Friday, May 24, 2024
Homeदेश-समाजकेरल की ननों के साथ बदसलूकी मामले में UP पुलिस ने 3 को किया...

केरल की ननों के साथ बदसलूकी मामले में UP पुलिस ने 3 को किया गिरफ्तार, गृह मंत्री अमित शाह ने दिया था आश्वासन

2 ननों समेत 4 महिलाओं के साथ हुए कथित दुर्व्यवहार के मामले में UP पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है। ननों पर आरोप था कि वो कथित तौर पर जबरन धर्म परिवर्तन के लिए अपने साथ...

उत्तर प्रदेश के झाँसी में 19 मार्च 2021 को दो ननों समेत 4 महिलाओं के साथ हुए दुर्व्यवहार के मामले में पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है। बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने 19 मार्च को इन ननों पर धर्मांतरण करवाने का आरोप लगाते हुए शिकायत दी थी।

शुक्रवार को सर्कल ऑफिसर नीम खान मंसूरी ने बताया, “गुरुवार की रात, स्टेशन पर गश्त के दौरान, जीआरपी एसएचओ सुनील कुमार सिंह को सूचना मिली कि बुकिंग हॉल के पास दो व्यक्ति पुलिसकर्मियों के साथ बहस कर रहे हैं। वह आंदोलन शुरू करने की धमकी देते हुए दावा कर रहे थे कि पुलिस ने मामले में उचित कार्रवाई नहीं की और ननों को जाने दिया।”

उन्होंने बताया कि इससे पहले मामले में दोनों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। लेकिन इस घटना के बाद पुलिस ने ननों के साथ दुर्व्यवहार करने के मामले में अंचल अरजरिया (Anchal Arjaria) और पुरुकेश अमारया (Purukes Amraya) को गिरफ्तार किया। बाद में पुलिस ने अजय शंकर तिवारी, जिन्होंने इस पूरे केस में सबसे पहले शिकायत की थी, उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया।

द न्यूज मिनट के अनुसार, तीनों को पुलिस ने लोकल मजिस्ट्रेट के सामने पेश कर 14 दिन के लिए जेल भेज दिया है। मामले के प्रकाश में आने के बाद पुलिस ने कहा कि बजरंग दल द्वारा दायर की गई शिकायत का कोई आधार नहीं था, इसलिए चारों महिलाओं को अगली ट्रेन से ओडिशा भेज दिया गया।

इस बीच साइरो मालाबार चर्च ने बयान जारी कर इसे सुनियोजित हमला बताया। वहीं केरल सीएम पिनरई विजयन ने भी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को खत लिख कर मामले में कार्रवाई की माँग की, जिस पर अमित शाह ने उन्हें जाँच का आश्वासन दिया।

अमित शाह ने कहा, “ननों के समूह के साथ हुई कथित बदसलूकी के मामले में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मैं केरल के लोगों को यह आश्वासन देना चाहूँगा कि इस मामले के दोषियों को यथाशीघ्र न्याय के शिकंजे में लाया जाएगा।”

बता दें कि 19 मार्च को उत्तर प्रदेश के झाँसी में उत्कल एक्सप्रेस के कोच B-2 से यात्रा कर रहीं दो नन और दो ‘पोस्टुलेंट’ को रेलवे पुलिस ने ट्रेन से उतार कर पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। बजरंग दल के स्थानीय कार्यकर्ताओं ने शिकायत की थी कि दो महिलाओं को कथित तौर पर जबरन धर्म परिवर्तन के लिए ले जाया जा रहा है और इसके बाद इन नन को हिरासत में लिया गया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

18 साल से ईसाई मजहब का प्रचार कर रहा था पादरी, अब हिन्दू धर्म में की घर-वापसी: सतानंद महाराज ने नक्सल बेल्ट रहे इलाके...

सतानंद महाराज ने साजिश का खुलासा करते हुए बताया, "हनुमान जी की मोम की मूर्ति बनाई जाती है, उन्हें धूप में रख कर पिघला दिया जाता है और बच्चों को कहा जाता है कि जब ये खुद को नहीं बचा सके तो तुम्हें क्या बचाएँगे।""

‘घेरलू खान मार्केट की बिक्री कम हो गई है, इसीलिए अंतरराष्ट्रीय खान मार्केट मदद करने आया है’: विदेश मंत्री S जयशंकर का भारत विरोधी...

केंद्रीय विदेश मंत्री S जयशंकर ने कहा है कि ये 'खान मार्केट' बहुत बड़ा है, इसका एक वैश्विक वर्जन भी है जिसे अब 'इंटरनेशनल खान मार्केट' कह सकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -