Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाज'दिल में उतरो, करीब आओ, फिर दिक्कत नहीं होगी': हिंदू महिला को प्रताड़ित कर...

‘दिल में उतरो, करीब आओ, फिर दिक्कत नहीं होगी’: हिंदू महिला को प्रताड़ित कर रहा था सरकारी स्कूल का प्रिंसिपल नसीर अहमद

"प्रिंसिपल नसीर अहमद मुझे मानसिक और शारीरिक रूप से परेशान करते हैं। वो अक्सर मुझ से अश्लील बातें करते हैं। नसीर अहमद कहते हैं कि तुम हमारे दिल में एक बार उतर जाओ। मेरे करीब आकर देखो मेरा दिल..."

उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले के एक सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल के खिलाफ हिंदू महिला ने प्रताड़ित करने की शिकायत की है। आरोपित प्रिंसिपल का नाम नसीर अहमद है। पीड़ित महिला इसी स्कूल में खाना बनाती है। महिला का आरोप है कि प्रिंसिपल उस पर गंदी नजर रखता है। अपनी बात नहीं मानने पर नौकरी से निकालने की धमकी देता है।

महिला ने 10 जुलाई 2022 (रविवार) को इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई। घटना सीतापुर के रेऊसा थानाक्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय रेवान की है। OBC समुदाय की पीड़िता यहाँ पर मिड डे मील योजना के तहत बच्चों के लिए खाना बनाती है। पीड़िता द्वारा दी गई शिकायत के मुताबिक, “प्रिंसिपल नसीर अहमद मुझे मानसिक और शारीरिक रूप से परेशान करते हैं। वो अक्सर मुझ से अश्लील बातें करते हैं। नसीर अहमद कहते हैं कि तुम हमारे दिल में एक बार उतर जाओ। मेरे करीब आकर देखो मेरा दिल। अगर एक बार को पहचान जाओगी तो तुम्हें उस दिन से कोई दिक्कत नहीं आएगी।”

शिकायत की कॉपी

शिकायत में पीड़िता ने बताया है, “मेरे लिए प्रिंसिपल नसीर की सोच और नियति हमेशा गंदी बनी रहती है। जब मैं उनकी बातों का विरोध करती हूँ तब वो मुझे स्कूल से निकाल देने की धमकी देते हैं। मुझे 1500 रुपए महीने तनख्वाह मिलती है और मैं उसी में अपना गुजारा कर रही हूँ। मैं अपना शारीरिक शोषण करने की इच्छा रखने वाले प्रिंसिपल की वजह से बहुत मानसिक तनाव में हूँ।”

FIR Copy

पीड़िता की उम्र लगभग 40 साल है। अपनी शिकायत में पीड़िता ने प्रिंसिपल नसीर को ‘भूखा भेड़िया’ कहा है और उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की माँग की है। पीड़िता ने आशा जताई है कि प्रिंसिपल को सजा मिलने के बाद किसी और के द्वारा ऐसी घटनाओं पर लगाम भी लगेगी। इस शिकायत पर सीतापुर की रेउसा थाना पुलिस ने आरोपित प्रिंसिपल के खिलाफ IPC की धारा 354 और 504 के तहत केस दर्ज कर लिया है।

ऑपइंडिया को पीड़िता ने बताया, “जब स्कूल सुबह 7 बजे का था, तब प्रिंसिपल मुझे आधे घंटे पहले बुलाता था। वो मुझसे कुर्सी आदि साफ़ करवाता और बाद में मेरे काम में कमी निकालता। थोड़ी देर बाद वह मुझसे अश्लील बातें करने लगता था। मैं उसको टोक दिया करती थी। मैं आज भी (11 जुलाई 2022) काम पर गई थी, लेकिन प्रिंसिपल नहीं आया। सुनने में आ रहा है कि उसने छुट्टी ले ली है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -