Saturday, May 18, 2024
Homeदेश-समाजकड़ा पहन कर आया हिन्दू छात्र तो शिक्षक शफीक खान ने पीटा, उतार कर...

कड़ा पहन कर आया हिन्दू छात्र तो शिक्षक शफीक खान ने पीटा, उतार कर नाले में फेंक दिया: परीक्षा में फेल करने की भी धमकी, परिजनों ने पुलिस को दी शिकायत

आरोप यह भी है कि दोनों टीचरों ने पीड़ित छात्र को मेज पर खड़े होने की भी सजा दी। जब पीड़ित छात्र के परिजनों को इस मामले की जानकारी हुई तो वो स्कूल पहुँचे।

मध्य प्रदेश के छतरपुर के एक स्कूल में हाथ में कड़ा पहन कर आए एक हिन्दू छात्र की पिटाई का मामला सामने आया है। पिटाई का आरोप 2 टीचरों पर है जिन्होंने कड़े को नाले में फेंकने के लिए कहा। आरोपितों के नाम शफीक खान और भूपेंद्र वर्मा हैं। स्कूल के प्रिंसिपल पर भी शिकायत के बावजूद आरोपित टीचरों का पक्ष लेने का आरोप है। हिन्दू संगठनों ने इस मामले में कड़ी कार्रवाई की माँग की है। घटना शनिवार (26 अगस्त, 2023) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना छतरपुर जिले के उजरा सरकारी स्कूल का है। यहाँ क्लास 11 में पढ़ने वाला छात्र स्कूल में अपने हाथ में कड़ा पहन कर पढ़ने आया था। आरोप है कि स्कूल के टीचर शफीक खान और भूपेंद्र वर्मा ने छात्र से कड़ा उतारने के लिए कहा। छात्र ने इसे अपना धार्मिक चिह्न बताया और उतारने से मना कर दिया। इस बात से नाराज दोनों अध्यापकों ने पीड़ित की पिटाई की। पिटाई के बाद आरोपित टीचरों ने जबरदस्ती पीड़ित का कड़ा उतरवा कर उसे ले जा कर नाले में फेंक दिया।

आरोप यह भी है कि दोनों टीचरों ने पीड़ित छात्र को मेज पर खड़े होने की भी सजा दी। जब पीड़ित छात्र के परिजनों को इस मामले की जानकारी हुई तो वो स्कूल पहुँचे। परिजनों का कहना है कि उन्होंने अपने बेटे को टीचर शफीक और भूपेंद्र से बचाया। बाद में छात्र के परिजनों ने प्रिंसिपल से शिकायत की। आरोप है कि इस शिकायत के बावजूद प्रिंसिपल ने अध्यापक शफीक और भूपेंद्र का ही पक्ष लिया। साथ ही बताया गया कि छात्र को परीक्षा में फेल करने की भी धमकी दी गई। प्रिंसिपल का रुख देख कर पीड़ित के परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई।

थोड़ी देर में इस घटना की जानकारी बजरंग दल को हुई तो स्कूल में हिन्दू संगठन से जुड़े लोगों का जमावड़ा होना शुरू हो गया। हिन्दू संगठन से जुड़े लोगों ने स्कूल में हंगामा किया और आरोपित टीचरों पर कड़ी कार्रवाई की माँग करने लगे। ‘बजरंग दल’ का आरोप है कि स्कूल में पहले भी छात्रों को तिलक लगाने और अन्य धार्मिक प्रतीकों को पहनने पर रोकटोक होती रही है। फ़िलहाल पुलिस ने शिकायत का संज्ञान लिया है और मामले की जाँच शुरू कर दी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -