Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजदिल्ली के जिस स्कूल ने 'जय श्री राम' पर छात्रों को दी सज़ा, उसकी...

दिल्ली के जिस स्कूल ने ‘जय श्री राम’ पर छात्रों को दी सज़ा, उसकी वेबसाइट हैक: दिख रहे केवल राम ही राम, बैकग्राउंड भगवा

महेश शर्मा ने इस पूरे मामले में आरोपित किए गए टीचर अनूप और रवि के निलंबन की पुष्टि की। उन्होंने यह भी कहा कि तीसरी टीचर रितु छुट्टी पर चली गई हैं।

दिल्ली के जिस स्कूल में रविवार (20 मई, 2023) को छात्रों ने जय श्री राम बोलने पर खुद को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था, उसकी वेबसाइट हैक हो गई है। हैकर ने पूरी वेबसाइट का बैकग्राउंड रंग भगवा कर दिया। वेबसाइट पर बड़े-बड़े अक्षरों में ‘जय श्री राम लिख’ दिया गया है। इसी के साथ भगवान राम की कई तस्वीरें भी स्कूल की होम स्क्रीन पर दिखाई दे रहीं हैं। खास बात ये है कि इस हैकिंग की जानकारी स्कूल को थी ही नहीं। हालाँकि, थोड़े समय बाद ही स्कूल प्रशासन ने इसमें सुधार कर लिया।

यह मामला दिल्ली के मयूर विहार स्थित वनस्थली पब्लिक स्कूल का है। यहाँ 20 मई को हिंदू संगठनों ने स्कूल में छात्रों के कलावा कटे जाने और भगवान राम का पोस्टर फाड़ने के आरोप में प्रदर्शन किया था। 22 मई (सोमवार) को इस स्कूल की वेबसाइट पर भगवान राम का चित्र होम स्क्रीन पर दिखने लगा। स्क्रीन पर भगवान राम के धनुष-बाण सहित फोटो के साथ बजरंग बली की भी फोटो दिखाई देने लगी। ये फोटो स्क्रॉल हो रहे थे।

इन तस्वीरों के ऊपर लिखा था, “हिन्दुओं की सहिष्णुता को उनकी कमजोरी समझने की भूल मत करो। हमें उकसाना बंद करो। हमारे धैर्य की प्रतीक्षा मत लो।”

वनस्थली स्कूल की वेबसाइट

इन सभी के नीचे ‘हमारे मंदिर’ नाम के एक वेरिफाइड ट्विटर हैंडल का फोटो भी आ रहा था। जब ऑपइंडिया ने वेबसाइट में हुए इस बदलाव के बारे में वनस्थली स्कूल में प्रशासनिक विभाग के अधिकारी महेश शर्मा से बात की तो उन्हें इसके बारे में पता ही नहीं था। पहले तो वो मामले से अनजान बने रहे, फिर कुछ देर बाद कुछ भी न दिखने की बात कही। अंत में महेश शर्मा ने कहा, “भगवान राम का फोटो जय श्री राम लिख कर आ रहा है तो गलत क्या है?” हालाँकि, थोड़े समय बाद स्कूल की वेबसाइट फिर से पहले जैसी हो गई।

गलती की शुरुआत छात्रों से: स्कूल का दावा

वनस्थली स्कूल के प्रशासनिक विभाग के अधिकारी महेश शर्मा ने ऑपइंडिया से बात करते हुए कहा कि इस पूरे विवाद की शुरुआत छात्रों की गलती से हुई। उन्होंने कहा कि कुछ छात्र स्कूल के बाहर बाइक से ‘जय श्री राम’ का नारा लगाते हुए गलत तरीके से ड्राइविंग कर रहे थे, जिन्हें रोकने और अगले दिन डाँटने के लिए बुलाने पर ये सारा विवाद शुरू हुआ। बकौल महेश शर्मा, वो भी राम के नाम का सम्मान करते हैं। लेकिन स्कूल का अनुशासन बरकरार रहना चाहिए।

महेश शर्मा ने इस पूरे मामले में आरोपित किए गए टीचर अनूप और रवि के निलंबन की पुष्टि की। उन्होंने यह भी कहा कि तीसरी टीचर रितु छुट्टी पर चली गई हैं। जब हमने उनसे सवाल किया कि अगर स्कूल प्रशासन गलती छात्रों की मानता है तो टीचरों को सस्पेंड क्यों किया गया तो इसके जवाब में उन्होंने मैनेजमेंट द्वारा यह कदम जनभावना को शांत करने के लिए उठाया गया बताया।

मंदिर में पूजा से होती है काम की शुरुआत

वनस्थली स्कूल का माहौल पूरी तरह से धार्मिक बताते हुए महेश शर्मा ने कहा कि वहाँ सुबह पूजा से ही काम की शुरुआत होती है। स्कूल की कई अलग-अलग जगहों पर ब्रांच बताते हुए उन्होंने कहा कि हर स्कूल के कैम्पस में एक मंदिर बना हुआ है जो हम लोगों की राम के प्रति श्रद्धा को दर्शाता है। हालाँकि उन्होंने यह भी कहा कि हमारे स्कूल में पढ़ाई का वातावरण धर्म निरपेक्ष है क्योंकि यहाँ सभी धर्म के बच्चे पढ़ते हैं।

गौरतलब है कि वनस्थली स्कूल के कुछ छात्रों ने स्कूल के 3 खेल टीचरों अनूप, रवि और रितु पर अपना कलावा काटने और भगवान राम का नाम लेने पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि 5 छात्रों को स्कूल की तरफ से सस्पेंड भी कर दिया गया था। हालाँकि, हिन्दू संगठनों के प्रदर्शन के बाद सभी छात्रों को बहाल करने के साथ उन्हें स्कूल के प्रशासन की तरफ से कलावा बाँधा गया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जम्मू कश्मीर के उप-राज्यपाल को अब दिल्ली के LG जितनी शक्तियाँ, ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए भी उनकी अनुमति ज़रूरी: मोदी सरकार के आदेश पर भड़के...

जब से जम्मू कश्मीर का पुनर्गठन हुआ है, तब से वहाँ चुनाव नहीं हो पाए हैं। मगर जब भी सरकार का गठन होगा तब सबसे अधिक शक्तियाँ राज्यपाल के पास होंगी। ये शक्तियाँ ऐसी ही हैं, जैसे दिल्ली के एलजी के पास होती है।

लालू यादव ने हाथ जोड़ अनिल अंबानी को किया प्रणाम, प्रियंका चतुर्वेदी ने एन्जॉय किया ‘यादगार क्षण’: अनंत अंबानी की शादी में I.N.D.I. नेताओं...

अखिलेश यादव अपनी बेटी और पत्नी डिंपल के साथ समारोह में मौजूद रहे। यहाँ तक कि कॉन्ग्रेस नेता सलमान ख़ुर्शीद भी अपने परिवार के साथ भोज खाने के लिए पहुँचे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -