Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजगुलनाज ने इस्लाम छोड़ हिन्दू धर्म में की घर वापसी, अब कहलाएँगे 'विराट कुमार':...

गुलनाज ने इस्लाम छोड़ हिन्दू धर्म में की घर वापसी, अब कहलाएँगे ‘विराट कुमार’: की पूजा और आरती, कहा – पूर्वज सनातनी थे

गुलनाज से विराट बने युवक ने बताया कि उनके परिवार में माँ, बहन और भाई हैं। अभी उन्होंने अकेले ही सनातन धर्म में वापसी की है।

उत्तर प्रदेश के शाहजहाँपुर में मंगलवार (17 मई, 2022) को एक युवक ने इस्लाम से हिंदू धर्म में घर वापसी की है। विश्व हिंदू परिषद (VHP) और बजरंग दल ने उसकी घर वापसी कराई। शहर के खिरनीबाग मुहल्ला स्थित राम जानकी मंदिर में विधि विधान से गुलनाज की धर्म वापसी कराई। उन्होंने उनके तिलक किया। श्रीराम नाम का पटका पहनाया। पूजन व आरती कराने के साथ ही गीता भी भेंट की। इसके बाद गुलनाज उर्फ विराट कुमार ने ‘जय श्री राम’ और ‘हर हर महादेव’ का उद्घोष किया। उन्होंने बताया कि वह रामचंद्र मिशन थाना क्षेत्र के मिश्रीपुर गाँव के रहने वाले हैं। बढ़ई का काम करते हैं।

मीडिया से बात करते हुए उन्होंने बताया कि अपनी मर्जी से उन्होंने इस्लाम धर्म छोड़ कर सनातन धर्म में वापसी की है। उन्होंने कहा, “पहले हमारा नाम गुलनाज था। अब हमारा नाम विराट है। हमारे पूर्वज सनातनी थे। वहीं से देखते हुए मुझे समझ में आ गया कि क्या अच्छा है और क्या खरबा है। इसके बाद हम अपने मूल धर्म में वापस आ गए।”

गुलनाज से विराट बने युवक ने बताया कि उनके परिवार में माँ, बहन और भाई हैं। अभी उन्होंने अकेले ही सनातन धर्म में वापसी की है। यह पूछे जाने पर कि वह भी तो उसी घर में रहेंगे तो क्या किसी तरह की परेशानी नहीं होगी? विराट ने कहा कि नहीं, कोई दिक्कत नहीं होगी। उनके इस्लाम छोड़कर सनातन धर्म में वापसी पर परिवार के किसी सदस्यों ने आपत्ति जाहिर नहीं किया है और न ही किसी ने विरोध किया। किसी को कोई ऐतराज नहीं है। वह अपने फैसले से खुश हैं।

गौरतलब है कि पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में दो मुस्लिम परिवारों के 8 सदस्यों की हिंदू धर्म में वापसी कराई गई थी। इसमें बघरा स्थित स्वामी यशवीर आश्रम परिषद के महंत स्वामी यशवीर महाराज और स्वामी मृगेंद्र महाराज ने हवन-पूजन और विधि-विधान के साथ इन लोगों को गंगाजल के आचमन से शुद्धिकरण और मंत्रोच्चारण कर हिंदू धर्म ग्रहण कराया था। हिंदू धर्म में वापसी करने वाले इन सभी लोगों ने बताया था कि अब वे काफी खुश हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -