Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजमहाकालेश्वर की भस्म आरती में फर्जी आधार कार्ड दिखाकर घुसा मोहम्मद यूनुस मुल्ला, गर्लफ्रेंड...

महाकालेश्वर की भस्म आरती में फर्जी आधार कार्ड दिखाकर घुसा मोहम्मद यूनुस मुल्ला, गर्लफ्रेंड भी थी साथ : गिरफ्तार

गिरफ्तार शख्स की पहचान कर्नाटक के मोहम्मद यूनुस मुल्ला के रूप में हुई है। वह अपनी प्रेमिका खुशबू यादव के साथ उज्जैन से आज सुबह महाकालेश्वर मंदिर में होने वाली भस्म आरती में शामिल होने के लिए आया था।

मध्य प्रदेश के उज्जैन (Ujjain) में स्थित महाकालेश्वर मंदिर (Mahakaleshwar Temple) की भस्म आरती में बुधवार (15 दिसंबर 2021) सुबह फर्जी आईडी (Fake ID) दिखाकर एक मुस्लिम शख्स अंदर घुस गया। उसके साथ उसकी हिंदू प्रेमिका भी थी, जिसने उसे मंदिर में प्रवेश करवाने में मदद की थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस ने मंदिर समिति की शिकायत के आधार पर उस शख्स से पूछताछ करने के बाद उसे आईपीसी की धारा 420 के तहत गिरफ्तार कर लिया है।

गिरफ्तार शख्स की पहचान कर्नाटक के मोहम्मद यूनुस मुल्ला के रूप में हुई है। वह अपनी प्रेमिका खुशबू यादव के साथ उज्जैन से आज सुबह महाकालेश्वर मंदिर में होने वाली भस्म आरती में शामिल होने के लिए आया था। मुल्ला ने अभिषेक दुबे नाम के फर्जी आधार कार्ड से बुकिंग कराई थी। दोनों मंदिर में वीआईपी गेट नंबर 6 से दाखिल हुए और वीआईपीज के लिए रिजर्व जगह पर बैठ गए। इस दौरान मंदिर के कर्मचारियों को उन पर संदेह हुआ और उन्होंने युवक से पूछताछ की। फिर उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

साभार: वन इंडिया

इस मामले की जाँच सीएसपी पल्लवी शुक्ला कर रही हैं। उन्होंने बताया कि यूनुस के साथ आई उसकी प्रेमिका के भाई का नाम अभिषेक दुबे है। यूनुस उसी के आधार कार्ड के जरिए भस्म आरती में शामिल हुआ था। लड़की ने यूनुस को अपना भाई बताकर एंट्री दिलाई थी। दोनों महाकाल मंदिर के पास एक होटल में रुके हुए थे। वहाँ दोनों ने अपना सही आधार कार्ड दिखाया था। जब होटल कर्मचारियों को उन दोनों पर शंका हुईं, उन्होंने पुलिस को मामले की सूचना दी। इसके बाद मंदिर समिति से सूचना मिलने के बाद पुलिस ने मुल्ला को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इस मामले पर जाँच शुरू कर दी गई है। बता दें कि अखाड़ा परिषद के पूर्व महामंत्री अवधेशपुरी महाराज ने इस मामले को गंभीर बताते हुए इससे जुड़े सभी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की माँग की है। 

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -