Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाजपश्चिम बंगाल: घर में बम बनाने के दौरान हुआ विस्फोट, महारुल शेख और तफुल...

पश्चिम बंगाल: घर में बम बनाने के दौरान हुआ विस्फोट, महारुल शेख और तफुल शेख की मौत, 5 अन्य घायल

पश्चिम बंगाल पुलिस ने पुष्टि की है कि दो मुस्लिम युवकों के साथ कुछ अन्य लोग क्रूड बम बनाने में शामिल थे, तभी एक आकस्मिक विस्फोट हुआ जिसमें दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। मृतकों की पहचान महारुल शेख और तफुल शेख के रूप में हुई है। पश्चिम बंगाल पुलिस ने पाँचों घायलों को स्थानीय सबडिविजनल अस्पताल में भर्ती कराया है।

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में एक घर में हुए बम विस्फोट में दो लोगों की मौत हो गई और पाँच अन्य घायल हो गए। यह विस्फोट शुक्रवार (जुलाई 3, 2020) रात नौ बजे जिले के जंगीपुर उपमंडल के सुती कस्बे में हुआ। बताया जा रहा है कि वे लोग अपने घर में बम बना रहे थे तभी विस्फोट हो गया।

रिपोर्टों के अनुसार, पश्चिम बंगाल पुलिस ने पुष्टि की है कि दो मुस्लिम युवकों के साथ कुछ अन्य लोग क्रूड बम बनाने में शामिल थे, तभी एक आकस्मिक विस्फोट हुआ जिसमें दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।

मृतकों की पहचान महारुल शेख और तफुल शेख के रूप में हुई है। पश्चिम बंगाल पुलिस ने पाँचों घायलों को स्थानीय सबडिविजनल अस्पताल में भर्ती कराया है। इनमें से दो की हालत गंभीर बताई जा रही है।

जिला पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शुरुआती जाँच में पता चला है कि ये लोग इलाके में स्थानीय नहीं थे, उन्हें काम पर रखा गया था और क्रूड बम बनाने के लिए लाया गया था। फिलहाल जाँच जारी है और पुलिस घायल व्यक्तियों की पहचान करने की कोशिश कर रही है।

पुलिस ने कहा कि जिस घर में आरोपित बम बना रहे थे, वह बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है और इसका मालिक फरार है। अधिकारी ने कहा कि घर के मालिक की पत्नी से घटना के संबंध में पूछताछ की जा रही है। एक व्यक्ति, जिसकी हालत बिगड़ गई थी, उसे बाद में मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में स्थानांतरित कर दिया गया।

गौरतलब है कि पिछले दिनों पश्चिम बंगाल के बीरभूम के लेबारा गाँव में तृणमूल कॉन्ग्रेस के बूथ अध्यक्ष मुस्ताक शेख ने बम बनाते समय हुए विस्फोट में अपने दोनों हाथ गँवा दिए थे। इस बम की तीव्रता इतनी अधिक थी कि बम विस्फोट की आवाज सुनकर गाँव के कई लोग भाग खड़े हुए। 

वहीं पूर्वी मिदनापुर जिले के लालपुर गाँव में शेख कासमुद्दीन नामक एक स्थानीय निवासी और तृणमूल कॉन्ग्रेस (टीएमसी) समर्थक के घर के पीछे से 153 क्रूड बम बरामद किया गया था। भगवानपुर पुलिस ने बमों की बरामदगी के साथ ही इस मामले के सिलसिले में चार लोगों को भी गिरफ्तार किया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,137FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe