Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाज3 बेटी है, बेटा हो नहीं रहा… बाजार से 9 महीने का बच्चा चुरा...

3 बेटी है, बेटा हो नहीं रहा… बाजार से 9 महीने का बच्चा चुरा लाई राहत जहाँ, अम्मी रोशन जहाँ ने भी दिया साथ: 600+ CCTV की जाँच कर पुलिस ने दबोचा

दोनों ने बाजार में अपने 9 महीने के बच्चे को लेकर घूम रहीं दो छोटी बच्चियों को निशाना बनाया। महिलाओं ने बच्चियों को झाँसे में लेकर उनसे बच्चा चुराने की योजना बनाई। महिलाओं ने पहले बच्चियों को गोलगप्पे खिलाए और जब उन्हें इससे तीखा लगा तो पैसे देकर लस्सी पीने भेज दिया।

उत्तर प्रदेश के कानपुर में दो महिलाओं ने एक बच्चा चोरी कर लिया। बच्चा चोरी करने वाली दोनों महिलाएँ माँ-बेटी हैं। बच्चा चुराने के पीछे बेटे की चाहत का मामला सामने आया है। पुलिस बच्चे को सकुशल बरामद कर असली अभिभावकों को सौंप दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कानपुर की राहत जहाँ के तीन बेटियाँ हैं। उसे एक बेटे की इच्छा थी। बेटा ना होने के कारण उसने लड़का गोद लेने की कोशिश की जिसमें वह सफल नहीं हुई। इसके बाद उसने अपनी माँ रोशन जहाँ को इस विषय में बताया। दोनों ने इसके बाद चोरी की योजना बनाई।

दोनों ने कानपुर के बेकनगंज बाजार में अपने 9 महीने के बच्चे को लेकर घूम रहीं दो छोटी बच्चियों को निशाना बनाया। महिलाओं ने बच्चियों को झाँसे में लेकर उनसे बच्चा चोरी करने की योजना बनाई। महिलाओं ने पहले बच्चियों को गोलगप्पे खिलाए और जब उन्हें इससे तीखा लगा तो पैसे देकर लस्सी पीने भेज दिया।

महिलाओं ने बच्चियों से बच्चे को ले लिया। इसके बाद जब बच्चियाँ वहाँ से चली गईं तो दोनों वहाँ से रफूचक्कर हो गईं। इसके बाद बच्चियों ने अपने घर में यह बात बताई। जिस बच्चे की चोरी हुई, उसके अभिभावकों ने पुलिस के पास इस मामले की धिकय्त दर्ज करवाई।

पुलिस इसके बाद बच्चे की तलाश में जुट गई। पुलिस ने इसके लिए आठ टीमों को काम पर लगाया। इसके बाद उस इलाके के लगभग 600 CCTV की जाँच की गई। CCTV की मदद से पुलिस ने महिलाओं की पहचान की और उनके पते तक पहुँची। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस की जाँच में यह सामने आया है कि राहत जहाँ ने घर ले जाकर अपने पति से यह बताया कि वह यह बच्चा खरीद कर लाई है। पति ने इस विषय में तफ्तीश नहीं की। वहीं दोनों महिलाओं ने कार्रवाई के डर से अब बताया है कि उन्हें यह बच्चा सड़क पर मिला, जिसे वह उठा लाईं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -