Wednesday, August 4, 2021
Homeराजनीतियूपी के इन 7 जिलों में 18-44 साल के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू, CM...

यूपी के इन 7 जिलों में 18-44 साल के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू, CM योगी ने कहा- संक्रमण में कमी, रिकवरी रेट बेहतर होना सुखद

अधिकारिक जानकारी के मुताबिक जिन सात जिलों में टीकाकरण की शनिवार को शुरुआत हुई, उनमें लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर, मेरठ और बरेली शामिल हैं। उन्होंने कहा था कि पहले चरण में उन सात जिलों में टीकाकरण होगा जहाँ नौ हजार से अधिक ऐक्टिव केस हैं।

उत्तर प्रदेश में शनिवार से 18-44 आयु वर्ग के लोगों का कोविड वैक्सिनेशन शुरू हो गया। पहले चरण में सात जिलों को वैक्सिनेशन में शामिल किया गया है। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ लखनऊ के अवंतीबाई अस्पताल पहुँचे और यहाँ उन्होंने वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत की।

सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि फ्री टीका उपलब्ध कराने के अभियान की मुख्यमंत्री रात में निगरानी करते रहे और उन्होंने शुक्रवार देर शाम सरकारी विमान भेजकर हैदराबाद से टीके की खेप मँगवाई।

इसलिए चुने गए पहले ये 7 जिले

अधिकारिक जानकारी के मुताबिक जिन सात जिलों में टीकाकरण की शनिवार को शुरुआत हुई, उनमें लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर, मेरठ और बरेली शामिल हैं। उन्होंने कहा था कि पहले चरण में उन सात जिलों में टीकाकरण होगा जहाँ नौ हजार से अधिक एक्टिव केस हैं।

सात जिलों के बाद शामिल होंगे अन्य जिले

अवंतीबाई अस्पताल पहुँचे योगी ने कहा कि टीकाकरण के लिए जो सॉफ्टवेयर बना है, उसका परीक्षण भी इन जिलों में किया जाएगा और उसके पश्चात अन्य जिलों में भी इसे विस्तारित किया जाएगा।

1.01 करोड़ ने ली पहली खुराक

योगी ने कहा कि देश में कोविड रोधी टीकाकरण शुरू होने के बाद से राज्य में अब तक 1.23 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं। इनमें 1.01 करोड़ वे लोग हैं जिन्होंने पहली खुराक ली है और 22.33 लाख से अधिक लोगों ने दूसरी खुराक ली है।

बनाए गए 85 अलग केंद्र

यूपी सीएम ने कहा कि राज्य में 45 वर्ष के लिए 2500 केंद्रों पर तीसरे चरण का वैक्सिनेशन शुरू हो चुका है। उन्होंने कहा कि 18 साल से अधिक उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू किया है। पहले चरण में हमने उन 7 जनपदों को लिया है जिनमें पॉजिटिविटी रेट और सक्रिय मामले सर्वाधिक हैं। इन 7 जनपदों में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए अलग से 85 केंद्र बनाए हैं।

5 करोड़ वैक्सीन के लिए ग्लोबल टेंडर

योगी ने कहा कि हमें 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए भी वैक्सीन उपलब्ध हो गई है, हमने सीधे कंपनियों से वैक्सीन खरीदी है। प्रदेश में हम 5 करोड़ वैक्सीन का ग्लोबल टेंडर भी प्रारंभ कर चुके हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य में संक्रमण के नए मामलों में कमी और रिकवरी रेट बेहतर होना सुखद है। हालाँकि लोगों को कोविड बिहेवियर को जीवनशैली का हिस्सा बनाना चाहिए। सीएम योगी ने टीम-9 के साथ कोरोना की स्थिति की समीक्षा करते हुए शनिवार (मई 1, 2021) को कहा कि पिछले 24 घंटो में कोविड के 30317 नए केस आए जबकि 38826 लोग कोरोना से स्वस्थ हो चुके हैं। यह स्थिति सुखद है। प्रदेश में संक्रमण कम हो रहा है और रिकवरी बेहतर हो रही है। हमें इसी प्रकार टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट की नीति को प्रभावी ढंग से लागू रखना होगा। यह बहुत जरूरी है कि प्रदेशवासी कोविड बिहेवियर को जीवनशैली का हिस्सा बनाएँ।

उन्होंने कहा कि बीते 24 घंटों में प्रदेश में 2,66,326 कोविड टेस्ट संपन्न हुए हैं। इसमें 1,14,172 टेस्ट केवल आरटीपीसीआर माध्यम से हुए हैं। अब तक उत्तर प्रदेश में 4.10 करोड़ टेस्ट हो चुके हैं। यह देश के सभी राज्यों में सर्वश्रेष्ठ है। सीएचसी और पीएचसी स्तर पर एंटीजन टेस्ट बढ़ाए जाने की जरूरत है।

इसी के साथ-साथ प्रदेश में 2500 केंद्रों पर 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण पूर्ववत जारी है। उन्होंने कहा कि कोविड से लड़ाई में टीकाकरण अहम है। देश मे सर्वाधिक टीकाकरण उत्तर प्रदेश में हुआ है। नि:शुल्क टीकाकरण की घोषणा करने वाला उत्तर प्रदेश प्रथम राज्य है। हम सभी नागरिकों के वैक्सीनेशन के लिए नियोजित भाव से कार्य कर रहे हैं।

वहीं उत्तर प्रदेश अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने बताया, “प्रदेश में रेमडेसिविर की उपलब्धता को बढ़ाया गया है पहले 20,000 डोज़ प्रतिदिन मिलते थे, कल से यह संख्या 50,000 कर दी जाएगी। ऑक्सीजन की उपलब्धता लगातार बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। कल प्रदेश में 631 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्राप्त हुई।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

राहुल गाँधी ने POCSO एक्ट का किया उल्लंघन, NCPCR ने ट्वीट हटाने के दिए निर्देश: दिल्ली की पीड़िता के माता-पिता की फोटो शेयर की...

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने राहुल गाँधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया है और ट्विटर से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe