरना इंडस्ट्री से जाए।

उन्होंने सुशांत के लिए ड्रगी जैसे शब्द प्रयोग किए जाने पर पूरे ब़ॉलीवुड नेक्सस को लताड़ लगाई और कहा कि आज बोला जा रहा है कि सुशांत ड्रग्स लेते थे जबकि रिया चक्रवर्ती की चैट से ये बात सामने आ चुकी है कि 35 आरोपित किस तरह से ड्रग सिंडिकेट से जुड़े थे। क्या ऐसे आरोपितों की बात से माना जाएगा सुशांत नशेड़ी थे।

प्रियंका ने इस बात पर भी नाराजगी जताई कि उनके भाई को आज ड्रग लेने वाला कहा जा रहा है और पहले कहा जा रहा था कि वो डिप्रेशन में हैं। उन्होंने कहा कि ये वो बातें हैं जो कभी नहीं भूलेंगी। सुशांत को उनकी जगह से हटाकर, उन्हें मारकर आज उनके बारे में बातें हो रही हैं।

वह पूछती हैं, “लोगों को क्या लगता है कि सुशांत ने सुसाइड की? ये बात मैं केस से जुड़े हर व्यक्ति से कहना चाहती हूँ कि सुशांत सुसाइड नहीं कर सकते थे… मैं ये केस आखिरी दम तक लड़ती रहूँगी ये पता लगाने के लिए कि उस दिन हुआ क्या था… अगर ये सुसाइड थी तो जाँच एजेंसियाँ हमें बताएँ कि उस दिन हुआ क्या था।”

उन्होंने दावा किया कि सुशांत की बॉडी से बिलकुल कोई ऐसे संकेत नहीं मिले कि लगे उन्होंने आत्महत्या की थी। प्रियंका बताती हैं कि वो खुद क्रिमिनल वकील हैं और उन्होंने केस देखे हैं जिनमें आत्महत्या के बाद शरीर से पता चल जाता है कि ये आत्महत्या है। उनके अनुसार उनके भाई के शव पर ऐसे कोई भी निशान नहीं थे।

इतना ही नहीं जब 8-9 दिन के बाद पुलिस ने उन्हें सुशांत के घर में जाने की इजाजत दी तो उन्होंने देखा कि जो पंखा है और जो बेड है, उसकी दूरी इतनी नहीं है कि सुशांत वहाँ से लटक सकें। उन्होंने कहा कि बेड और पंखे के बीच जो गैप था वो सुशांत की ऊँचाई से भी कम था। प्रियंका ने फौरन सीबीआई को कहा कि ये आत्महत्या नहीं हो सकती। मगर फिर भी कोई जाँच इस एंगल पर नहीं हुई।

प्रियंका ने इंटरव्यू के दौरान जानकारी दी कि उन्होंने 3 दिन पहले ही दोबारा सीबीआई को पत्र लिखकर कहा है कि आखिर कब वो लोग उनका दोबारा से बयान लेंगे। प्रियंका ने बताया कि उन्हें 2019 से संदेह था कि उनके भाई के साथ कुछ गलत होने वाला है क्योंकि उस समय रिया चक्रवर्ती सुशांत की जिंदगी में आ चुकी थीं और उसने मात्र छह दिन में दोनों भाई-बहन में विवाद पैदा कर दिया था। प्रियंका मानती हैं कि रिया को सुशांत के पास जानबूझकर भेजा गया था। नेक्सस को डर सताने लगा था कि एक बाहरी लड़का करियर में इतना अच्छा कर रहा है ऊपर से उसकी देख रेख करने के लिए उसकी बहन भी साथ आ गई है।

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत केस में नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने हाल में चार्जशीट का ड्राफ्ट कोर्ट में दाखिल किया। इसमें रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शौविक समेत 35 लोगों पर 38 आरोप लगाए गए। रिया के ऊपर सुशांत को ड्रग्स मुहैया कराने का, उन्हें ड्रग के लिए पागल बनाने का और ड्रग्स खरीदने के लिए उनके (सुशांत के) बैंक अकॉउंट का प्रयोग करने का आरोप लगा है। प्रियंका ने इंटरव्यू में इस बात पर भी सवाल उठाए कि उनके भाई के लिए ‘एक्ट्रीम ड्रग एडिक्शन’ जैसे शब्द क्यों इस्तेमाल हो रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -