Sunday, May 29, 2022
Homeदेश-समाजमुस्लिम भीड़ की आदिवासियों से झड़प, गोली चलने से एक की मौत, 50 घायल:...

मुस्लिम भीड़ की आदिवासियों से झड़प, गोली चलने से एक की मौत, 50 घायल: कई घरों, दुकानों और गाड़ियों को भी फूँका

अभी तक इस पूरे मामले में कुल 20 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ हो रही है। प्रशासन ने अपनी कार्रवाई करते हुए आरोपितों के मकानों पर एक्शन लिया है। दूसरी ओर घायलों का हाल जानने के लिए खुद शनिवार दोपहर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हमीदिया अस्पताल गए।

मध्य प्रदेश के रायसेन में आदिवासी समुदाय और मुस्लिम समुदाय के लोगों के बीच हुई झड़प में एक आदिवासी व्यक्ति की जान चली गई। मामला शुक्रवार (मार्च 18, 2022) देर रात का है। घटना में 1 व्यक्ति की मौत के अलावा 50 लोगों के घायल होने की खबर है। स्थिति नियंत्रित करने के लिए इलाके में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई हैं। तनाव शांत कराने के लिए 4 थानों की पुलिस मौके पर मौजूद है। प्रशासन ने उपद्रवियों को सबक सिखाने के लिए उनके मकानों पर कार्रवाई करनी शुरू कर दी है। इस बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी हमीदिया अस्पताल जाकर घायलों से मुलाकात की है।

जानकारी के मुताबिक, जिला मुख्यालय से करीब 100 किमी दूर आदिवासी अंचल प्रतापगढ़ जैथारी के पास एक गाँव है खमरिया पौड़ी। वहीं पर देर रात आदिवासी समाज के दो लड़के गली से निकल रहे थे कि तभी दूसरे समुदाय के लोगों की उनसे कहासुनी हो गई और सामने वाले पक्ष ने उन लड़कों पर हाथ उठा दिए। इसके बाद आदिवासी लड़कों ने 5-6 दोस्तों को बुलाया। फिर दोनों पक्षों में मारपीट हुई, जिसकी सुलाह बड़े-बुजुर्गों ने करवाई।

इतनी देर में दोनों तरफ के सैकड़ों लोग लाठी-डंडे लेकर मौके पर आमने-सामने आ गए थे। दोनों पक्षों की ओर से लाठी, कुल्हाड़ी का इस्तेमाल किया गया कि तभी दूसरे समुदाय में से किसी ने गोली चला दी। इसी गोलीबारी के कारण राजू नामक आदिवासी व्यक्ति की मौत हो गई। वहीं कई अन्य घायल हुए। 

इस दौरान कुछ लोगों ने दुकानों, घरों व मोटर साइकल में भी आग लगाई। थोड़ी देर बाद पुलिस को इस संबंध में जानकारी दी गई और पुलिस के आने के बाद गंभीर रूप से घायल लोगों को अस्पताल पहुँचाया गया। शनिवार सुबह इलाके में 4 थानों की पुलिस तैनात हुई। वहीं दोनों पक्षों के कुछ लोगों पर मामले दर्ज करते हुए उन्हें हिरासत में लिया गया। कुछ लोगों का इस बीच सिलवानी शासकीय अस्पताल में इलाज चल रहा है। वहीं 30 से ज्यादा लोग भोपाल के हमीदिया अस्पताल में रेफर हैं। 

पुलिस की कार्रवाई में अब तक दो हथियार, 12 बोर की रायफल, 2 ट्रेक्टर, एक बोलेरी पिकअप को जब्त किया गया है। कुल 20 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ हो रही है। प्रशासन ने अपनी कार्रवाई करते हुए आरोपितों के मकानों पर एक्शन लिया है। दूसरी ओर घायलों का हाल जानने के लिए खुद शनिवार दोपहर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हमीदिया अस्पताल गए। पीड़ितों से मुलाकात करने के बाद उन्होंने मृतक के परिवार को 5 लाख रुपए, 3 गंभीर घायल को 2-2 लाख रुपए और बाकी घायलों के लिए 50-50 हजार रुपए की आर्थिक मदद का ऐलान किया है। साथ ही डॉक्टरों को बेहतर इलाज देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आरोपितों को बख्शा नहीं जाएगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘शरिया लॉ में बदलाव कबूल नहीं’: UCC के विरोध में देवबंद के मौलवियों की बैठक, कहा – ‘सब सह कर हम 10 साल से...

देवबंद में आयोजित 'जमीयत उलेमा ए हिन्द' की बैठक में UCC का विरोध किया गया। मौलवियों ने सरकार पर डराने का आरोप लगाया। कहा - ये देश हमारा है।

‘कब्ज़ा कर के बनाई गई मस्जिद को गिरा दो’: मंदिरों को ध्वस्त कर बनाए गए मस्जिदों पर बोले थे गाँधी – मुस्लिम खुद सौंप...

गाँधी जी ने लिखा था, "अगर ‘अ’ (हिन्दू) का कब्जा अपनी जमीन पर है और कोई शख्स उसपर कोई इमारत बनाता है, चाहे वह मस्जिद ही हो, तो ‘अ’ को यह अख्तियार है कि वह उसे गिरा दे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,861FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe