Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाज'बेटी होने के बाद से प्रताड़ित कर रहा शौहर शाहनवाज, माँग रहा ₹10 लाख':...

‘बेटी होने के बाद से प्रताड़ित कर रहा शौहर शाहनवाज, माँग रहा ₹10 लाख’: नेहा ने CM योगी से लगाई गुहार, Video वायरल

“मैं संभल जिला प्रशासन व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अनुरोध करती हूँ कि आप मेरी मदद करें। अगर मुझे कुछ होता है तो मेरी मौत का जिम्मेदार शहनवाज अख्तर और मेरा जेठ वसीम अख्तर होंगे। वह शहर के सबसे रसूखदार आदमी हैं।"

गुजरात के अहमदाबाद में आयशा नाम की महिला के आत्महत्या करने के बाद अब उत्तरप्रदेश के संभल के चंदौसी की एक महिला ने ससुराल पक्ष की यातनाओं से तंग आकर सुसाइड करने की बात कही है। महिला का नाम नेहा नाज़ है। उसका वीडियो इस समय सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। 

वीडियो में नाज़ को कहते सुना जा सकता है कि उसकी शादी 6 साल पहले हुई थी। शादी के 1 साल बाद उसने बेटी को जन्म दिया। इसके कारण ससुराल वाले उससे नाराज हो गए। शौहर शाहनवाज अख्तर भी उससे खुश नहीं है। सबका कहना है कि उन्हें बेटी नहीं चाहिए।

नाज़ आगे कहती हैं, “बेटी होने के बाद ससुराल वालों ने मेरा दो बार गर्भपात करवा दिया। इसके बाद से 15 माह हो गए, मैं अपने पिता के घर रहती हूँ। पिता के घर आने के बाद भी शौहर शहनवाज अख्तर मुझसे 10 लाख रुपए की माँग कर रहा है। मैंने अपने पिता को ये बात बताई। वे हर्ट हो गए और 9 माह पहले उनकी मृत्यु हो गई। मेरी माँ विधवा हैं। वह मेरा और मेरी बेटी का खर्चा कैसे उठाएँ? उनके पास आय का कोई साधन नहीं है। मैं क्या करूँ। मैं अपना जीवन समाप्त करने की सोच रही हूँ।”

पीड़िता सिसकते हुए जिला प्रशासन और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मदद माँगती है। वह कहती है, “मैं संभल जिला प्रशासन व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अनुरोध करती हूँ कि आप मेरी मदद करें। अगर मुझे कुछ होता है तो मेरी मौत का जिम्मेदार शहनवाज अख्तर और मेरा जेठ वसीम अख्तर होंगे। वह शहर के सबसे रसूखदार आदमी हैं।”

बता दें कि नाज की इस वीडियो के वायरल होने के बाद सम्भल पुलिस ने इस पर संज्ञान लिया है। उन्होंने कहा है कि 10 मार्च 2021 को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ, दिसमें एक महिला द्वारा अपने ससुराल पक्ष पर दहेज, उत्पीड़न व मारपीट करने तथा आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप लगा रही थी। इस वीडियो के आधार पर चंदौसी पुलिस द्वारा तत्काल संज्ञान ले लिया गया है।

पुलिस द्वारा जारी प्रेस नोट के मुताबिक महिला की तहरीर पर आईपीसी की धारा 498ए/323/506/377/312/ IPC व 3/4 दहेज अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज हुआ है। आगे आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। महिला को कोई खतरा नहीं है। पुलिस उसके पास मौजूद है।

गौरतलब है कि इससे पहले गुजरात के अहमदाबाद में आयशा ने 25 फरवरी 2021 को साबरमती नदी में कूद कर जान दी थी। बाद में उसका आखिरी वीडियो हर जगह सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। पता चला था कि राजस्थान के जालौर के रहने वाले उसके शौहर आरिफ ने न केवल दहेज माँगा था, बल्कि उसे प्रताड़ित भी किया था।

आत्महत्या से पहले बनाए गए वीडियो में आयशा ने कहा था, “प्यार करते हैं आरिफ से। उसे परेशान थोड़े न करेंगे। उसे आज़ादी चाहिए, आज़ाद रहे वो। चलो, अपनी ज़िंदगी तो यहीं तक है। मैं खुश हूँ कि मैं अल्लाह से मिलूँगी। मैं उनसे पूछूँगी कि मुझसे क्या गलती हुई। अच्छे माँ-बाप मिले, दोस्त भी बहुत अच्छे मिले- फिर भी कमी कहाँ रह गई? सुकून के साथ जाना चाहती हूँ। और अल्लाह से मैं ये भी कहूँगी कि मुझे दोबारा इंसानों की शक्ल न दिखाए।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,226FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe