Friday, October 22, 2021
Homeदेश-समाजयूपी में 24 मई तक कोरोना कर्फ्यू, पंजीकृत पटरी दुकानदारों को ₹1000 मासिक देगी...

यूपी में 24 मई तक कोरोना कर्फ्यू, पंजीकृत पटरी दुकानदारों को ₹1000 मासिक देगी योगी सरकार: 1 करोड़ लोगों को मिलेगा लाभ

योगी सरकार ने शनिवार को कहा कि BPL कार्ड होल्डर और गरीबों को सूखा राशन दिया जाएगा। जिनके कार्ड नहीं बने हैं या नहीं बन पाए हैं उन गरीबों के कार्ड भी बनाएगी साथ ही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार इन्हें 3 महीने का राशन देगी। इससे 15 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा।

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर लॉकडाउन की अवधि बढ़ा दी गई है। पहले यह 17 मई तक थी, जिसे अब बढ़ाकर 24 मई तक कर दिया गया है। शनिवार (मई 15, 2021) शाम योगी मंत्रिमंडल की बैठक में यह फैसला लिया गया। बैठक में यह फैसला लिया गया कि इस दौरान सिर्फ जरूरी सेवाओं पर पाबंदी नहीं रहेगी। लोगों को अस्‍पताल, राशन और मेडिकल स्‍टोर की सुविधा मिलती रहेगी। बैठक के दौरान पंजीकृत पटरी दुकानदारों को 1000 रुपए मासिक देने का फैसला भी लिया गया है। इससे 1 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा।

योगी सरकार ने शनिवार को कहा कि BPL कार्ड होल्डर और गरीबों को सूखा राशन दिया जाएगा। जिनके कार्ड नहीं बने हैं या नहीं बन पाए हैं उन गरीबों के कार्ड भी बनाएगी साथ ही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार इन्हें 3 महीने का राशन देगी। इससे 15 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा।

इससे पहले सरकार ने 17 मई तक राज्य में वीकेंड कोरोना कर्फ्यू बढ़ाया था। लेकिन अभी संक्रमण फैल रहा है और लॉकडाउन की वजह से कोरोना के मामलों में कुछ गिरावट आई है तो सरकार ठिलाई नहीं बरतना चाहती इसलिए ये फैसला लिया गया है। उत्तर प्रदेश में बीते 30 अप्रैल से कोरोना कर्फ्यू लागू है। शुरुआत में सरकार ने इसे तीन दिन के लिए 3 मई तक लगाया था, लेकिन कोविड के तेजी से बढ़े मामलों के बाद इसे 6 मई तक के लिए बढ़ाया गया और फिर इसे 17 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया था।

पिछले 24 घंटे में आए 12,547 नए मामले

हालाँकि राहत की बात यह है कि यूपी में कोविड केस में लगातार कमी आ रही है। साथ ही रिकवर मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है। बीते 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 12,547 नए मामले सामने आए हैं। जबकि 28,404 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं। वहीं, 281 मरीजों की मौत हो गई है। बता दें कि प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 1,77,643 है।

यूपी के शहरी इलाकों में कोरोना मरीजों की संख्‍या कम हो रही है, साथ ही रिकवरी रेट भी बढ़ रहा है। लेकिन गाँवों में तेजी से बढ़ते कोरोना मामले सरकार के माथे पर बल ला रहे हैं। इसलिए यूपी सरकार कोरोना चेन को तोड़ने के लिए लगातार लॉकडाउन अवधि बढ़ाती जा रही है। कोरोना वायरस से लड़ रहे उत्तर प्रदेश में अब ब्लैक फंगस के केस बढ़ने लगे हैं। कानपुर, लखनऊ, मथुरा समेत कई जिलों में ब्लैक फंगस के मामले सामने आए हैं। यूपी में अब तक ब्लैक फंगस से चार से ज्यादा मरीजों की मौत हो चुकी है। बढ़ रहे मामलों को देखते हुए योगी सरकार ने लोगों के लिए एडवाइजरी जारी की है।

कहाँ-कहाँ अटैक करता है ब्लैक फंगस?

विशेषज्ञों ने बताया कि कोविड के बाद ब्लैक फंगस या म्यूकरमाइकोसिस लोगों को घेर रहा है। इस रोग में काले रंग की फंगस नाक, साइनस, आँख और दिमाग में फैलकर उन्हें नष्ट कर रही है और मरीजों की जान पर बन रही है। ब्लैक फंगस के कोई लक्षण नजर आए तो तत्काल सरकारी अस्पताल में या किसी अन्य विशेषज्ञ डॉक्टर को दिखाएँ। नाक, कान, गले, आँख, मेडिसिन, चेस्ट या प्लास्टिक सर्जन विशेषज्ञ को तुरंत दिखाएँ ताकि जल्दी इलाज शुरू हो सके।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कैप्टन अमरिंदर की पाकिस्तानी दोस्त अरूसा आलम के ISI लिंक की होगी जाँच: बीजेपी से जुड़ने की खबरों के बीच चन्नी सरकार का ऐलान

"चूँकि कैप्टन का दावा है कि पंजाब को आईएसआई से खतरा है, इसलिए हम उनकी दोस्त अरूसा आलम के आईएसआई के साथ संबंधों की जाँच करेंगे।"

कैथोलिक कॉलेज में सेक्स कॉम्पिटिशनः लड़कियों से सेक्स करने की लगती होड़, सेक्सुअल एक्ट भी होते थे असाइन

कैथोलिक कॉलेज सेंट जॉन यूनिवर्सिटी के लड़के अपने कॉलेज के सिस्टर कॉलेज सेंट बेनेडिक्ट की लड़कियों को फँसाकर उनके साथ सेक्स करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe