Saturday, December 4, 2021
Homeदेश-समाजCOVID-19 की जाँच में 11 लाख का आँकड़ा पार कर अग्रणी राज्य बना UP,...

COVID-19 की जाँच में 11 लाख का आँकड़ा पार कर अग्रणी राज्य बना UP, सरकार ने दिए डोर टू डोर मेडिकल स्क्रीनिंग के निर्देश

"कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए मेडिकल स्क्रीनिंग और टेस्टिंग सबसे अहम माध्यम है। आपकी सरकार ने घर-घर मेडिकल स्क्रीनिंग करने के निर्देश दिए हैं। अगर किसी में लक्षण मिलेंगे तो उनका सैम्पल लेकर टेस्ट किया जाएगा।"

कोरोना वायरस के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने तय किया है कि घर-घर से संक्रमितों को ढूँढा जाएगा। इसके लिए डोर टू डोर कैंपेन चलाने का निर्देश दिया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि घर-घर मेडिकल स्क्रीनिंग में संदिग्ध लक्षण वालों के सैंपल लेकर जाँच कराएँ और अस्वस्थ पाए जाने पर समुचित उपचार की व्यवस्था की जाए।

उन्होंने कहा कि प्रतिदिन 52 हजार जाँच की व्यवस्था की जाए। इसमें आरटीपीसीआर से 30 हजार, रैपिड एंटीजन टेस्ट से 20 हजार टेस्ट और ट्रूनैट मशीन से 2 हजार रोजाना जाँच की व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए औद्योगिक इकाइयाँ चलवाई जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस बाबत ट्वीट करते हुए लिखा, “कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए मेडिकल स्क्रीनिंग और टेस्टिंग सबसे अहम माध्यम है। आपकी सरकार ने घर-घर मेडिकल स्क्रीनिंग करने के निर्देश दिए हैं। अगर किसी में लक्षण मिलेंगे तो उनका सैम्पल लेकर टेस्ट किया जाएगा। आप सब जागरूक रहें, सतर्क रहें। बचाव ही इसका उपचार है।”

उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह), अवनीश अवस्थी ने शनिवार (जुलाई 11, 2020) को प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा, “मेडिकल स्क्रीनिंग टास्क के लिए 1.40 लाख से अधिक टीमों का गठन किया गया है। मुख्यमंत्री ने परीक्षण क्षमता को लगातार बढ़ाने के निर्देश दिए हैं, इसलिए राज्य में आरटीपीआरसी परीक्षण के माध्यम से परीक्षण क्षमता 30,000 प्रति दिन तक पहुँच गई है। अब प्रति दिन 15,000 से 20,000 एंटीजन टेस्ट आयोजित किए जाएँगे और ट्रू नेट मशीन के माध्यम से प्रति दिन 2,000 परीक्षण किए जाएँगे।”

जानकारी के मुताबिक प्रति दिन लगभग 40,000 कोरोना वायरस परीक्षण किए जाने के साथ ही उत्तर प्रदेश कोविड परीक्षणों में भारत के अग्रणी राज्यों के समूह में शामिल हो गया। बता दें कि राज्य में टेस्ट की संख्या 650 गुना बढ़ गए हैं।

अतिरिक्त मुख्य सचिव (चिकित्सा और स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि राज्य में कोविड परीक्षण तेज गति से किया जा रहा है।

उन्होंने रविवार को संवाददाताओं से कहा, “शनिवार को एक दिन में अधिकतम 39,623 सैंपलों की जाँच की गई। इस तरह, COVID-19 की जाँच में 11 लाख का आँकड़ा पार करते हुए, राज्य में अब तक कुल 11,56,089 नमूनों का परीक्षण किया गया है। इसके साथ, राज्य कोरोना वायरस परीक्षणों में देश के अग्रणी राज्यों में शामिल हो गया है।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘आतंक का कोई मजहब नहीं होता’ – एक आदमी जिंदा जला कर मार डाला गया और मीडिया खेलने लगी ‘खेल’

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फैलाया जा रहा प्रोपगेंडा जिन स्थानीय खबरों पर चल रहा है उनमें बताया जा रहा है कि ये सब अराजक तत्वों ने किया था, इस्लामी भीड़ ने नहीं।

‘महिला-पुरुष की मालिश का मतलब यौन संबंध नहीं होता, इस पर कार्रवाई से परहेज करें’: HC ने दिल्ली सरकार को फटकारा

दिल्ली सरकार स्पा में क्रॉस-जेंडर मसाज पर रोक लगा चुकी है। इसके अलावा रिहायशी इलाकों में नए मसाज सेंटर खोलने पर भी रोक लगा दी गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,510FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe