Saturday, July 24, 2021
Homeदेश-समाजवेलेंटाइन-डे पर भिड़े कॉन्ग्रेसी और वामपंथी, जमकर चले लाठी-डंडे: केरल में लॉ कॉलेज के...

वेलेंटाइन-डे पर भिड़े कॉन्ग्रेसी और वामपंथी, जमकर चले लाठी-डंडे: केरल में लॉ कॉलेज के 20 छात्र घायल

मेरा वेलेंटाइन-डे या तेरा वेलेंटाइन-डे? इस छोटी सी बात पर भिड़ गए कॉन्ग्रेसी और वामपंथी छात्र संगठन। गंभीर रूप से घायल 12 छात्रों में से KSU के आठ जबकि SFI के चार सदस्य शामिल हैं।

केरल के एक लॉ कॉलेज में वेलेंटाइन-डे पर आयोजित कार्यक्रमों को लेकर दो गुट आमने-सामने आ गए। विवाद इतना बढ़ गया कि देखते ही देखते दोने गुट हिंसक हो गए। इस हिंसक लड़ाई में 20 छात्रों के घायल होने की खबर है। इनमें से 12 घायल छात्रों को शहर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। साथ ही कानून व्यवस्था को संभालने के लिए कॉलेज में परिसर में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

घटना की सामने आई एक वीडियो में कॉलेज परिसर के अंदर मौजूद सैकड़ों छात्रों को आपस में मारते-पीटते हुए देखा जा सकता है। वीडियो में दिख रहा है कि छात्र एक-दूसरे का कॉलर पकड़कर लात-घूँसे और लाठी-डंडे बरसाने में लगे हुए हैं। वहीं कुछ छात्र पीछे की ओर से पत्थर फेंकते भी देखे जा सकते हैं। नज़दीक खड़ी कॉलेज की छात्राएँ घटना को देख चीखती-चिल्लाती और वहाँ से दौड़ती हुई नजर आ रही हैं।

यह दृश्य किसी फिल्मी सीन से कम नहीं है। लेकिन यह वास्तव में हुआ है। शुक्रवार को केरल के एर्नाकुलम के गवर्नमेंट लॉ कॉलेज में कॉलेज यूनियन के सदस्यों ने वेलेंटाइन-डे पर एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किय था, जिसमें SFI के सदस्य भी शामिल थे।

इसी बीच KSU (कॉन्ग्रेस की छात्र इकाई) के सदस्यों ने भी शुक्रवार को ही कॉलेज परिसर के अंदर अलग से वेलेंटाइन-डे पर एक दूसरा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करने का फैसला किया। इसे लेकर SFI सदस्यों ने सवाल खड़ा किया कि जब छात्र संघ पूरे कॉलेज के लिए कार्यक्रम आयोजित कर रहा है, तो कैंपस में दूसरा कार्यक्रम आयोजित करने की आवश्यकता क्याें? इसके बाद दोनों पक्षों में पैदा हुआ मतभेद और यह बदल गया हिंसक लड़ाई में।

खबर के मुताबिक इस घटना में 20 छात्र घायल हुए हैं। गंभीर रूप से घायल 12 छात्रों में से KSU के आठ जबकि SFI के चार सदस्य शामिल हैं। इस घटना के बाद शहर की पुलिस ने कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए कॉलेज परिसर में और आसपास के इलाके में बड़ी संख्य में पुलिस बल तैनात कर दिया है। हालाँकि इस मामले में अभी तक पुलिस में कोई रिपोर्ट दर्ज कराने जैसी खबर सामने नहीं आई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पेगासस विवाद के पीछे बीडीएस या कतर, वॉशिंगटन पोस्ट की संपादक ने भी फोन नम्बरों की पुष्टि से किया इनकार: एनएसओ सीईओ

स्पाइवेयर पेगासस के मालिक एनएसओ ग्रुप के सीईओ ने कहा, ''मौजूदा 'स्नूपगेट' विवाद के पीछे बीडीएस मूवमेंट या कतर का हाथ हो सकता है।''

‘माँ और बच्चे की कामुकता’ पर पोस्ट कर जनआक्रोश भड़काने वाली महिला ने ‘बीडीएसएम वर्कशॉप’ का ऐलान कर छेड़ा नया विवाद

सोशल मीडिया पर वर्कशॉप का पोस्टर शेयर करके वह लोगों के निशाने पर आ गई हैं। लोगों ने उन्हें ट्रोल करते हुए कहा कि वे sexual degeneracy को क्या मानती हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,047FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe