Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजCM योगी का फर्जी सलाहकार बनकर अब्दुल सलीम ने यूपी पुलिस पर झाड़ा रौब:...

CM योगी का फर्जी सलाहकार बनकर अब्दुल सलीम ने यूपी पुलिस पर झाड़ा रौब: गिरफ्तार, हनीफ और साहिल की तलाश तेज

लखनऊ के डॉ अब्दुल सलीम और हनीफ ने अपनी बहन के ससुराल वालों को सबक सिखाने के लिए सीएम के सलाहकार बनकर पुलिस को बेवकूफ बनाने का प्रयास किया। छानबीन के बाद डॉ अब्दुल सलीम को यूपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। अब उसके ख़िलाफ़ विधिक कार्रवाई की जा रही है।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का नाम इस्तेमाल करके पुलिस को फर्जी निर्देश दिए जाने और उन पर अनुचित दबाव बनाने का मामला सामने आया है। खबर है कि लखनऊ के डॉ अब्दुल सलीम और हनीफ ने अपनी बहन के ससुराल वालों को सबक सिखाने के लिए सीएम के सलाहकार बनकर पुलिस को बेवकूफ बनाने का प्रयास किया। हालाँकि, शक होते ही पुलिस ने आरोपित को पकड़ लिया और पूछताछ में सारी जानकारी निकाली।

रायबरेली पुलिस ने अपने ट्विटर हैंडल पर बताया कि 22 जनवरी 2021 को थाने में एक कॉल आया, जिसने अपनी पहचान मुख्यमंत्री के सलाहकार के रूप में बताई। पुलिस पर दबाव बनाया गया कि डॉ सलीम व उनके परिजन अपनी बहन के प्रकरण में मिलने आएँगे जिसमें उनके प्रार्थना पत्र पर कठोर कार्रवाई की जाए।

इस कॉल के बाद जब पुलिस ने डॉ सलीम के भाई हनीफ की बात सुन ली और शिकायत लिख ली। तब, उसी नंबर से दोबारा कॉल आया और पुलिस पर अनुचित ढंग से दबाव बनाते हुए कहा गया कि आरोपितों को धारा 376 के तहत गिरफ्तार करके जेल भेजा जाए। वरना कोतवाली प्रभारी और विवेचक को हटा दिया जाएगा।

पुलिस पर विधि विरुद्ध, अनियमित, अनुचित, अनावश्यक दबाव बनाता देख अधिकारी को शक हुआ और पुष्टि के लिए कार्यालय में जानकारी की गई। वहाँ से पता चला कि इस संबंध में कोई फोन नहीं किया गया। बस पुलिस ने फौरन नंबर सर्विलांस पर लगाया और नंबर की डिटेल का पता लगाया।

पड़ताल में फर्जी दस्तावेजों से लिए गए नंबरों का खुलासा हुआ और उप निरीक्षक रविन्द्र सोनकर की शिकायत पर विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। छानबीन के बाद डॉ अब्दुल सलीम गिरफ्तार हुआ। अब उसके ख़िलाफ़ विधिक कार्रवाई की जा रही है।

पूछताछ में अभियुक्त ने बताया कि उसने अपने भाई अब्दुल हनीफ के साथ मिल कर षड्यंत्र रचा था। इसमें सैयद नसर नफीस उर्फ साहिल ने उनसे कहा था कि वो मुख्यमंत्री का सलाहकार बनकर उन लोगों का काम करवा देगा। बता दें कि यूपी सीएम के फर्जी सलाहकार के पास से पुलिस ने 1 मोबाइल, 2 सिम और 25 हजार रुपए बरामद किए है। वहीं एसपी ने फरार आरोपित सैयद नसर नफीस उर्फ साहिल के ऊपर 25 हजार रुपए का ईनाम भी घोषित किया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

माँ का किडनी ट्रांसप्लांट, खुद की कोरोना से लड़ाई: संघर्ष से भरा लवलीना का जीवन, ₹2500/माह में पिता चलाते थे 3 बेटियों का परिवार

टोक्यो ओलंपिक में मेडल पक्का करने वाली लवलीना बोरगोहेन के पिता गाँव के ही एक चाय बागान में काम करते थे। वो मात्र 2500 रुपए प्रति महीने ही कमा पाते थे।

फ्लाईओवर के ऊपर ‘पैदा’ हो गया मज़ार, अवैध अतिक्रमण से घंटों लगता है ट्रैफिक जाम: देश की राजधानी की घटना

ताज़ा घटना दिल्ली के आज़ादपुर की है। बड़ी सब्जी मंडी होने की वजह से ये इलाका जाना जाता है। यहाँ के एक फ्लाईओवर पर अवैध मजार बना दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,105FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe