Saturday, May 25, 2024
Homeदेश-समाजCSK के निलंबित टीम डॉक्टर ने माँगी माफी, बलिदानी सैनिकों पर किया था घटिया...

CSK के निलंबित टीम डॉक्टर ने माँगी माफी, बलिदानी सैनिकों पर किया था घटिया ट्वीट

‘‘मुझे खेद है कि मेरे ट्वीट को पढ़ने वाले लोगों को मैंने पीड़ा पहुँचाई और नाराज किया और इसके लिए तहेदिल से माफी माँगता हूँ। मैंने अनजाने में और गलती से ट्वीट किया। इसका किसी व्यक्ति या संगठन से मेरे जुड़ाव का कोई लेना-देना नहीं है।’’

बलिदानी सैनिकों पर घटिया ट्वीट के लिए डॉक्टर डॉ. मधु थोट्टापपिल्लई (Dr. Madhu Thottappillil) ने माफी मॉंगी है। इस ट्वीट के बाद आईपीएल फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) ने टीम डॉक्टर को निलंबित कर दिया था।

डॉ. मधु ने लद्दाख क्षेत्र में 20 भारतीय सैनिक के बलिदान की खबरों के सामने आने के बाद ‘पीएम केयर्स’ पर कटाक्ष करते हुए अपने ट्वीट में लिखा था, “मैं ये जानने को उत्सुक हूँ कि जो ताबूत वापस आएँगे क्या उस पर ‘पीएम केयर’ का स्टीकर लगा होगा?”

अब माफ़ी माँगते हुए कहा है, “16 जून को, मैंने एक ट्वीट किया था, जिसके बाद मैंने यह महसूस किया कि मेरे द्वारा इस्तेमाल किए गए शब्द अनुचित और अनपेक्षित थे। मैंने उस ट्वीट को डिलीट कर दिया। लेकिन तब तक मेरे ट्वीट के स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया में सर्कुलेट और शेयर किए जा चुके थे।”

उन्होंने लिखा है, “मेरा इरादा सेना और हमारे साहसी शहीदों और इस महान देश के सभी नागरिकों का ध्यान रखने में वाले माननीय प्रधानमंत्री मोदी और सरकार के प्रयासों को विफल करने का नहीं था।”

थोट्टापपिल्लई ने कहा है कि वह समझ सकते हैं कि उनकी पोस्ट ने हजारों लोगों की भावनाओं को चोट पहुँचाई है। उन्होंने लिखा, ‘‘मुझे खेद है कि मेरे ट्वीट को पढ़ने वाले लोगों को मैंने पीड़ा पहुँचाई और नाराज किया और इसके लिए तहेदिल से माफी माँगता हूँ। मैंने अनजाने में और गलती से ट्वीट किया। इसका किसी व्यक्ति या संगठन से मेरे जुड़ाव का कोई लेना-देना नहीं है।’’

उन्होंने आगे कहा, ” मैं यह बात जानती हूँ कि प्रधनमंत्री हमारे देश के बलिदानी सैनिकों की देखभाल का पूरा ध्यान रख रहे हैं। जिन्होंने देश की सेवा में अपनी जान न्यौछावर कर दिया हैं। जिनके बिना हम नागरिक सुरक्षित जीवन नहीं गुजार सकते हैं।”

क्या था मामला

दरअसल आईपीएल की टीम चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) की टीम के डॉक्टर डॉ मधु थोट्टापपिल्लई ने अपने आधिकारिक ट्विटर एकाउंट से भारतीय सेना की चीनी सैनिकों से झड़प में बलिदानी भारतीय सैनिकों के बारे में ‘पीएम केयर्स फंड’ (PM CARES Fund) पर कटाक्ष करते हुए ट्वीट किया था। इस ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया में लोगों ने नाराजगी दिखाई थी। जिसके बाद डॉ मधु ने यह ट्वीट डिलीट कर दिया था। हालाँकि, उसके स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया में वायरल हो गए थे।

ट्वीट पर विवाद बढ़ता देख मधु ने अपना ट्विटर अकाउंट लॉक कर दिया था। इस ट्वीट को लेकर कई ट्विटर यूजर्स ने चेन्नई सुपरकिंग्स से शिकायत की और कहा कि ये शर्म की बात है कि मेडिकल पेशे से जुड़ा एक शख्स इतना असंवेदनशील हो सकता है और भारतीय सेना के जवानों की मौत पर मजाक बना रहा है।

विवाद बढ़ने के बाद आईपीएल की टीम चेन्नई सुपरकिंग्स ने इसका जवाब देते हुए कहा था कि – “चेन्नई सुपर किंग्स प्रबंधन को डॉ मधु थोट्टापपिल्लई के व्यक्तिगत ट्वीट की जानकारी नहीं थी। उन्हें टीम डॉक्टर के रूप में उनके पद से निलंबित कर दिया गया। चेन्नई सुपरकिंग्स को उनके ट्वीट पर खेद है जो प्रबंधन की जानकारी के बिना किया गया और यह दुर्भावनापूर्ण था।”

उल्लेखनीय है कि अक्साई चीन क्षेत्र के गलवान घाटी में भारतीय सेना और चीनी सेना के बीच हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिक वीरगति को प्राप्त हुए, जबकि 43 चीनी सैनिकों के मरने की खबर भी सामने आई हैं।

ऐसे में डॉ. मधु ने उस फंड पर निशाना साधने का प्रयास किया था, जिस ‘पीएम केयर्स फंड’ (PM CARES Fund) कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से दान करने की अपील की थी, इसमें कई लोगों ने बड़ी मात्रा में अपना सहयोग दिया है जो कि विपक्ष के साथ ही मीडिया के लिए भी बड़ा सरदर्द बनकर उभरा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

OBC आरक्षण में मुस्लिम घुसपैठ पर कलकत्ता हाई कोर्ट का फैसला देश की आँख खोलने वाला: PM मोदी ने कहा – मेहनती विपक्षी संसद...

पीएम मोदी ने कहा कि मेरे लिए मेरे देश की 140 करोड़ जनता साकार ईश्वर का रूप है। सरकार और राजनीति दलों को जनता प्रति उत्तरदायी होना चाहिए।

SFI के गुंडों के बीच अवैध संबंध, ड्रग्स बिजनेस… जिस महिला प्रिंसिपल ने उठाई आवाज, केरल सरकार ने उनका पैसा-पोस्ट सब छीना, हाई कोर्ट...

कागरगोड कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ रेमा एम ने कहा था कि उन्होंने छात्र-छात्राओं को शारीरिक संबंध बनाते देखा है और वो कैंपस में ड्रग्स भी इस्तेमाल करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -