Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाजUP: पुलिस मुठभेड़ में मारा गया ₹50,000 का इनामी पन्ना यादव उर्फ डॉक्टर, 3...

UP: पुलिस मुठभेड़ में मारा गया ₹50,000 का इनामी पन्ना यादव उर्फ डॉक्टर, 3 दर्जन से ज्यादा संगीन मामलों में था आरोपित

बहराइच जिले में एक मुठभेड़ में पन्ना यादव के मारे जाने की सूचना दी। पन्ना यादव की पुलिस मुठभेड़ के दौरान पुलिस द्वारा अपने बचाव में की गई फायरिंग में गोली लगने से मृत्यु हो गई। पुलिस के साथ हुई इस मुठभेड़ के दौरान देशी राइफल 315 बोर, एक बंदूक देसी 12 बोर, देसी पिस्टल और........

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर का ₹50000 का इनामी अपराधी पन्ना यादव उर्फ सुमन यादव उर्फ़ ‘डॉक्टर’ बहराइच जिले के हरदी इलाके में एसटीएफ व पुलिस की संयुक्त मुठभेड़ में मारा गया है।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने शुक्रवार (जुलाई 10, 2020) को बहराइच जिले में एक मुठभेड़ में पन्ना यादव के मारे जाने की सूचना दी। पन्ना यादव की पुलिस मुठभेड़ के दौरान पुलिस द्वारा अपने बचाव में की गई फायरिंग में गोली लगने से मृत्यु हो गई। पुलिस के साथ हुई इस मुठभेड़ के दौरान देशी राइफल 315 बोर, एक बंदूक देसी 12 बोर, देसी पिस्टल और तमंचा भी बरामद किए गए।

बहराइच पुलिस द्वारा जारी एक प्रेस नोट के अनुसार, ₹50000 का इनामी बदमाश पन्ना यादव पुत्र समई यादव निवासी मंगलपुर थाना गुलरिया जनपद गोरखपुर, बीती रात बहराइच के थाना हरदी क्षेत्र में अहिरन पुरवा मौजा गलकारा में एसटीएफ एवं हरदी पुलिस के संयुक्त मुठभेड़ में पुलिस द्वारा आत्मरक्षार्थ चलाई गई गोली से गंभीर रूप से घायल हुआ है, जिसे उपचार हेतु PHC से जिला चिकित्सालय रेफर किया गया, जहाँ उसकी मृत्यु हो गई।

हिस्ट्रीशीटर था पन्ना यादव

गौरतलब है कि पन्ना यादव उर्फ़ ‘डॉक्टर’ के खिलाफ़ गोरखपुर जिले के विभिन्न थानों में हत्या, जानलेवा हमला, रेप, लूट आगुंडा एक्ट, आर्म्स एक्ट आदि धाराओं में दर्जनों मुकदमे दर्ज थे। एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने कहा, “पन्ना यादव उर्फ ​​सुमन यादव को हरदी क्षेत्र के अहिरनपुरवा गाँव में एसटीएफ और स्थानीय पुलिस की एक टीम ने घेर लिया जहाँ उसकी मौत हो गई।”

उन्होंने कहा कि पन्ना यादव हत्या, लूट, डकैती, गैंगस्टर एक्ट सहित तीन दर्जन से अधिक संगीन मामलों में वांछित था। उन्होंने कहा कि पन्ना यादव के खिलाफ महराजगंज, गोरखपुर, बाराबंकी, आजमगढ़ और लखीमपुर जिलों में ये मामले दर्ज किए गए थे। एडीजी ने बताया कि पन्ना यादव एक बार गोरखपुर जेल से भी भाग निकला था और एक जेलर की भी पिटाई की थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,137FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe