Saturday, October 23, 2021
Homeदेश-समाजराजस्थान: टायर चोरी के आरोप में भीड़ ने 2 को पीटा, दुकान मालिक सत्तार...

राजस्थान: टायर चोरी के आरोप में भीड़ ने 2 को पीटा, दुकान मालिक सत्तार खान और मंसूर सहित 3 गिरफ्तार

रानीखेड़ा निवासी सत्तार खान पुत्र गुलजार मोहम्मद ने उसकी दुकान से टायर चोरी का मामला दर्ज करवाया था। उसने 8 टायरों के चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

राजस्थान के चित्तौड़गढ़ स्थित निम्बाहेड़ा सदर क्षेत्र में बुधवार (मई 26,2021) को टायर चोरी के आरोप में दो लोगों की भीड़ द्वारा पिटाई की गई। ग्रामीणों ने दोनों आरोपितों की पिटाई करने के बाद उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया। इस घटना का वीडियो जब सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, तब जाकर पुलिस को इस बारे में पता चला। पुलिस ने जब पूछताछ की तो दोनों आरोपितों ने बताया कि ग्रामीणों ने उन्हें पीटा है।

राजस्थान पुलिस ने गाँव के ही 5 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर के उनमें से 3 को गिरफ्तार भी कर लिया है। मामला कुछ यूँ है कि रानीखेड़ा निवासी सत्तार खान पुत्र गुलजार मोहम्मद ने उसकी दुकान से टायर चोरी का मामला दर्ज करवाया था। उसने 8 टायरों के चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। ग्रामीणों को इसका शक चिकारड़ा निवासी जमील पुत्र बाबू खां व कोमल पुत्र फूलचंद खटीक पर हुआ।

इसके बाद दोनों को भीड़ ने पकड़ा और और लात-घूसों व रस्सियों का इस्तेमाल कर के जम कर पीटा। एक साथ कई लोग पिल पड़े और उन्होंने मारपीट की। दोनों आरोपित बार-बार हाथ जोड़ कर माफ़ी माँग रहे थे और साथ ही न पीटने की मिन्नतें कर रहे थे। पिटाई के दौरान जमील और कोमल घायल भी हो गए। जिन ग्रामीणों ने इन दोनों की पिटाई की, उन्होंने ही इस पूरी घटना का वीडियो भी रिकॉर्ड किया।

जमील और कोमल ने कबूल किया कि इन दोनों ने 2 टायरों की चोरी की है। पुलिस दोनों को गिरफ्तार कर के ले गई। उनके शरीर पर जख्म देख कर पुलिस ने पूछताछ की तो शुरू में उन्होंने कुछ नहीं बताया, लेकिन अगले दिन उन्होंने ग्रामीणों की करतूतें बताई। टायर दुकान के मालिक सत्तार खान के अलावा रानीखेड़ा निवासी मनसूर पुत्र आजाद मंसूरी और पप्पू पुत्र चाँद को गिरफ्तार कर लिया गया है।

इससे पहले भी हो चुकी है भीड़ द्वारा पिटाई की घटनाएँ

जून 2019 में चोरी के आरोप में तबरेज अंसारी की पिटाई की गई थी, जिसके कुछ दिनों बाद उसकी मौत हो गई थी। झारखंड के सरायकेला में हुई इस घटना को लेकर ‘हिन्दुओं द्वारा मुस्लिमों की मॉब लिंचिंग’ का नैरेटिव फैलाया गया था, जबकि कई घटनाओं में देखा गया है कि चोरी करते हुए पकड़े जाने पर ये शक में भीड़ बिना जाति-मजहब देखे ही पिटाई कर देती है। सितंबर 2020 में लोगों ने चोरी के आरोप में बासिद खान को मार डाला था।

ऐसे ही जून 2020 में दिल्ली के पांडव नगर में सलमान नाम के युवक को चोरी के आरोप में भीड़ ने मार डाला था। राँची में ही मार्च 2021 में बाइक चोरी के आरोप में भीड़ ने मुबारक खान की हत्या कर दी थी। उससे कुछ दिनों पहले राँची में ही सचिन कुमार नामक व्यक्ति को चोरी के शक में मार डाला गया था। बेगूसराय में हरि साह नामक व्यक्ति के नाबालिग पुत्र को चोरी के आरोप में पीटा गया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मृत जवान के परिजनों से मिले गृह मंत्री, पत्नी को दी सरकारी नौकरी: सुरक्षा पर बड़ी बैठक, जानिए अमित शाह के J&K दौरे में...

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शनिवार (23 अक्टूबर, 2021) को केंद्रशासित प्रदेश जम्मू कश्मीर के दौरे पर पहुँचे। मृत पुलिस जवान के परिजनों से मुलाकात की।

परमवीर सूबेदार जोगिंदर सिंह: जो बिना हथियार 200 चीनी सैनिकों से लड़े… पापा से प्यार इतना कि बलिदान पर बेटी का भी निधन

15 साल की उम्र में ब्रिटिश इंडियन आर्मी को ज्वॉइन कर लिया था सूबेदार जोगिंदर सिंह ने और सिख रेजीमेंट की पहली बटालियन का हिस्सा बन गए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,988FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe