Saturday, June 15, 2024
Homeदेश-समाजछत्तीसगढ़ में दो पादरी गिरफ्तार, 'चंगाई सभा' के नाम पर करा रहे थे आदिवासियों...

छत्तीसगढ़ में दो पादरी गिरफ्तार, ‘चंगाई सभा’ के नाम पर करा रहे थे आदिवासियों का ईसाई धर्मांतरण, पकड़ाने पर कहा – ‘आराधना कर रहे थे’

इसी वीडियो में आरोपित पादरी क्रिस्टोफर तिर्की ने धर्मांतरण के आरोपों से इंकार करते हुए कहा, "हम तो चर्च में दुआ-प्रार्थना बहुत लंबे समय से कर रहे हैं।"

छत्तीसगढ़ की जशपुर पुलिस ने धर्मान्तरण के आरोप में 2 पादरी गिरफ्तार किए गए हैं। इन आरोपितों पर हिन्दुओं का धर्म परिवर्तन करवाने का आरोप लगा है। इस मामले की शिकायत विश्व हिन्दू परिषद ने की थी। घटना रविवार (27 मार्च) की बताई जा रही है।

जशपुर के डिप्टी SP मनीष कुंवर के मुताबिक, “कुछ लोग आ कर ये सूचना दिए थे कि उनके गाँव में कुछ हिन्दू पक्ष को बरगलाया जा रहा है। इसी के साथ एक लिखित शिकायत भी दी गई थी। इसमें दोनों पॉस्टरों के खिलाफ ग्रामीणों के लिए चंगाई सभा करने का आरोप लगाया गया था। मौके पर हिन्दू संगठनों के जाने की भी सूचना दी गई थी। सूचना पर जा कर हमने इन्हे गिरफ्तार कर के न्यायालय में पेश किया है। दोनों पर धारा 295 – A, 34 IPC के साथ धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम की धारा 4 के तहत केस दर्ज हुआ है।”

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गिरफ्तार पहले पादरी का नाम क्रिस्टोफर तिर्की है। वह बगिया ग्राम पँचायत के भालुटोला इलाके में स्थानीय निवासी दूसरे पादरी ज्योति प्रकाश टोप्पो के घर एक प्रार्थना सभा करवाने गया था। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साईं भी इसी गाँव के रहने वाले हैं। विश्व हिन्दू परिषद कार्यकर्ताओं के मुताबिक इस सभा में कँवर जनजाति के 25 परिवारों के लगभग 68 लोग मौजूद थे। प्रार्थना सभा को धर्मान्तरण का प्रयास बताते हुए VHP कार्यकर्ताओं ने पुलिस में शिकायत की। पुलिस ने दोनों आरोपितों को कोर्ट में पेश करते हुए न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया है।

इस घटना के एक वीडियो में स्थानीय लोगों को पादरियों से नोकझोंक करते देखा जा सकता है। एक व्यक्ति ने पादरियों से कहा, “आप अपने धर्म स्थल में जाईये पूजा करिए, लेकिन हिन्दुओं को बुला कर ये काम मत करिए।”

वही इसी वीडियो में आरोपित पादरी क्रिस्टोफर तिर्की ने धर्मांतरण के आरोपों से इंकार करते हुए कहा, “हम तो चर्च में दुआ-प्रार्थना बहुत लंबे समय से कर रहे हैं। हमारी सभा में ईसाई धर्म के लोगों के अलावा कँवर समुदाय के लोग भी थे।” वहीं दूसरे पादरी ज्योति प्रकाश टोप्पो ने कहा, “धर्म तो आराधना कर रहे थे। कंवर समुदाय के लोग जो आस्था रखते थे वो भी थे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के गाँव के लोग भी मौजूद थे।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जाकिर और शाकिर ने रात के अंधेरे में जगन्नाथ मंदिर में फेंका गाय का कटा सिर: रतलाम में हंगामे के बाद पुलिस ने दबोचा,...

रतलाम के भगवान जगन्नाथ मंदिर में गाय का मांस फेंककर अपवित्र करने के आरोप में पुलिस ने जाकिर और शाकिर को गिरफ्तार किया है।

NSA, तीनों सेनाओं के प्रमुख, अर्धसैनिक बलों के निदेशक, LG, IB, R&AW – अमित शाह ने सबको बुलाया: कश्मीर में ‘एक्शन’ की तैयारी में...

NSA अजीत डोभाल के अलावा उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा, तीनों सेनाओं के प्रमुख के अलावा IB-R&AW के मुखिया व अर्धसैनिक बलों के निदेशक भी मौजूद रहेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -