Saturday, December 4, 2021
Homeदेश-समाजवीडियो: 16 राज्यों की 1000 महिलाओं ने अस्सी घाट पर किया शिव तांडव स्तोत्र...

वीडियो: 16 राज्यों की 1000 महिलाओं ने अस्सी घाट पर किया शिव तांडव स्तोत्र का पाठ, अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस पर भव्य आयोजन

मुंबई की संस्था फाउंडेशन फॉर होलिस्टिक डेवलपमेंट इन एकेडमिक फील्ड की ओर से अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर अस्सी घाट पर इसका आयोजन किया गया। महिलाओं और युवतियों ने वाराणसी में 'शिव तांडव स्तोत्र' पाठ के दौरान कोरोना की गाइडलाइन्स का पालन भी किया।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर काशी में अस्‍सी घाट पर देश भर से 1000 नारी शक्ति की जुटान एक अनोखे आयोजन के लिए हुई। इससे पूर्व गंगा नदी के तट पर शिव तांडव स्तोत्र के लयबद्ध आयोजन के लिए देश के 16 राज्यों से 1000 महिलाएँ काशी पहुँच कर तैयारियों में जुटी रहीं।

मुंबई की संस्था फाउंडेशन फॉर होलिस्टिक डेवलपमेंट इन एकेडमिक फील्ड की ओर से अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर अस्सी घाट पर इसका आयोजन किया गया। महिलाओं और युवतियों ने वाराणसी में ‘शिव तांडव स्तोत्र’ पाठ के दौरान कोरोना की गाइडलाइन्स का पालन भी किया।

सोमवार (मार्च 8, 2021) को अस्सी घाट पर गंगा आरती के पूर्व शुभ मुहूर्त में एक साथ हजार महिलाओं के स्‍वर जाह्नवी तट पर गूँजी तो आस्‍था के स्‍वर से भगवान शिव की नगरी काशी गुंजायमान हो उठी। हर हर महादेव के उद्घोष के साथ शुरू हुए आयोजन में लाल रंग के परिधान में सजी महिलाओं और युवतियों ने एक साथ शिव स्तोत्र का पाठ ढलते सूर्य के साथ शुरू किया तो वातावरण धर्म और आध्‍यात्‍म से एकाकार नजर आया। हाथों में गंगा और शिव आरती के लिए बाती जल उठी और शिव स्‍तुति का आयोजन शुरू हुआ तो घंट घडियालों से भी गंगा तट गूँज उठा। 

आयोजन में दूर दराज से शामिल होने आए लोगों के लिए यह आयोजन जहाँ अनोखा अनुभव रहा वहीं इंटरनेट मीडिया में भी आयोजन के स्‍वर गूँजे और झंकृत होते नजर आए। हर-हर महादेव का उद्घोष और बाबा की स्‍तुति में शिव तांडव का यह अद्भुत और अनोखा आयोजन काशी के लिए भी किसी अनूठे उत्‍सव सरीखा ही नजर आया। शिव तांडव स्तोत्र के पाठ के साथ ही घाटों पर गंगा आरती का भी आयोजन शुरू हुआ तो जाह्नवी के तट पर दीयों की रोशनी से गंगा तट भी मानों रोशनी से नहाया नजर आने लगा। जैसे-जैसे शाम होने लगी आयोजन में शामिल होने के लिए लोगों की भी घाट पर भारी जुटान शुरू हो गई।  

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘आतंक का कोई मजहब नहीं होता’ – एक आदमी जिंदा जला कर मार डाला गया और मीडिया खेलने लगी ‘खेल’

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फैलाया जा रहा प्रोपगेंडा जिन स्थानीय खबरों पर चल रहा है उनमें बताया जा रहा है कि ये सब अराजक तत्वों ने किया था, इस्लामी भीड़ ने नहीं।

‘महिला-पुरुष की मालिश का मतलब यौन संबंध नहीं होता, इस पर कार्रवाई से परहेज करें’: HC ने दिल्ली सरकार को फटकारा

दिल्ली सरकार स्पा में क्रॉस-जेंडर मसाज पर रोक लगा चुकी है। इसके अलावा रिहायशी इलाकों में नए मसाज सेंटर खोलने पर भी रोक लगा दी गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,510FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe