Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाज'हटो यहाँ से...' - 8 साल की लाली पांडेय ने यह बात नहीं मानी...

‘हटो यहाँ से…’ – 8 साल की लाली पांडेय ने यह बात नहीं मानी तो साहिल, वसीम, एखलाक ने मारी गोली

तीन गुंडे साहिल, एखलाक और वसीम सबमर्सिबल पम्प पर पहुँचे और लाली को वहाँ से हटने को कहा। मासूम लाली ने उनकी बात नहीं मानी, जिस से तीनों आरोपित बौखला गए। साहिल ने पिस्टल से लाली पर फायर कर दी, और गोली लाली के पेट में लग गई।

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में 8 साल की मासूम लाली पांडेय को उस समय गोली मार दी गई, जब वो हैण्डपम्प पर नहा रही थी। प्रेमचन्द्र पांडेय की 8 वर्ष की मासूम को फ़ौरन अस्पताल ले जाया गया, जहाँ से डॉक्टरों ने उसे प्रयागराज रेफर कर दिया। गोली मारने वाले आरोपित का नाम साहिल है, जबकि उसके साथ घटना के समय वसीम और एखलाक भी थे।

गोली चलने के बाद 8 साल की मासूम लाली पांडेय की चीख सुनकर जब तक उसके घरवाले वहाँ दौड़कर पहुँचे तब तक आरोपित साहिल, एखलाक और वसीम, तीनों गुंडे वहाँ से फरार हो चुके थे।

रिपोर्ट्स के अनुसार, बुधवार (मई 20, 2020) की दोपहर जिस समय लाली पांडेय के घर के सभी सदस्य सो रहे थे, तभी प्रेमचन्द्र पांडेय की 8 वर्ष की लाली घर के सामने लगे हैंडपम्प और सबमर्सिबल में नहाने निकल पड़ी।

उसी समय गाँव के तीन गुंडे साहिल, एखलाक और वसीम सबमर्सिबल पम्प पर पहुँचे और लाली को वहाँ से हटने को कहा। मासूम लाली ने उनकी बात नहीं मानी, जिस से तीनों आरोपित बौखला गए।

तभी साहिल ने पिस्टल से लाली पर फायर कर दी, और गोली लाली के पेट में लग गई। इतने में ही लाली जमीन पर गिरकर तड़पने लगी। गोली की आवाज सुनकर उसके घरवाले दौड़कर वहाँ पहुँचे और लाली को उठाकर अस्पताल ले गए।

लाली को गंभीर हालत में देखकर डॉक्टरों ने उसे प्रयागराज रेफर कर दिया। घटना की सूचना पुलिस को दी गई तो सीओ रानीगंज इलाकाई पुलिस के साथ मौके पर पहुँच कर आरोपितों की तलाश में जुट गए लेकिन तीनों आरोपित अभी भी फरार हैं।

रानीगंज CO का कहना है कि जैसे ही उन्हें रानीगंज के मुन्नी का पुरवा में गोली मारने की सूचना प्राप्त हुई, वैसे ही पुलिस बल वहाँ मौके पर पहुँच गए और तीनों आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए जाँच और पूछताछ शुरू कर दी गईं, लेकिन अभी तक इस घटना में कोई भी आरोपित पकड़ा नहीं गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पेट्रोल-डीजल के बाद पानी-बस किराए की बारी, कर्नाटक में जनता पर बोझ खटाखट: कॉन्ग्रेस की ‘रेवड़ी’ से खजाना खाली, अब कमाई के लिए विदेशी...

कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार की रेवड़ी योजनाएँ राज्य को महँगी पड़ रही हैं। पेट्रोल-डीजल के बाद अब पानी के दाम और बसों के किराए बढ़ाने की योजना है।

पूरी हुई 832 साल की प्रतीक्षा, राष्ट्र को PM मोदी ने समर्पित की नालंदा की विरासत: कहा- आग की लपटें ज्ञान को नहीं मिटा...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार के राजगीर में नालंदा विश्वविद्यालय के नए परिसर का उद्धघाटन किया। नया परिसर नालंदा विश्वविद्यालय के प्राचीन खंडहरों के पास है

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -