Thursday, June 20, 2024
Homeदेश-समाजभारत लाकर हिंदू नामों से विदेश भेजे जाते थे बांग्लादेशी और रोहिंग्या मुस्लिम: एयर...

भारत लाकर हिंदू नामों से विदेश भेजे जाते थे बांग्लादेशी और रोहिंग्या मुस्लिम: एयर इंडिया का स्टाफ करता था मदद, यूपी ATS का खुलासा

अजय फर्जी दस्तावेजों के सहारे विदेश भेजे जाने वाले हर व्यक्ति पर 15 हजार रुपये मिलते थे। इस पैसे में कई अन्य कर्मचारी भी हिस्सा बँटवाते थे। इस मामले में एक अन्य आरोपित गुरप्रीत है, जो लंदन स्थित पासपोर्ट ऑफिस में काम करता है।

उत्तर प्रदेश ATS ने हिन्दू नाम से भारतीय लोगों के फर्जी दस्तावेज लगाकर बांग्लादेशी और रोहिंग्या मुसलमानों को विदेश भेजने वाले रैकेट का पर्दाफाश किया है। ATS ने इस रैकेट से जुड़े एक आरोपित को सहारनपुर से गिरफ्तार किया है। आरोपित का नाम अजय घिल्डियाल है, जो एयर इंडिया के कस्टमर केयर में काम करता है। पुलिस ने यह जानकारी 19 नवम्बर 2021 (शुक्रवार) को दी है।

अजय दिल्ली के इंदिरा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर साल 2016 से कार्यरत है। अजय देहरादून में पटेल नगर थाना क्षेत्र स्थित रतनपुर नया गाँव का रहने वाला है। अजय पर अब तक लगभग 40 लोगों को फर्जी दस्तावेजों के सहारे स्पेन, ब्रिटेन सहित अन्य यूरोपीय देशों भेजे जाने का आरोप है। पुलिस इस मामले में और जानकारी जुटा रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 11 नवंबर 2021 (गुरुवार) को ATS ने बांग्लादेश और म्यांमार से मुस्लिमों को भारत में हिन्दू नाम से प्रवेश करवाने वाले रैकेट का खुलासा किया था। इस मामले में मानव तस्करी गिरोह का मददगार विक्रम को गाज़ियाबाद और समीर मंडल को भी पश्चिम बंगाल के 24 परगना से गिरफ्तार किया गया था। वह ट्रैवल एजेंसी चलाता है। ये आरोपित बांग्लादेशियों और रोहिंग्या मुसलमानों को भारत की नागरिकता दिलाने का भी काम करते थे। इसी भारतीय नागरिकता के सहारे बांग्लादेशियों और रोहिंग्याओं को विदेश भेजा जाता था। विक्रम से हुई पूछताछ के बाद उसके सहयोगी अजय घिल्डियाल को पकड़ा गया है।

आइजी एटीएस जीके गोस्वामी के मुताबिक, अजय फर्जी दस्तावेजों के सहारे विदेश भेजे जाने वाले हर व्यक्ति पर 15 हजार रुपये मिलते थे। इस पैसे में कई अन्य कर्मचारी भी हिस्सा बंटवाते थे, जो एयरलाइंस ड्यूटी में तैनात हैं। इस मामले में एक अन्य आरोपित गुरप्रीत है। गुरप्रीत लंदन पासपोर्ट ऑफिस में काम करता है। गुरप्रीत अजय को फोन पर निर्देश दिया करता था। विस्तृत पूछताछ के लिए ATS ने अजय को 10 दिन के रिमांड पर लिया है। ATS ने अन्य आरोपित विक्रम का भी रिमांड लिया है। इस दौरान दोनों आरोपितों को आमने-सामने बैठा कर सवाल-जवाब किए जाएँगे।

पकड़े गए आरोपित रोहिंग्याओं और बांग्लादेशियों का हिन्दू नाम से आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र बनवाते थे। बाद में इसी आधार पर फर्जी नाम-पतों पर पासपोर्ट बनवाए जाते थे। मानव तस्करी का यह गिरोह घुसपैठियों की पहचान बदलकर विदेश भेजने के लिए आरटीपीसीआर जाँच की फर्जी रिपोर्ट व जाली वैक्सीनेशन रिपोर्ट भी तैयार करवाता था। बताया जा रहा है कि अभी इस रैकेट से जुड़े कई अन्य लोगों का खुलासा हो सकता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

UGC-NET जून 2024 परीक्षा रद्द, 18 जून को 11.21 लाख छात्रों ने दी थी परीक्षा: साइबर क्राइम सेल से मिला सेंधमारी का इनपुट,...

परीक्षा प्रक्रिया की उच्चतम स्तर की पारदर्शिता और पवित्रता सुनिश्चित करने के लिए भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि यूजीसी-नेट जून 2024 परीक्षा रद्द की जाए।

मंच से उड़ा रहे थे भगवान राम और माता सीता का मजाक, नीचे से बज रही थी सीटी: एक्शन में IIT बॉम्बे, छात्र पर...

भगवान का मजाक उड़ाने वाले छात्रों के खिलाफ 1.20 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया। वहीं कुछ छात्रों को हॉस्टल से निलंबित भी किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -