Tuesday, May 28, 2024
Homeदेश-समाजबुलडोजर के डर से तोता बन गया वाहन चोर गिरोह का सरगना नासिर: ₹2...

बुलडोजर के डर से तोता बन गया वाहन चोर गिरोह का सरगना नासिर: ₹2 करोड़ का माल बरामद करवाया, साथियों के नाम भी उगले

मुरादाबाद पुलिस के मुताबिक नासिर इलेक्ट्रिशियन और फुरकान ऑटो ड्राइवर बन शिकार की तलाश करते थे।

उत्तर प्रदेश की मुरादाबाद पुलिस ने एक वाहन चोर गिरोह के सरगना को पकड़ा। पूछताछ में वह अपने साथियों और चोरी के सामान की जानकारी नहीं दे रहा था। कुछ देर बाद पुलिस ने उसके घर पर बुलडोजर चलवाने की चेतावनी दी। बुलडोजर का नाम सुनते ही आरोपित ने पुलिस के सामने सारे राज उगल दिए। आरोपित का नाम नसीरुद्दीन उर्फ़ नासिर है। मामला 12 अप्रैल 2022 (मंगलवार) का है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक SHO इंस्पेक्टर रंजन शर्मा द्वारा बुलडोजर मँगाने की बात सुनते ही नासिर ने 10 कार और 40 वाहनों के कटे हुए पार्ट्स और करीब दो करोड़ रुपए का चोरी का माल बरामद करवा दिया। इसके साथ उससे मिली सूचना पर उसकी गैंग के 6 अन्य सदस्य भी पकड़े गए। अब तक पुलिस ने इस गिरोह के 12 सदस्यों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। ये सभी आरोपित पेशवर अपराधी हैं। इनके खिलाफ उत्तर प्रदेश और दिल्ली के कई थानों में FIR दर्ज हैं।

आरोपितों के क्राइम रिकॉर्ड (साभार – मुरादाबाद पुलिस)

इलेक्ट्रिशियन और ड्राइवर बन खोजते थे शिकार

मुरादाबाद पुलिस द्वारा शेयर किए गए समाचार के मुताबिक नासिर इलेक्ट्रिशियन और फुरकान ऑटो ड्राइवर बन शिकार की तलाश करते थे। नासिर घरों में AC सही करने के बहाने जाता था। इस दौरान वो घरों के बाहर खड़ी गाड़ियों को देख कर उसमें अपने द्वारा चुराए गए पार्ट्स सस्ते दामों में लगवाने की सलाह देता था। वहीं फुरकान ऑटो ड्राइवर के रूप में अन्य ड्राइवरों को चोरी के सामान सस्ते दामों में खरीदने का ऑफर देता था।

नासिर 2 वर्षों से गाँव के बाहर जंगल में बनाए गोदाम में चोरी के वाहनों को काटकर बेचता था। नासिर ने पुलिस को अपने गिरोह के मुनवा उर्फ मुन्ना, अली अहमद उर्फ गुप्ता और रिजवान के बारे में बताया। इसी के साथ पुलिस ने जाँच के दौरान अमरोहा जिले के शाहिद, रियाजुल, इमरान, फुरकान और अरमान को गिरफ्तार कर लिया। SP सिटी अखिलेश भदौरिया के मुताबिक इस गिरोह के 6 अन्य सदस्य अभी फरार हैं। उनकी तलाश की जा रही है। फरार आरोपितों के नाम शाने आलम, मुनवा उर्फ़ मुन्ना, अली अहमद उर्फ़ गुप्ता, रिज़वान, सालीम और जुम्मा हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

2014 – प्रतापगढ़, 2019 – केदारनाथ, 2024 – कन्याकुमारी… जिस शिला पर विवेकानंद ने की थी साधना वहीं ध्यान धरेंगे PM नरेंद्र मोदी, मतगणना...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सातवें चरण के लिए प्रचार-प्रसार का शोर थमने के साथ थी 30 मई को ही कन्याकुमारी पहुँच जाएँगे, 4 जून को होनी है मतगणना।

पंजाब में Zee मीडिया के सभी चैनल ‘बैन’! मीडिया संस्थान ने बताया प्रेस की आज़ादी पर हमला, नेताओं ने याद किया आपातकाल

जदयू के प्रवक्ता KC त्यागी ने इसकी निंदा करते हुए कहा कि AAP का जन्म मीडिया की फेवरिट संस्था के रूप में हुआ था, रामलीला मैदान में संघर्ष के दौरान मीडिया उन्हें खूब कवर करता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -