Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजवृंदावन में परिक्रमा के दौरान गायब हुई युवती: धर्म परिवर्तन के लिए अगवा करने...

वृंदावन में परिक्रमा के दौरान गायब हुई युवती: धर्म परिवर्तन के लिए अगवा करने की आशंका, इस्लाम प्रचारक अहमद खान पर शक

"युवती अपनी माँ के साथ वृन्दावन की परिक्रमा लगाने आई थी और जब परिक्रमा समाप्त होने वाली थी तभी उनके गाँव का एक युवक अपने कुछ साथियों के साथ आया और युवती को जबरदस्ती कार में बैठाकर ले गया।"

उत्तर प्रदेश के वृंदावन में परिक्रमा के दौरान एक युवती के गायब होने का मामला सामने आया है। युवती के परिजनों ने पड़ोस में रहने वाले 22 वर्षीय अहमद खान पर युवती को धर्मांतरण की नीयत से अपहरण करने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है। परिजनों ने युवती के साथ किसी अनहोनी की आशंका भी जाहिर की है। पुलिस युवक-युवती की तलाश के लिए परिक्रमा मार्ग के सीसीटीवी फुटेज खँगालने में जुटी है।

सुरीर थाना के हरनोल गाँव रहने वाली 21 वर्षीया युवती अक्सर अपने परिजनों के साथ परिक्रमा के लिए वृंदावन आया करती थी। युवती सोमवार (5 जुलाई 2021) को भी अपनी माँ के साथ परिक्रमा के लिए आई थी और लेकिन गायब हो गई। युवती के परिजनों का आरोप है कि पड़ोस में रहने वाला युवक उनकी बेटी को धर्म परिवर्तन कर इस्लाम अपनाने के लिए उकसाता था। इसी उद्देश्य से उसने अपने साथियों के साथ युवती का अपहरण किया है।

युवती के पिता द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत में कहा गया है कि युवक-युवती पहले से एक-दूसरे को जानते हैं। उनका कहना है कि युवक उनके पड़ोस में ही रहकर मजहबी प्रचार करता रहा है। पुलिस में दी गई तहरीर में युवती के पिता ने कहा है कि युवती अपने साथ 22,000 रुपये नगद, जेवरात, आधार कार्ड और शैक्षिक दस्तावेज भी ले गई है।

पुलिस अधीक्षक (शहर) मार्तण्ड प्रकाश सिंह के अनुसार, “युवती के पिता के अनुसार मामला सोमवार का है, युवती अपनी माँ के साथ वृन्दावन की परिक्रमा लगाने आई थी और जब परिक्रमा समाप्त होने वाली थी तभी उनके गाँव का एक युवक अपने कुछ साथियों के साथ आया और युवती को जबरदस्ती कार में बैठाकर ले गया।” सिंह ने कहा कि परिवार का कहना है कि वह उनकी बेटी पर धर्म परिवर्तन के लिए दबाव डाल रहा था।

गौरतलब है कि ऐसे ही एक मामले में धर्मांतरण कराकर निकाह कराने वाले वकील इकबाल मलिक का बार काउंसिल ऑफ दिल्ली ने सोमवार (5 जुलाई 2021) का लाइसेंस अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया था। इकबाल धर्म परिवर्तन और निकाह (इस्लामी विवाह) के लिए कोर्ट स्थित अपने चैंबर का उपयोग करते थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

घुमंतू (खानाबदोश) पूजा खेडकर: जिसका बाप IAS, वो गुलगुलिया की तरह जगह-जगह भटक बिताई जिंदगी… इसी आधार पर बन गई MBBS डॉक्टर

पूजा खेडकर ने MBBS में नाम लिखवाने से लेकर IAS की नौकरी पास करने तक में नाम, उम्र, दिव्यांगता, अटेंप्ट और आय प्रमाण पत्र में फर्जीवाड़ा किया।

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -