Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाजमैं खुश हूँ, आज मेरे बेटे की आत्मा को शांति मिलेगी: विकास दुबे एनकाउंटर...

मैं खुश हूँ, आज मेरे बेटे की आत्मा को शांति मिलेगी: विकास दुबे एनकाउंटर पर बलिदानी जितेंद्र सिंह के पिता

"मैं संतुष्ट हूँ। लेकिन अब यह कैसे सामने आएगा कि कौन उसे (विकास दुबे) सपोर्ट कर रहा था? उससे पूछताछ करके यह खुलासा नहीं किया जा सका।''

कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को आज (10 जुलाई, 2020) यूपी पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है। मध्य प्रदेश से पुलिस उसे गाड़ी से कानपुर ला रही थी। इस दौरान गाड़ी पलट गई। मौके का फ़ायदा उठाते हुए विकास दुबे ने पुलिसकर्मियों का हथियार छीनकर भागने की कोशिश की। इस दौरान पुलिस ने उसका एनकाउंटर कर दिया।

हादसे में चार पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है। कानपुर के लाला लाजपत राय अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है।

आईजी कानपुर मोहित अग्रवाल ने बताया, “गैंगस्टर विकास दुबे पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया है। चार पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। घायल कर्मियों का फिलहाल इलाज चल रहा है।”

कानपुर के एलएलआर अस्पताल के प्रिंसिपल डॉ.आरबी कमल का कहना है कि एनकाउंटर के दौरान घायल हुए तीन पुलिसकर्मियों की हालत स्थिर है। इनमें से दो को गोली छूकर गई। वहीं विकास दुबे की छाती में तीन और हाथ में गोली लगने का एक घाव मिला है।

तीन जुलाई को कानपुर के बिकरु गॉंव में हुए शूटआउट में जान गॅंवाने वाले पुलिसकर्मी जितेंद्र सिंह के पिता ने कहा, “मैं उत्तर प्रदेश प्रशासन को धन्यवाद करता हूँ। मैं आज बहुत खुश हूँ। मुझे गर्व है कि मेरे बेटे का बलिदान खाली नहीं गया। आज मेरे बेटे की आत्मा को शांति मिलेगी।”

वहीं शूटआउट में बलिदान हुए कॉन्स्टेबल सुल्तान सिंह की पत्नी उर्मिला वर्मा ने विकास दुबे के एनकाउंटर पर कहा, “मैं संतुष्ट हूँ। लेकिन अब यह कैसे सामने आएगा कि कौन उसे (विकास दुबे) सपोर्ट कर रहा था? उससे पूछताछ करके यह खुलासा नहीं किया जा सका।”

गौरतलब है झाँसी में रात करीब 3:15 बजे रक्सा बार्डर से एसटीएफ की टीम विकास दुबे को लेकर कानपुर के लिए रवाना हुई। लेकिन रास्ते में अचानक उत्तर प्रदेश एसटीएफ के काफिले की गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस काफिले में कल ही मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार मोस्टवांटेड गैंगस्टर विकास दुबे सवार था।

जिस गाड़ी में विकास दुबे सवार था, वह हादसे का शिकार हुई। यह घटना बर्रा थाना क्षेत्र के पास की है। हादसे में कार पलट गई। गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे ने घायल यूपी एसटीएफ के पुलिसकर्मियों की पिस्टल छीन कर भागने की कोशिश की। जवाबी फायरिंग में गोली लगने से बुरी तरह घायल विकास दुबे की मौत हो गई।

बता दें कि विकास दुबे कल सुबह ही उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर में मिला था। 6 दिन की तलाश के बाद मध्य प्रदेश पुलिस उसे गिरफ्तार करने में कामयाब रही थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -