Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाजगौ तस्करी मामले में इरफ़ान, असरफ़ गिरफ़्तार, रियासत अली और अरशद फ़रार, पुलिस पर...

गौ तस्करी मामले में इरफ़ान, असरफ़ गिरफ़्तार, रियासत अली और अरशद फ़रार, पुलिस पर चढ़ा दी गाड़ी

पुलिस द्वारा की गई फायरिंग में, दो गाय तस्कर घायल हो गए जिन्हें प्राथमिक चिकित्सा दिए जाने के बाद ज़िला चिकित्सालय रेफर किया गया। इसके अलावा पुलिस को चकमा देकर रियासत और अरशद वहाँ से भागने में क़ामयाब हो गए। पकड़े गए घायल तस्करों में एक इरफ़ान है और दूसरा असरफ़ है।

सहारनपुर के नानौता में गुरुवार तड़के हुई गोलीबारी में एक कांस्टेबल और दो गाय तस्कर घायल हो गए। ख़बर के अनुसार, पुलिस ने दो देसी पिस्तौल और कुछ कारतूस भी बरामद किए हैं।

थाना प्रभारी मनोज कुमार चौधरी के मुताबिक, गुरुवार (29 मार्च) सुबह क़रीब 4 बजे, SI सैय्यद मुनाजिर हुसैन, हेड कॉन्स्टेबल राजीव और अन्य चार पुलिस अधिकारियों ने एक संदिग्ध पिकअप ट्रक को चेकिंग के लिए रोका। ट्रक चालक ने पेडल को धक्का दिया और वाहन की गति बढ़ा दी। इतना ही नहीं, पीछा करने के दौरान जब पुलिस टीम उस पिकअप के पास पहुँची तो पिकअप ट्रक के चालक ने पुलिस कर्मियों को जान से मारने की मंशा से वाहन को उनके ऊपर चढ़ाने की कोशिश की।

तभी पिकअप ट्रक में सवार चार लोग कूद कर बाहर निकले और एक झील के पास भागे जहाँ से उन्होंने पुलिस पर ताबड़तोड़ गोलियाँ चलाईं। इसी गोलीबारी में हेड कॉन्स्टेबल राजीव घायल हो गए लेकिन थाना प्रभारी चौधरी बुलेटप्रूफ जैकेट के कारण बच गए। पुलिस द्वारा की गई फायरिंग में, दो गाय तस्कर घायल हो गए जिन्हें प्राथमिक चिकित्सा दिए जाने के बाद ज़िला चिकित्सालय रेफर किया गया। इसके अलावा पुलिस को चकमा देकर रियासत और अरशद वहाँ से भागने में क़ामयाब हो गए। पकड़े गए घायल तस्करों में एक इरफ़ान है और दूसरा असरफ़ है।

जानकारी के अनुसार, महिन्द्रा पिकअप और उसमें लदे छह बछड़ों को पुलिस ने अपने क़ब्जे में ले लिया है। बता दें कि पिकअप में लदे छह बछड़ों को नशीली दवा पिलाई गई थी जिससे वो शोर न मचा सकें। फ़िलहाल पुलिस ने मामले की जाँच शुरू कर दी है।

गाय की तस्करी से जुड़ा यह मामला कोई पहला नहीं हैं। इससे पहले भी इस तरह की घटनाओं को अंजाम दिया जाता रहा है, ये और बात है कि इनमें से केवल कुछ ही मामले सामने आते हैं और बाक़ी हवा हो जाते हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

मुस्लिम बहुल किशनगंज के सरपंच से बनवाया था आईडी कार्ड, पश्चिमी यूपी के युवक करते थे मदद: Pak आतंकी अशरफ ने किए कई खुलासे

पाकिस्तानी आतंकी ने 2010 में तुर्कमागन गेट में हैंडीक्राफ्ट का काम शुरू किया। 2012 में उसने ज्वेलरी शॉप भी ओपन की थी। 2014 में जादू-टोना करना भी सीखा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,004FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe