Tuesday, April 23, 2024
Homeदेश-समाज14 साल के 2 भाई, साथ पैदा हुए-25वीं मंजिल से गिर साथ दम तोड़ा:...

14 साल के 2 भाई, साथ पैदा हुए-25वीं मंजिल से गिर साथ दम तोड़ा: मॉं की आँख खुली तो… कलेजा कँपाने वाली कहानी

बेडरूम की बालकनी से बच्चों की गिरकर मौत हुई है। हालाँकि, बालकनी की हाइट ठीक है और बच्चे भी काफी छोटे नहीं बल्कि 14 साल के हैं, ऐसे में दोनों कैसे अचानक नीचे गिर गए, रात एक बजे के आसपास क्या बच्चे खेल रहे थे और अगर ये हादसा भी है तो....

गाजियाबाद की सिद्धार्थ विहार की प्रतीक ग्रैंड कारनेसिया सोसायटी में रहने वाले सत्य नारायण और सूर्य नारायण ने एक साथ ही जन्म लिया और एक साथ ही दोनों दुनिया से विदा हो गए। दोनों अधिकतर एक साथ ही रहते थे। खाने-पीने से लेकर खेलने-कूदने तक का सारा समय साथ बिताते थे। शनिवार (16 अक्टूर 2021) रात करीब एक बजे 25वीं (225 फीट की ऊँचाई) मंजिल से गिरकर जुड़वाँ भाइयों की मौत हो गई। रात 1 बजे माँ की नींद खुली तो दोनों खून से लथपथ थे।

दोनों भाइयों में काफी प्रेम था। दोनों एक दूसरे का ख्याल रखते थे। सत्य नारायण केवल एक मिनट सूर्य नारायण से बड़ा था। सत्य सूर्य का ध्यान रखता था। बिना उसके खाना नहीं खाता था। दोनों के अंदर दोस्ती थी और कभी लड़ाई भी नहीं करते थे। मूल रूप से चेन्नै के रहने वाले परली नारायण अपने परिवार के साथ प्रतीक ग्रैंड सोसायटी में 25वें फ्लोर पर रहते हैं, उनके परिवार में पत्नी और बेटी के साथ दो जुड़वा बेटे सूर्य नारायण व सत्य नारायण थे। वे नौंवी क्लास में थे, पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

बेडरूम की बालकनी से बच्चों की गिरकर मौत हुई है। हालाँकि, बालकनी की हाइट ठीक है और बच्चे भी काफी छोटे नहीं बल्कि 14 साल के हैं, ऐसे में दोनों कैसे अचानक नीचे गिर गए, रात एक बजे के आसपास क्या बच्चे खेल रहे थे और अगर ये हादसा भी है तो दोनों किस तरह एक साथ इस हादसे का शिकार हो गए, ये तमाम सवाल हैं जिनकी जाँच गाजियाबाद की विजय नगर थाने की पुलिस कर रही है। 

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दोनों बच्‍चों के गिरने की वजह छिपकली से बचने की कोशिश बताया जा रहा है, तो कुछ बच्‍चों के चाँद देखने के चक्‍कर में बालकनी से गिरने की बात कह रहे हैं। परिजनों के मुताबिक दोनों भाइयों को चाँद देखना बहुत पसंद था। आए दिन वह बालकनी में चाँद देखने के लिए घंटों खड़े रहते थे। शनिवार रात भी मोबाइल पर गेम खेलने से पहले दोनों ने माँ से चाँद देखने की बात की थी। पुलिस को बालकनी में कुर्सी पर प्लास्टिक का स्टूल रखा मिला है। आशंका है कि दोनों भाई स्टूल पर चढ़कर चाँद देख रहे होंगे, तभी हादसा हो गया।

इस घटना के वक्त बच्चों की माँ व बड़ी बहन घर पर थी जबकि पिता ऑफिस के काम से मुंबई गए हुए थे। इस घटना के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है वहीं दो बच्चों की मौत से सोसायटी में भी सन्नाटा फैला है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि हादसे को लेकर मृतक बच्चों की माँ से पूछताछ की जा रही है। उनकी बहन से भी पूछताछ होगी। कॉल डिटेल निकाली जा रही है। हत्या के एंगल से भी मामले की जाँच की जा रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तेजस्वी यादव ने NDA के लिए माँगा वोट! जहाँ से निर्दलीय खड़े हैं पप्पू यादव, वहाँ की रैली का वीडियो वायरल

तेजस्वी यादव ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा है कि या तो जनता INDI गठबंधन को वोट दे दे, वरना NDA को देदे... इसके अलावा वो किसी और को वोट न दें।

नेहा जैसा न हो MBBS डॉक्टर हर्षा का हश्र: जिसके पिता IAS अधिकारी, उसे दवा बेचने वाले अब्दुर्रहमान ने फँसा लिया… इकलौती बेटी को...

आनन-फानन में वो नोएडा पहुँचे तो हर्षा एक अस्पताल में जली हालत में भर्ती मिलीं। यहाँ पर अब्दुर्रहमान भी मौजूद मिला जिसने हर्षा के जलने के सवाल पर गोलमोल जवाब दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe