Monday, April 15, 2024
Homeराजनीतिमुख़्तार अंसारी के धमकीबाज बेटे अब्बास पर कार्रवाई शुरू: भारी पड़ेगा 'हिसाब-किताब' वाला बयान,...

मुख़्तार अंसारी के धमकीबाज बेटे अब्बास पर कार्रवाई शुरू: भारी पड़ेगा ‘हिसाब-किताब’ वाला बयान, यूपी पुलिस ने लगाई कई धाराएँ

हालाँकि, अब भाजपा की प्रदेश में दोबारा से पूर्ण बहुमत के साथ वापसी हो चुकी है तो पुलिस ने अब्बास के खिलाफ अपना शिकंजा कसते हुए उनके ऊपर नई धाराएँ लगा दी हैं।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा को लेकर हिसाब-किताब लेने की बात करने वाला भड़काऊ भाषण देने के मामले में गैंगस्टर मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी पर पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। इस मामले में पुलिस ने अब अपने जाँच के दायरे को आगे बढ़ा दिया है। अब्बास के खिलाफ कुछ और धाराएँ भी लगाई गई हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, अब्बास अंसारी मऊ की सदर सीट से सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी की टिकट पर चुनाव लड़ रहे थे। 3 मार्च 2022 को पहाड़पुरा मैदान में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा था कि अखिलेश यादव से उनकी बात हो गई है। सपा के चुनाव जीतते ही अगले 6 महीने के लिए सभी अधिकारियों का ट्रांसफर रोककर सभी के साथ हिसाब-किताब किया जाएगा। इस घटना के बाद अब्बास अंसारी पर एक्शन लेते हुए चुनाव आयोग ने 24 घंटे के लिए उनके चुनाव प्रचार पर न केवल रोक लगा दी, बल्कि उनके खिलाफ 171 एच और इंडियन पीनल कोड की धारा 506 के तहत केस दर्ज किया था।

पुलिस ने लगाई नई धाराएँ

हालाँकि, अब भाजपा की प्रदेश में दोबारा से पूर्ण बहुमत के साथ वापसी हो चुकी है तो पुलिस ने अब्बास के खिलाफ अपना शिकंजा कसते हुए उनके ऊपर नई धाराएँ लगा दी हैं। पुलिस ने 186 (सरकारी काम में बाधा), 189(लोक सेवक को धमकी), 153a (किसी वर्ग विशेष के खिलाफ बयान या अशांति का प्रयास) और 120 B (आपराधिक षड्यंत्र) को जोड़ा गया है।

गौरतलब है कि मऊ की सदर सीट मुख्तार अंसारी की परंपरागत सीट रही है और वो इस वक्त जेल में है। इस कारण उसका बेटा अब्बास अंसारी सदर सीट से चुनावी मैदान में थे। वो चुनाव भी जीते, लेकिन सरकार बीजेपी बनी। कानून व्यवस्था के मुद्दे पर योगी सरकार का सख्त रवैया उन्हें भारी पड़ सकता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘इलेक्टोरल बॉन्ड्स सफलता की कहानी, पता चलता है पैसे का हिसाब’: PM मोदी ने ANI को इंटरव्यू में कहा – हार का बहाना ढूँढने...

'एक राष्ट्र एक चुनाव' के प्रतिबद्धता जताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्होंने संसद में भी बोला है, हमने कमिटी भी बनाई हुई है, उसकी रिपोर्ट भी आई है।

‘कॉन्ग्रेस देती है सनातन के खिलाफ ज़हर उगलने वालों का साथ, DMK का जन्म ही इसीलिए’: ANI से इंटरव्यू में बोले PM मोदी –...

पीएम मोदी ने कहा कि 2019 में भी वो काम करके चुनाव मैदान में गए थे और जब वो वापस आए तो अनुच्छेद 370, ट्रिपल तलाक से बहनों को मुक्ति, बैंकों का मर्जर - ये सब काम उन्होंने 100 दिन के अंदर कर दिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe