Saturday, April 13, 2024
Homeदेश-समाजवृंदावन में परिक्रमा के दौरान गायब हुई युवती: धर्म परिवर्तन के लिए अगवा करने...

वृंदावन में परिक्रमा के दौरान गायब हुई युवती: धर्म परिवर्तन के लिए अगवा करने की आशंका, इस्लाम प्रचारक अहमद खान पर शक

"युवती अपनी माँ के साथ वृन्दावन की परिक्रमा लगाने आई थी और जब परिक्रमा समाप्त होने वाली थी तभी उनके गाँव का एक युवक अपने कुछ साथियों के साथ आया और युवती को जबरदस्ती कार में बैठाकर ले गया।"

उत्तर प्रदेश के वृंदावन में परिक्रमा के दौरान एक युवती के गायब होने का मामला सामने आया है। युवती के परिजनों ने पड़ोस में रहने वाले 22 वर्षीय अहमद खान पर युवती को धर्मांतरण की नीयत से अपहरण करने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है। परिजनों ने युवती के साथ किसी अनहोनी की आशंका भी जाहिर की है। पुलिस युवक-युवती की तलाश के लिए परिक्रमा मार्ग के सीसीटीवी फुटेज खँगालने में जुटी है।

सुरीर थाना के हरनोल गाँव रहने वाली 21 वर्षीया युवती अक्सर अपने परिजनों के साथ परिक्रमा के लिए वृंदावन आया करती थी। युवती सोमवार (5 जुलाई 2021) को भी अपनी माँ के साथ परिक्रमा के लिए आई थी और लेकिन गायब हो गई। युवती के परिजनों का आरोप है कि पड़ोस में रहने वाला युवक उनकी बेटी को धर्म परिवर्तन कर इस्लाम अपनाने के लिए उकसाता था। इसी उद्देश्य से उसने अपने साथियों के साथ युवती का अपहरण किया है।

युवती के पिता द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत में कहा गया है कि युवक-युवती पहले से एक-दूसरे को जानते हैं। उनका कहना है कि युवक उनके पड़ोस में ही रहकर मजहबी प्रचार करता रहा है। पुलिस में दी गई तहरीर में युवती के पिता ने कहा है कि युवती अपने साथ 22,000 रुपये नगद, जेवरात, आधार कार्ड और शैक्षिक दस्तावेज भी ले गई है।

पुलिस अधीक्षक (शहर) मार्तण्ड प्रकाश सिंह के अनुसार, “युवती के पिता के अनुसार मामला सोमवार का है, युवती अपनी माँ के साथ वृन्दावन की परिक्रमा लगाने आई थी और जब परिक्रमा समाप्त होने वाली थी तभी उनके गाँव का एक युवक अपने कुछ साथियों के साथ आया और युवती को जबरदस्ती कार में बैठाकर ले गया।” सिंह ने कहा कि परिवार का कहना है कि वह उनकी बेटी पर धर्म परिवर्तन के लिए दबाव डाल रहा था।

गौरतलब है कि ऐसे ही एक मामले में धर्मांतरण कराकर निकाह कराने वाले वकील इकबाल मलिक का बार काउंसिल ऑफ दिल्ली ने सोमवार (5 जुलाई 2021) का लाइसेंस अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया था। इकबाल धर्म परिवर्तन और निकाह (इस्लामी विवाह) के लिए कोर्ट स्थित अपने चैंबर का उपयोग करते थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘राष्ट्रपति आदिवासी हैं, इसलिए राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा में नहीं बुलाया’: लोकसभा चुनाव 2024 में राहुल गाँधी ने फिर किया झूठा दावा

राष्ट्रपति मुर्मू को राम मंदिर ट्रस्ट का प्रतिनिधित्व करने वाले एक प्रतिनिधिमंडल ने अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होने के लिए औपचारिक रूप से आमंत्रित किया गया था।

‘शबरी के घर आए राम’: दलित महिला ने ‘टीवी के राम’ अरुण गोविल की उतारी आरती, वाल्मीकि बस्ती में मेरठ के BJP प्रत्याशी का...

भाजपा के मेरठ लोकसभा सीट से उम्मीदवार और अभिनेता अरुण गोविल जब शनिवार को एक दलित के घर पहुँचे तो उनकी आरती उतारी गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe