Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजदुबई से लौटा, निधि का करने लगा पीछा: निकाह के लिए नहीं मानी तो...

दुबई से लौटा, निधि का करने लगा पीछा: निकाह के लिए नहीं मानी तो हैदर ने साथियों संग घर में घुस गला रेता

पुलिस ने बताया कि निधि को हैदर तीन साल से जानता था। दुबई से लौटने के बाद वह निधि का पीछा करता था। लेकिन लड़की ने उसमें कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। इसलिए उसने अपने दो दोस्तों के साथ मिल उसकी हत्या कर दी।

उत्तराखंड के रुड़की में 19 वर्षीय निधि पासवान की घर में घुसकर बेहरमी से हत्या कर दी गई। घटना को अंजाम देने वाला युवक कई दिनों से उसका पीछा कर रहा था। शनिवार (24 अप्रैल 2021) को मौका देख युवक ने अपने दो साथियों के साथ निधि को मारा। वारदात गंगानगर थानाक्षेत्र कृष्णनगर सड़क नंबर 20 की है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, हैदर अली नाम का युवक निधि का पिछले कई दिनों से पीछा कर रहा था। वह उस पर भद्दे कमेंट करता और उसे निकाह के लिए बोलता। एक दिन निधि ने तंग आकर हैदर के प्रस्ताव को ठुकरा दिया। इसी गुस्से में हैदर ने अपने दो दोस्त- सरीक और रियान के साथ उसे मारने की पूरी साजिश रची।

शनिवार को तीनों, निधि के घर बाइक से पहुँचे और घर में घुसकर दिनदहाड़े निधि की हत्या कर दी। उसका गला रेत दिया गया। शोर मचते ही रियान और सरीक मौके से भाग गए। वहीं हैदर को रंगे हाथों पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया गया।

24 घंटे के भीतर सुलझा मामला

जानकारी के अनुसार, निधि पासवान बीबीए की छात्रा थी और एक लोकल ब्यूटी पार्लर में काम करती थी। उसकी हत्या पर भाजपा सांसद देशराज करणवाल का कहना है, “इन लोगों ने एक मासूम लड़की की दिनदहाड़े हत्या की है। इन्हें जेल में बंद करके इनके खिलाफ़ सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।”

मृतका के परिजनों ने भी तीनों आरोपितों की गिरफ्तारी की माँग की, जिसके बाद एसपी (ग्रामीण) परमिंद्र सिंह डोबाल ने बताया कि मामले में लड़की के भाई दिनेश ने मुकदमा दर्ज करवाया था। हैदर के बाद उन्होंने बाकी दो फरार आरोपितों को भी रहीमपुर गेट से गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने बताया कि निधि को हैदर तीन साल से जानता था। दुबई से लौटने के बाद वह निधि का पीछा करता था। लेकिन लड़की ने उसमें कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। इसलिए उसने अपने दो दोस्तों के साथ मिल उसकी (निधि) हत्या कर दी। पुलिस के मुताबिक, आरोपितों ने पहले निधि की बेरहमी से पिटाई की। बाद में पेपर काटने वाले चाकू से उसकी हत्या कर दी।

एसपी डोबाल ने बताया कि इस मामले को 24 घंटे के भीतर सुलझाने के लिए उन्होंने संबंधित पुलिस टीम को ढाई हजार इनाम भी दिया है। टीम में इंस्पेक्टर मनोज मनवाल, सब इन्सपेक्टर मनोज सिरौला, सुनील रमोला, विनोद गोला, दीप कुमार, नवीन पुरोहित, लोकपाल परमान, प्रीति तोमर, जहाँगीर अली, समेत कई पुलिसकर्मी शामिल थे।

निकिता तोमर हत्याकांड

बता दें कि पिछले साल ऐसा ही मामला हरियाणा के बल्लभगढ़ से आया था। अक्टूबर 2020 में 21 साल की निकिता तोमर की उसके कॉलेज के सामने गोली मारकर हत्या की गई थी। सारी वारदात सीसीटीवी में कैद हुई थी। वीडियो में साफ नजर आया था कि कैसे निकिता ने खुद को बचाने के प्रयास किए लेकिन जब तक वो वहाँ से भागती, आरोपित ने गोली चला दी।

निकिता तोमर की हत्या के बाद भी यही तथ्य सामने आए थे कि तौफीक नाम का लड़का उसका बहुत समय से पीछा करता था और उसपर इस्लाम कबूल करके उससे निकाह करने का दबाव बनाता था। इस मामले में पिछले ही महीने फरीदाबाद की जिला कोर्ट ने तौफीक और रेहान को दोषी मानते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ईसाई बने तो नहीं ले सकते SC वर्ग के लिए चलाई जा रही केंद्र की योजनाओं का फायदा: संसद में मोदी सरकार

रिपोर्ट्स बताती हैं कि आंध्र प्रदेश में ईसाई धर्म में कन्वर्ट होने वाले 80 प्रतिशत लोग SC वर्ग से आते हैं, जो सभी तरह की योजनाओं का लाभ उठाते हैं।

‘इस महीने का चेक नहीं पहुँचा या पेमेंट रोक दी गई?’: केजरीवाल के 2047 वाले विज्ञापन के बाद ट्रोल हुए ‘क्रांतिकारी पत्रकार’

सोशल मीडिया पर लोग 'क्रांतिकारी पत्रकार' पुण्य प्रसून बाजपेयी को ट्रोल कर रहे हैं। उन्होंने दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल की आलोचना की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,912FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe