Friday, June 25, 2021
Home देश-समाज तिरुपति मंदिर ने सुनी केरल सरकार की गुहार: काजू उद्योग के 3 लाख लोगों...

तिरुपति मंदिर ने सुनी केरल सरकार की गुहार: काजू उद्योग के 3 लाख लोगों को राहत

केरल में 3 लाख से भी अधिक लोग काजू की प्रोसेसिंग से जुड़े हैं, जिनमें अधिकतर महिलाएँ हैं। आंध्र सरकार से करार पर मुहर के बाद केरल काजू कॉर्पोरेशन के 12 हज़ार कमचारियों की नौकरी भी सुरक्षित हो जाएगी।

केरल में काजू उद्योग डूब रहा है। पिछले कुछ वर्षों में इस उद्योग को भारी नुक़सान झेलना पड़ा है। कहा जा रहा है कि केरल में पिछले 5 सालों में काजू से सम्बंधित 800 से भी अधिक उद्योग या तो बंद हो चुके हैं या बंद होने वाले हैं। यह केरल स्टेट कैश्यु डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन के चिंता का सबब बना हुआ है। ऐसी संकट की घड़ी में केरल की वामपंथी सरकार ने तिरुपति बालाजी से केरल के काजू उद्योग को बचाने की गुहार लगाई है। इस सम्बन्ध में केरल की सरकार ने आंध्र प्रदेश की सरकार के साथ एक पैक्ट पर भी हस्ताक्षर करने का निर्णय लिया है।

आंध्र प्रदेश स्थित तिरुपति वेंकटेश्वर मंदिर विश्व के भव्य मंदिरों में से एक है और यहाँ प्रसाद के रूप में बड़ी मात्रा में लड्डू बनाए जाते हैं। प्रतिदिन बनाए जाने वाले प्रसाद के लिए 3,000 किलो काजू की रोज ज़रूरत पड़ती है। यानी तिरुपति बालाजी के लड्डू प्रसादम् के लिए मंदिर को प्रतिदिन 3 टन काजू की आवश्यकता होती है। इस हिसाब से महीने में मंदिर को 90 टन काजू की ज़रूरत पड़ती है और पूरे साल में 1,000 टन काजू की ख़रीददारी की जाती है।

अब तिरुपति बालाजी मंदिर केरल के काजू उद्योग के लिए नया जीवन बन कर आएगा। आंध्र प्रदेश और केरल की सरकारों के बीच करार होने के बाद वेंकटेश्वर तिरुपति मंदिर सालाना केरल के काजू उद्योग से 1,000 टन काजू ख़रीदेगा। केरल के काजू कॉर्पोरेशन ने भी तिरुपति बालाजी मंदिर के कारण अब राहत की साँस ली है। यह जानने लायक बात है कि काजू उत्पादन के मामले में भारत विश्व का सबसे अग्रणी देश है और दुनिया का 45% काजू यहीं उगाया जाता है।

केरल सरकार ने जानकारी दी है कि तिरुपति बालाजी मंदिर जल्द ही 70 करोड़ रुपए के काजू ख़रीदेगी। कॉर्पोरेशन में 12 हज़ार लोग हैं, जिनकी आजीविका सीधे काजू उद्योग से जुड़ी है। हर महीने 6 करोड़ रुपए का नुकसान झेल रहा कॉर्पोरेशन अगर प्रति महीने 90 टन काजू तिरुपति बालाजी को सप्लाई करता है तो केरल का काजू उद्योग फिर से पटरी पर आ जाएगा। केरल के कई कर्मचारियों और किसानों की आय काजू उद्योग पर निर्भर है।

केरल में 3 लाख से भी अधिक लोग काजू की प्रोसेसिंग से जुड़े हैं, जिनमें अधिकतर महिलाएँ हैं। आंध्र सरकार से करार पर मुहर के बाद केरल काजू कॉर्पोरेशन के 12 हज़ार कमचारियों की नौकरी भी सुरक्षित हो जाएगी। केरल के कोल्लम को कभी काजू उद्योग की वैश्विक राजधानी माना जाता था। यहाँ काजू उद्योग से आने वाले रुपयों से लाइब्रेरी से लेकर होटल तक बने। इतना ही नहीं, दादा साहब फाल्के अवॉर्ड जीतने वाले निर्देशक अडूर गोपालकृष्णन भी इसी उद्योग की वजह से फ़िल्में बना पाए।

केरल में काजू उद्योग से सम्बंधित 173 ऐसी फैक्ट्रियाँ हैं, जो क़र्ज़ में डूबी हुई हैं और उन्हें एनपीए (नॉन परफार्मिंग एसेट) घोषित किया जा चुका है। केरल की सरकार भी काजू उद्योग को वापस पटरी पर लाने के लिए कई तरह के कार्यक्रम चला रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अपनी मर्जी से मंतोष सहनी के साथ गई, कोई जबरदस्ती नहीं’ – फजीलत खातून ने मधुबनी अपहरण मामले पर लगाया विराम

मधुबनी जिले के बिस्फी की फजीलत खातून के कथित अपहरण मामले में नया मोड़। फजीलत खातून ने खुद ही सामने आकर बताया कि वो मंतोष सहनी के साथ...

चित्रकूट का पर्वत जो श्री राम के वरदान से बना कामदगिरि, यहाँ विराजमान कामतानाथ करते हैं भक्तों की हर इच्छा पूरी

भगवान राम ने अपने वनवास के दौरान लगभग 11 वर्ष मंदाकिनी नदी के किनारे स्थित चित्रकूट में गुजारे। चित्रकूट एक प्रमुख तीर्थ स्थल माना जाता है...

फतेहपुर के अंग्रेजी मीडियम स्कूल में हिंदू बच्चे पढ़ते थे नमाज: महिला टीचर ने खोली मौलाना उमर गौतम के धर्मांतरण गैंग की पोल

फतेहपुर के नूरुल हुदा इंग्लिश मीडियम स्कूल में मौलाना उमर के गिरोह की सक्रियता का खुलासा वहाँ की ही एक महिला टीचर ने किया है।

‘सत्यनारायण और भागवत कथा फालतू, हिजड़ों की तरह बजाते हैं ताली’: AAP नेता का वीडियो वायरल

AAP की गुजरात इकाई के नेता गोपाल इटालिया का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें वे हिन्दू परंपराओं का अपमान करते दिख रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर: PM मोदी का ग्रासरूट डेमोक्रेसी पर जोर, जानिए राज्य का दर्जा और विधानसभा चुनाव कब

प्रधानमंत्री ने कहा कि वह 'दिल्ली की दूरी' और 'दिल की दूरी' को मिटाना चाहते हैं। परिसीमन के बाद विधानसभा चुनाव उनकी प्राथमिकता में है।

₹60000 करोड़, सबसे सस्ता स्मार्टफोन, 109 शहरों में वैक्सीनेशन सेंटर: नीता अंबानी ने बताया कोरोना काल का ‘धर्म’

रिलायंस इंडस्ट्रीज की AGM में कई बड़ी घोषणाएँ की गई। कोविड संकट से देश को उबारने के प्रति प्रतिबद्धता दिखाई गई।

प्रचलित ख़बरें

‘सत्यनारायण और भागवत कथा फालतू, हिजड़ों की तरह बजाते हैं ताली’: AAP नेता का वीडियो वायरल

AAP की गुजरात इकाई के नेता गोपाल इटालिया का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें वे हिन्दू परंपराओं का अपमान करते दिख रहे हैं।

फतेहपुर के अंग्रेजी मीडियम स्कूल में हिंदू बच्चे पढ़ते थे नमाज: महिला टीचर ने खोली मौलाना उमर गौतम के धर्मांतरण गैंग की पोल

फतेहपुर के नूरुल हुदा इंग्लिश मीडियम स्कूल में मौलाना उमर के गिरोह की सक्रियता का खुलासा वहाँ की ही एक महिला टीचर ने किया है।

TMC के गुंडों ने किया गैंगरेप, कहा- तेरी काली माँ न*गी है, तुझे भी न*गा करेंगे, चाकू से स्तन पर हमला: पीड़ित महिलाओं की...

"उस्मान ने मेरा रेप किया। मैं उससे दया की भीख माँगती रही कि मैं तुम्हारी माँ जैसी हूँ मेरे साथ ऐसा मत करो, लेकिन मेरी चीख-पुकार उसके बहरे कानों तक नहीं पहुँची। वह मेरा बलात्कार करता रहा। उस दिन एक मुस्लिम गुंडे ने एक हिंदू महिला का सम्मान लूट लिया।"

‘हरा$ज*, हरा%$, चू$%’: ‘कुत्ते’ के प्रेम में मेनका गाँधी ने पशु चिकित्सक को दी गालियाँ, ऑडियो वायरल

गाँधी ने कहा, “तुम्हारा बाप क्या करता है? कोई माली है चौकीदार है क्या हैं?” डॉक्टर बताते भी हैं कि उनके पिता एक टीचर हैं। इस पर वो पूछती हैं कि तुम इस धंधे में क्यों आए पैसे कमाने के लिए।

‘हर चोर का मोदी सरनेम क्यों’: सूरत की कोर्ट में पेश हुए राहुल गाँधी, कहा- कटाक्ष किया था, अब याद नहीं

कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी सूरत की एक अदालत में पेश हुए। मामला 'सारे मोदी चोर' वाले बयान पर दर्ज आपराधिक मानहानि के मामले से जुड़ा है।

जम्मू-कश्मीर के लोग अपने पूर्व मुख्यमंत्री को जेल में डालने के लिए धरने पर बैठे, कर रही थीं पाकिस्तान की वकालत

"महबूबा मुफ्ती से बातचीत के बजाय उन्हें तिहाड़ जेल भेजा जाना चाहिए। दिल्ली से उन्हें वापस जम्मू कश्मीर नहीं आने दिया जाना चाहिए।”
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
105,792FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe