Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाजबेटियों को लेकर बहन के घर से लौट रहे थे पत्रकार विक्रम जोशी, बदमाशों...

बेटियों को लेकर बहन के घर से लौट रहे थे पत्रकार विक्रम जोशी, बदमाशों ने घेर कर मारी गोली, 8 गिरफ्तार

पड़ताल के दौरान हाथ लगी सीसीटीवी फुटेज से पता चलता है कि बदमाशों ने पहले उनकी बाइक को रोका। फिर उनको घेरा और बाद में गोली चलाकर फरार हो गए। पिता को लहु-लुहान देख कर बेटियाँ मदद के लिए रो रोकर गुहार लगाती रहीं।

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के विजयनगर इलाके में विक्रम जोशी नाम के पत्रकार को सोमवार (जुलाई 20, 2020) की देर रात घर लौटते समय गोली मार दी गई। करीब 8 बदमाशों ने मिलकर इस घटना को अंजाम दिया। जिस समय वारदात घटी उस वक्त विक्रम अपनी बेटियों के साथ अपनी बहन के घर से वापस लौट रहे थे।

पड़ताल के दौरान हाथ लगी सीसीटीवी फुटेज से पता चलता है कि बदमाशों ने पहले उनकी बाइक को रोका। फिर उनको घेरा और बाद में गोली चलाकर फरार हो गए। पिता को लहु-लुहान देख कर बेटियाँ मदद के लिए रो रोकर गुहार लगाती रहीं। इस वीडियो में गोली मारने वाली घटना स्पष्ट रूप से कैद नहीं हो पाई है। मगर बेटियों का जमीन पर पड़े पिता के साथ की तस्वीर क्लियर है।

बता दें, इस मामले में गाजियाबाद पुलिस ने आज 8 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले एसएसपी कलानिधि नैथानी ने इस संबंध में बताया था कि विक्रम के भाई ने पुलिस को सूचना दी थी कि विजय नगर में उनके भाई (पत्रकार) पर हमला हुआ है और अज्ञात बदमाशों ने उनको गोली मारी है। इसके बाद उन्हें गाजियाबाद के यशोदा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस समय विक्रम की हालत गंभीर बनी हुई है और उनका इलाज यशोदा अस्पताल में चल रहा है। फिलहाल पुलिस ने 8 आरोपितों को इस संबंध में गिरफ्तार किया है। इसकी जानकारी भी गाजियाबाद एसएसपी ने ही मामले में ताजा अपडेट के साथ दी है।

न्यू इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, इस मामले आरोपितों की पहचान रवि, छोटू, मोहित, दलवीर, आकाश उर्फ ​​लूली, योगेंद्र, शकीर और अभिषेक के रूप में हुई है। इसके अलावा एक अन्य आरोपित आकाश बिहारी की तलाश भी पुलिस को है।

इस मामले में गाजियाबाद के प्रताप विहार के चौकी इंचार्ज को भी निलंबित किया गया है। एसएसपी ने इस संबंध में मीडिया को बताया कि परिजनों ने स्थानीय पुलिस पर पूर्व में चौकी पर शिकायत करने पर समुचित कार्रवाई न किए जाने का आरोप लगाया है। जिसकी जाँच क्षेत्राधिकारी प्रथम राकेश मिश्रा ने की । प्रारम्भिक जाँच के बाद चौकी इंचार्ज प्रताप विहार सब इंस्पेक्टर राघवेंद्र को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

कहा जा रहा है कि इससे पहले भी विक्रम जोशी ने थाना विजय नगर में एक तहरीर दी थी, जिसमें उन्होंने बताया था कि कुछ लड़के उनकी भांजी के साथ छेड़खानी करते हैं। जिसका उन्होंने विरोध भी किया। हालाँकि, मामले में क्या कार्रवाई हुई इसका नहीं पता चल पाया। लेकिन उसके बाद ही पत्रकार पर ये हमला हुआ।

भांजी के साथ छेड़खानी मामले में विक्रम जोशी के भाई अनिकेत जोशी भी जिक्र करते हैं। वे बताते हैं कि उनकी भांजी के साथ कुछ लड़के छेड़खानी कर रहे थे, जिसका विरोध उनके भाई विक्रम जोशी ने किया था। विक्रम जोशी ने इसकी तहरीर थाने में भी दी थी ओर मुकदमा भी लिखा गया। मगर, सोमवार को उन लोगों ने मेरे भाई पर हमला कर दिया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,107FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe