Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजTMC नेता ने महिला के पेट में मारी लात, 3 महीने की बच्ची को...

TMC नेता ने महिला के पेट में मारी लात, 3 महीने की बच्ची को भी पीटा: पति की हत्या करने आए थे गुंडे

3 महीने पहले ही महिला की सर्जरी हुई है, ऐसे में उसे पेट में लात मारे जाने के बाद अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। मधुमिता किसी तरह अपने घर से निकल कर भागने में सफल रही। वो अपनी बच्ची को लेकर किसी तरह पुलिस थाने पहुँची। पश्चिम बंगाल के जीबनताला पुलिस स्टेशन स्थित घुटियरी शरीफ पुलिस आउटपोस्ट में TMC नेता के.........

पश्चिम बंगाल में अब तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) के नेताओं ने महिलाओं और बच्चियों के साथ भी हिंसा शुरू कर दी है। ऐसी ही एक घटना सामने आई है, जहाँ बंगाल में TMC के नेता ने न सिर्फ अपने गुंडों के साथ मिल कर एक महिला को जम कर पीटा बल्कि उसकी 3 महीने पहले जन्मी बच्ची तक को भी नहीं बक्शा। ये घटना साउथ 24 परगना के जीबनताला स्थित रबिन्द्रनगर गाँव की है, जिसकी जम कर निंदा हो रही है।

26 वर्षीय पीड़िता का नाम मधुमिता हलदर है, जिसके साथ TMC नेता बापी मंडल ने बदतमीजी की। सोमवार (अगस्त 24, 2020) की रात अचानक से पहुँच गए और महिला के पति को खोजने लगे। जब पति घर पर नहीं मिला तो उन्होंने घर में ही तोड़फोड़ शुरू कर दी। फिर महिला की पिटाई शुरू कर दी गई। गुंडे खिड़की तोड़ कर घर में घुसे थे, ताकि पीड़िता के पति की हत्या कर सकें। बापी मंडल ने महिला के पेट पर भी लात मारी।

3 महीने पहले ही महिला की सर्जरी हुई है, ऐसे में उसे पेट में लात मारे जाने के बाद अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। मधुमिता किसी तरह अपने घर से निकल कर भागने में सफल रही। वो अपनी बच्ची को लेकर किसी तरह पुलिस थाने पहुँची। पश्चिम बंगाल के जीबनताला पुलिस स्टेशन स्थित घुटियरी शरीफ पुलिस आउटपोस्ट में TMC नेता के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। अभी तक हमले के पीछे की मंशा स्पष्ट नहीं है।

ये कोई राजनीतिक मामला भी हो सकता है क्योंकि पश्चिम बंगाल में TMC के गुंडों द्वारा भाजपा नेताओं की हत्या का सिलसिला अभी तक थमा नहीं है। अभी तक कई भाजपा नेताओं की हत्या हो चुकी है। महिला के घर में भी गुंडे हत्या की मंशा से भी घुसे थे, ऐसे में इस घटना में भी राजनीतिक बदले की भावना हो सकती है। पुलिस ने इस मामले की शिकायत दर्ज कर ली है। बापी मंडल स्थित सभी गुंडों की तलाश जारी है।

हाल ही में एक और घटना सामने आई थी, जब स्वतंत्रता दिवस के दिन दौलतचक में भाजपा और तृणमूल के कार्यकर्ता झण्डा फहरा रहे थे। अचानक सुबह 9 बजे दोनों के बीच संघर्ष शुरू हो गया। बाद में संघर्ष हिंसक हो गया। स्थानीय लोगों का तो यहाँ तक कहना है कि बमबारी भी शुरू हो गई थी। इसी दौरान भाजपा सुदर्शन प्रमाणिक पर हमला किया गया और वे जमीन पर गिर पड़े और उनकी मृत्यु हो गई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारतीय हॉकी का ‘द ग्रेट वॉल’: जिसे घेर कर पीटने पहुँचे थे शिवसेना के 150 गुंडे, टोक्यो ओलंपिक में वही भारत का नायक

शिवसेना वालों ने PR श्रीजेश से पूछा - "क्या तुम पाकिस्तानी हो?" अपने ही देश में ये देख कर उन्हें हैरत हुई। टोक्यो ओलंपिक के बाद सब इनके कायल।

अफगानिस्तान के सबसे सुरक्षित इलाके में तालिबानी हमला, रक्षा मंत्री निशाना: ब्लास्ट-गोलीबारी, सड़कों पर ‘अल्लाहु अकबर’

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के विभिन्न हिस्सों में गोलीबारी और बम ब्लास्ट की आवाज़ें आईं। शहर के उस 'ग्रीन जोन' में भी ये सब हुआ, जो कड़ी सुरक्षा वाला इलाका है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,873FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe