Friday, August 19, 2022
Homeदेश-समाजजिसे लोग समझ रहे थे ED की छापेमारी, वो निकली चोरी: पार्था चटर्जी के...

जिसे लोग समझ रहे थे ED की छापेमारी, वो निकली चोरी: पार्था चटर्जी के घर से बड़े-बड़े बैग भर कर फरार हुए चोर, बंगाल का ‘स्पेशल 26’

बताया जा रहा है कि पार्थ चटर्जी के 24 परगना वाले घर में चोरी की नियत से कुछ चोर घुस गए और बड़े बड़े बैग्स में चोरी किया हुआ सामान ले कर निकल गए। हालाँकि पड़ोस के लोगो ने इसे ईडी की छापेमारी समझ नजरअंदाज कर दिया।

पश्चिम बंगाल के मंत्री और शिक्षक भर्ती घोटाले में मुख्य आरोपित पार्थ चटर्जी के घर प्रवर्तन निदेशालय की लगातार चल रही छापेमारी के बीच एक अनोखी घटना सामने आई है। बता दें कि पार्थ चटर्जी के दक्षिण 24 परगना स्थित आवास पर चोरी का मामला सामने आया है। घटना बुधवार रात (27 जुलाई) की है।

बताया जा रहा है कि पार्थ चटर्जी के 24 परगना वाले घर में चोरी की नियत से कुछ चोर घुस गए और बड़े बड़े बैग्स में चोरी किया हुआ सामान ले कर निकल गए। हालाँकि पड़ोस के लोगो ने इसे ईडी की छापेमारी समझ नजरअंदाज कर दिया।

आस पास के लोगो के मुताबित बुधवार देर रात कुछ लोग पश्चिम बंगाल सरकार के मंत्री पार्थ चटर्जी के घर ताला तोड़ कर घुस गए। ये लोग करीब 1 घंटे तक चोरी की वारदात को अंजाम देते रहे। लोग इसे ईडी का छापा मान रहे थे। जबकि चोर बड़े आराम से बड़े बड़े बैग्स में चोरी किया हुआ सामान लेकर वहाँ से आराम से निकल गए।

गौरतलब है कि पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के ठिकाने से ईडी अब तक करीब 50 करोड़ रुपए बरामद कर चुकी है। इतना ही नहीं बुधवार को हुई छापेमारी में ईडी ने 5 किलो सोना भी बरामद किया है। बुधवार (27 जुलाई 2022) को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने अर्पिता मुखर्जी के दूसरे फ्लैट पर छापा मारा था। यहाँ से ईडी को करीब 28.90 करोड़ रुपए कैश और 5 किलो सोना मिला।

इससे पहले 23 जुलाई को अर्पिता के एक अन्य घर से ED ने 21 करोड़ रुपए कैश बरामद किए थे। अर्पिता मुखर्जी का कहना है कि पार्थ चटर्जी उनके घर को ‘मिनी बैंक’ की तरह इस्तेमाल करते थे। अर्पिता ने बताया कि पार्थ चटर्जी उनके घर में ही पैसा रखा करते थे। 

बता दें कि पश्चिम बंगाल शिक्षा घोटाले की जाँच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) कर रही है। केंद्रीय एजेंसी ने पश्चिम बंगाल स्कूल सेवा आयोग की सिफारिशों पर सरकार द्वारा प्रायोजित व सहायता प्राप्त स्कूलों में समूह ‘सी’ और ‘डी’ के कर्मचारियों व शिक्षकों की भर्ती में हुई कथित अनियमितताओं की जाँच शुरू की है। ममता बनर्जी सरकार में मौजूदा उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी उस समय शिक्षा मंत्री थे, जब घोटाला हुआ था। सीबीआई दो बार उनसे पूछताछ कर चुकी है। पहली बार पूछताछ 25 अप्रैल, जबकि दूसरी बार 18 मई को की गई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘10000 महिलाओं के साथ सोया हूँ’: विरोध करने पर रेप पीड़िता से पूर्व फुटबॉलर ने कहा था, आरोप – नंगा कर के 20 मिनट...

बेंजामिन मेंडी पर रेप का आरोप लगाने वाली एक पीड़िता ने बताया कि पूर्व फुटबॉलर ने उससे कहा था कि वह 10,000 महिलाओं के साथ सो चुका है।

‘कार खरीदी, गर्लफ्रेंड्स व सब्जी वालों का धन्यवाद’: व्यंग्य को सच समझ रवीश कुमार ने दी बधाई, जवाब मिला – मजाक है, वामपंथ की...

मधुर सिंह ने कार खरीदने वाली अपनी पोस्ट में अपनी एक्स व वर्तमान गर्लफ्रेंड्स एवं सब्जी वालों को धन्यवाद दिया। रवीश कुमार व्यंग्य को समझ नहीं पाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
215,248FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe