Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजट्विटर ने सस्पेंड किए कई पॉपुलर दक्षिणपंथी हैंडल, 'पॉलिसी उल्लंघन' का बनाया बहाना

ट्विटर ने सस्पेंड किए कई पॉपुलर दक्षिणपंथी हैंडल, ‘पॉलिसी उल्लंघन’ का बनाया बहाना

इसके पहले गुजरात बीजेपी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल @BJP4Gujarat से अहमदाबाद ब्लास्ट के दोषियों को फाँसी वाले कार्टून को ट्विटर ने हटा दिया था। इस कार्टून में टोपी पहने मुस्लिमों के एक समूह को फंदे से एक साथ लटका हुआ दिखाया गया था।

माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर ने एक बार फिर से राष्ट्रवादी अकाउंट्स के खिलाफ कार्रवाई करते हुए अपनी मंशा को जाहिर कर दिया है। गुरुवार (24 फरवरी 2022) को ट्विटर ने नीतियों के उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए एकतरफा कार्रवाई करते हुए कई लोकप्रिय हैंडल को सस्पेंड कर दिया।

जिन ट्विटर अकाउंट्स को निलंबित कर दिया है, उनमें से एक है बेफिटिंग फैक्ट्स। यह हैंडल फैक्ट चेक करने वाला लोकप्रिय ट्विटर अकाउंट है। इसे निलंबित करते हुए ट्विटर ने कहा कि इसने कई अकाउंट का उपयोग करते हुए उसकी पॉलिसी को तोड़ा है।

ट्विटर की मनमाना कार्रवाई के बाद ऑपइंडिया से बातचीत में बेफिटिंग फैक्ट्स ने बताया कि ट्विटर उसके कई अकाउंट्स की जानकारी माँग रहा है, लेकिन उसके पास केवल एक ही अकाउंट है।

इसी तरह से ‘द स्किन डॉक्टर’ नाम के एक अन्य लोकप्रिय अकाउंट को भी सस्पेंड कर दिया है। इस पर भी ट्विटर ने कंपनी के नियमों के उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया है।

दूसरे ट्विटर अकाउंट ‘द एंग्री लॉर्ड’ को भी ट्विटर ने निलंबित कर दिया है।

ट्विटर यहीं नहीं रूका। उसने फेमस न्यूज और करेंट अफेयर्स ट्विटर अकाउंट ‘मेघ बुलेटिन’ पर नियमों के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए उसके अकाउंट को भी सस्पेंड कर दिया।

हालाँकि, बड़ी बात ये है कि ट्विटर जिस पॉलिसी उल्लंघन की बात कर रहा है, उसके बारे में नहीं बताया कि आखिर क्यों इन राष्ट्रवादी हैंडल्स को निलंबित किया गया। ट्विटर पर जानबूझकर और मनमाने ढंग से राष्ट्रवादी और राइट विंग अकाउंट्स के खिलाफ एक्शन लेने का आरोप है, जबकि वामपंथियों और कट्टरपंथियों द्वारा डॉकिंग और धमकाने जैसे गंभीर अपराधों को अंजाम देने के बाद भी उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाती है।

ट्विटर ने बीजेपी के कार्टून को भी किया था डिलीट

गौरतलब है कि हाल ही में 2008 के अहमदाबाद बम ब्लास्ट के मामले में 38 दोषियों को मौत की सजा सुनाए जाने के बाद बीजेपी ने कोर्ट की तारीफ करते हुए एक कार्टून पोस्ट किया था, जिसे ट्विटर ने हटा दिया था। गुजरात बीजेपी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल @BJP4Gujarat ने जो कार्टून पोस्ट किया था, उसमें टोपी पहने मुस्लिमों के एक समूह को फंदे से एक साथ लटका हुआ दिखाया गया था। कार्टून में कोर्ट के फैसले को दिखाया गया था। बता दें कि इस मामले में 49 मुस्लिमों को दोषी ठहराते हुए 38 को फाँसी की सजा सुनाई गई थी।

BJP4Gujarat tweet

खास बात ये है कि कट्टरपंथी इस्लामियों और लेफ्ट लिबरल्स समेत कई संदिग्धों ने भाजपा पर हमले करते हुए नरसंहार का आह्वान किया था। हालाँकि, भाजपा की ओर से यह ट्वीट केवल अदालत के फैसले का प्रतिनिधित्व करता है, जिसमें सभी मुस्लिमों को दोषी ठहराया गया है। बावजूद इसके यह दावा किया गया कि भाजपा नरसंहार की वकालत कर रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, 11वीं सदी का शिलालेख है साक्ष्य!!

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, बख्तियार खिलजी ने नहीं। ब्राह्मण+बुर्के वाली के संभोग को खोद निकाला है इस इतिहासकार ने।

10 साल जेल, ₹1 करोड़ जुर्माना, संपत्ति भी जब्त… पेपर लीक के खिलाफ आ गया मोदी सरकार का सख्त कानून, NEET-NET परीक्षाओं में गड़बड़ी...

परीक्षा आयोजित करने में जो खर्च आता है, उसकी वसूली भी पेपर लीक गिरोह से ही की जाएगी। केंद्र सरकार किसी केंद्रीय जाँच एजेंसी को भी ऐसी स्थिति में जाँच सौंप सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -