Friday, April 12, 2024
Homeदेश-समाजमुरादाबाद: डॉक्टरों और पुलिसकर्मियों पर हमला करने वाले चार आरोपितों सहित पाँच निकले कोरोना...

मुरादाबाद: डॉक्टरों और पुलिसकर्मियों पर हमला करने वाले चार आरोपितों सहित पाँच निकले कोरोना पॉजिटिव, प्रशासन में मचा हड़कंप

मंगलवार को आई जाँच रिपोर्ट में नवाबपुरा निवासी 5 पत्थरबाज महफूज अली, फहीम अहमद, सब्लू आजम, असद और दिल्ली निवासी कृष्णा कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जेल प्रशासन ने इसकी पुष्टि की है।

मुरादाबाद में पिछले सप्ताह पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम पर हमला करने वाले पाँच पत्थरबाजों को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इसकी जानकारी मिलते ही जेल प्रशासन के साथ पूरे जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है। इसके बाद जेल और संबंधित थानों को सैनेटाइज करने का काम शुरू हो गया है। नागफनी थाने के सभी पुलिसकर्मियों को क्वारंटाइन कर दिया गया है। वहीं अब सैकड़ों पुलिसकर्मियों को क्वारंटाइन करने पर विचार किया जा रहा है।

मुरादाबाद के नवाबपुरा इलाके में 15 अप्रैल को सर्वे करने गई स्वास्थ्य विभाग और पुलिस की टीम पर स्थानीय लोगों ने पत्थरबाजी कर दी थी। इसके आरोप में गिरफ्तार किए गए 17 लोगों को पुलिस ने जेल भेज दिया था। साथ ही सभी के सैंपल लेकर जाँच के लिए भेज दिए, लेकिन मंगलवार को आई रिपोर्ट में इन्ही में से पाँच पत्थरबाजों को कोरोना पॉजिटिव पाया गया।

इसके बाद प्रशासन ने तत्काल पाँचों को जिला अस्पताल स्थित वार्ड में भर्ती करा दिया। उधर जेल के अन्य बंदियों को एक मॉडर्न पब्लिक स्कूल स्थित अस्थाई जेल में शिफ्ट करने की कार्रवाई की जा रही है। मंगलवार को आई जाँच रिपोर्ट में नवाबपुरा निवासी 5 पत्थरबाज महफूज अली, फहीम अहमद, सब्लू आजम, असद और दिल्ली निवासी कृष्णा कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जेल प्रशासन ने इसकी पुष्टि की है।

जाँच रिपोर्ट सामने आते ही पुलिस प्रशासन के साथ पूरे जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया है। वहीं स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जेल के साथ नागफनी थाने को भी सैनेटाइज किया है और नागफनी के सभी पुलिस स्टाफ को तत्काल क्वारंटाइन कर दिया गया है। वहीं शेष सैकड़ों पुलिसकर्मियों को क्वारंटाइन करने पर विचार किया जा रहा है, क्योंकि जिस समय पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार किया था उस समय कई बड़े पुलिस अधिकारियों के साथ सौ से अधिक पुलिस फोर्स के जवान मौजूद थे।

गौरतलब है कि 15 अप्रैल को नागफनी थाना क्षेत्र के नवाबपुरा इलाके में स्वास्थ्य विभाग की टीम कोरोना वायरस की चपेट में आकर जान गँवाने वाले सरताज अली के करीबियों को क्वॉरंटाइन करने गई डॉक्टरों और पुलिस टीम पर लोगों ने पथराव कर दिया था। इस हमले में तीन डॉक्टर गंभीर रुप से घायल हो गए थे। मामले में तत्काल कार्रवाई करते हुए पुलिस ने 7 महिलाओं सहित 17 लोगों को गिरफ्तार कर दूसरे दिन जेल भेज दिया था।

वहीं डॉक्टरों और पुलिस टीम पर हमला करने के मामले में कारोबारी डिल्लन को मास्टर माइंड माना जा रहा है। इतना ही नहीं मामले का मास्टर माइंड अभी पुलिस की पकड़ से दूर है। इसे देखते हुए पुलिस ने डिल्लन के बारे में जानकारी देने वाले को इनाम देने की घोषणा कर दी है। पुलिस का कहना है कि डिल्लन का पूरा कुनबा मोस्ट वांटेड हो गया है, क्योंकि नवाबपुरा बवाल में कारोबारी डिल्लन के कुनबे ने ही लोगों को भड़काया था।

दरअसल, पूरा कुनबा पत्थरबाजी करते कैमरे में कैद पाया गया था। इससे पहले डिल्लन की पत्नी शमीम बेगम, बेटी शबनम को पुलिस मौके से गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है, लेकिन बेटा शानू उर्फ सलीम, नदीम उर्फ राजू और खुद डिल्लन अन्य बवालियों के साथ फरार है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों को MSP की कानूनी गारंटी देने का कॉन्ग्रेसी वादा हवा-हवाई! वायर के इंटरव्यू में खुली पार्टी की पोल: घोषणा पत्र में जगह मिली,...

कॉन्ग्रेस के पास एमएसपी की गारंटी को लेकर न कोई योजना है और न ही उसके पास कोई आँकड़ा है, जबकि राहुल गाँधी गारंटी देकर बैठे हैं।

जज की टिप्पणी ही नहीं, IMA की मंशा पर भी उठ रहे सवाल: पतंजलि पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, ईसाई बनाने वाले पादरियों के ‘इलाज’...

यूजर्स पूछ रहे हैं कि जैसी सख्ती पतंजलि पर दिखाई जा रही है, वैसी उन ईसाई पादरियों पर क्यों नहीं, जो दावा करते हैं कि तमाम बीमारी ठीक करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe