Sunday, June 23, 2024
Homeदेश-समाज'साले…सिपाही हो न…गाली देने का मन करता है तुम लोगों को' : मैनपुरी की...

‘साले…सिपाही हो न…गाली देने का मन करता है तुम लोगों को’ : मैनपुरी की जेल अधीक्षिका का वीडियो वायरल, DG ने दिए जाँच के आदेश

कोमल मंगलानी की वायरल वीडियो का उत्तर प्रदेश के DG जेल ने संज्ञान लिया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कोमल मंगलानी पर जाँच बिठाए जाने की जानकारी दी है। जेल अधीक्षिका सहारनपुर अमिता दुबे को जाँच कर के रिपोर्ट सौंपने के आदेश दिए गए हैं।

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले की जेल सुपरिटेंडेंट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जेल सुपरिटेंडेंट का नाम कोमल मंगलानी है। वायरल वीडियो में कोमल अपने अधीनस्थ स्टाफ को गंदी-गंदी गालियाँ देती सुनाई दे रहीं है। DG जेल ने शनिवार (6 मई 2023) को वीडियो का संज्ञान लेते हुए मामले में जाँच के आदेश दिए हैं। वहीं अपनी सफाई के रूप में कोमल मंगलानी ने खुद को निर्दोष बताते हुए वीडियो को काट-छाँट कर वायरल करने का आरोप लगाया है।

यह वीडियो आंबेडकर जयंती के दिन हुए कार्यक्रम का बताया जा रहा है। वायरल वीडियो में जेल अधीक्षिका कोमल मंगलानी हाथ में माइक ले कर एक मंच पर खड़ी दिखाई दे रहीं हैं। उनके पीछे एक पोस्टर लगा हुआ है। पोस्टर में जिला कारगर मैनपुरी परिसर लिखा हुआ है। इसके नीचे बड़े-बड़े शब्दों में ‘संविधान शिल्पी व महान समाज सुधारक भारत रत्न बाबा साहेब डॉ भीमराव अम्बेडकर’ लिखा दिखाई दे रहा है। इसी पोस्टर में डॉ अम्बेडकर का बड़ा सा फोटो लगा हुआ है। मंच पर भगवान बुद्ध और डॉ अम्बेडकर के चित्र भी रखे हुए हैं जिस पर माल्यार्पण किया गया है।

वीडियो में सामने मौजूद लोगों को सम्बोधित करते हुए अचानक ही कोमल मंगलानी गालियाँ देने लगीं। उन्होंने कहा, “बहन… कौन है ये। कौन बात कर रहा है वहाँ पे? साले तेरे को समझ में नहीं आ रहा है ? बुला इसको।” इस दौरान जेल सुपरिंटेंडेंट ने किसी यादव का नाम लिया। कोमल यहीं नहीं रुकी। उन्होंने आगे कहा, “गाली देने का मन करता है तुम लोगों को। इतनी वाहियात किस्म की श्रेणी है ये। मुफ्त का खाना खाने आए हैं। मुफ्त का खाना खा कर चले जाएँगे। इतनी सोच है हमारी। सिपाही हैं न, इतना ही सोच सकते हैं।”

DG ने दिए जाँच के आदेश

वायरल वीडियो का उत्तर प्रदेश के DG जेल ने संज्ञान लिया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कोमल मंगलानी पर जाँच बिठाए जाने की जानकारी दी है। जेल अधीक्षिका सहारनपुर अमिता दुबे को जाँच कर के रिपोर्ट सौंपने के आदेश दिए गए हैं।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि कार्यक्रम में जेल अधीक्षिका चंदा न मिलने से नाराज थीं। बताया जा रहा है कि सामने मौजूद स्टाफ से जेल अधीक्षक ने यह भी कहा कि 50, 100 रुपए तो आप बंदी को थप्पड़ मार कर ले लेते हैं पर बड़े शर्म की बात है कि जिन्होंने हमारे संविधान के लिए इतना कुछ किया उनके लिए आपके पास पैसे नहीं है।

बढ़ा विवाद तो दी सफाई

हालाँकि वायरल हो रहे वीडियो पर जेल अधीक्षिका कोमल मांगलानी का कहना है कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है। कोमल ने वीडियो को एडिटेड बताया है।

वर्दी में बनाई हैं रील्स

जेल अधीक्षिका कोमल मंगलानी सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहती हैं। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर अपनी कुछ वीडियो भी साझा की हैं जिसमें एक रील वर्दी पहनते हुए म्यूजिक मिक्सिंग के साथ है। कुछ समय पहले उत्तर प्रदेश में वर्दी वालों द्वारा रील्स बनाए जाने पर काफी विवाद खड़ा हुआ था।

फ़िलहाल सोशल मीडिया पर कोमल मंगलानी का वीडियो चर्चा का विषय बना हुआ है। कई नेटीजेंस जेल अधीक्षिका के शब्दों को आपत्तिजनक बताते हुए कार्रवाई की माँग कर रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

‘मोदी के दिए घरों में रहते हैं, 100% वोट कॉन्ग्रेस को देते हैं’: बोले असम CM सरमा – राज्य पर कब्ज़ा करना चाहते हैं...

सीएम हिमंता ने कहा कि बांग्लादेशी मूल के अल्पसंख्यकों ने कॉन्ग्रेस को इसलिए वोट दिया, क्योंकि अगले 10 सालों में वे राज्य को कब्जा चाहते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -