पहली क्लास के आर्यन ने बोला- जय श्रीराम, टीचर ने इतना मारा कि स्कूल जाने से कर रहा मना

"आखिर जय श्री राम कहने में दिक्कत क्या है? स्कूल के नाम से राम का नाम जुड़ा है, ऐसे में जय श्री राम कहने में परेशानी क्या है?"

पश्चिम बंगाल में ‘जय श्री राम’ का नारा लगाना किसी अपराध से कम नहीं है। फिर चाहे जय श्री राम का ये नारा कोई बड़े-बुजुर्ग लगाए, या फिर कोई स्कूल का छात्र। इस अपराध की सजा हर किसी को भुगतनी पड़ती है। लोकसभा चुनाव 2019 के समय से ही पश्चिम बंगाल में ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने पर टीएमसी गुंडों द्वारा लोगों के साथ मारपीट की जा रही है। अब छोटे-छोटे मासूम बच्चों को भी नहीं बख्शा जा रहा।

ताजा मामला हावड़ा के श्री रामकृष्ण शिक्षालय नामक स्कूल का है, जहाँ गुरुवार (जुलाई 11, 2019) को एक शिक्षक ने पहली कक्षा में पढ़ने वाले छात्र आर्यन सिंह की सिर्फ इसलिए बेरहमी से पिटाई कर दी, क्योंकि उसने क्लास में जय श्री राम बोल दिया था। पिटाई से छात्र काफी डरा हुआ है, वो स्कूल जाने से मना कर रहा है।

पीड़ित छात्र आर्यन के पिता चंदन सिंह का कहना है कि स्कूल की छुट्टी होने के बाद जब वो आर्यन को लाने के लिए गए तो उसने जय श्री राम बोलने पर की गई मारपीट की शिकायत की। आर्यन ने बताया कि पहली क्लास खत्म होने और दूसरी क्लास शुरू होने के बीच उसके एक दोस्त आकाश साव ने उससे जय श्री राम बोलने के लिए बोला तो उसने बोल दिया। उसी समय क्लास रुम के पास से गुजर रहे एक शिक्षक ने सुन लिया और फिर कक्षा में आकर उसकी पिटाई कर दी और जय श्री राम का नारा लगाने से मना भी किया।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

चंदन सिंह ने कहा कि वो इसके बारे में शुक्रवार (जुलाई 12, 2019) को हेडमास्टर से शिकायत करेंगे। उनका कहना है कि वो इस मामले में कोई राजनीति नहीं, बल्कि स्कूल से स्पष्टीकरण चाहते हैं। उन्होंने कहा कि आखिर जय श्री राम कहने में दिक्कत क्या है? स्कूल के नाम से राम का नाम जुड़ा है, ऐसे में जय श्री राम कहने में परेशानी क्या है? चंदन सिंह ने इस बाबत स्कूल संचालान कमेटी को चिट्ठी लिखकर अपने बेटे के अपराध के बारे में पूछा है।

भाजपा के प्रदेश महासचिव संजय सिंह ने इस मामले को दु:खद बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने ऐसा माहौल बनाया है कि जय श्री राम अपशब्द बनता जा रहा है। जय श्री राम बोलना जैसे गुनाह हो गया है। गौरतलब है कि, अभी कुछ दिनों पहले ही पश्चिम बंगाल के नादिया जिले में बीजेपी कार्यकर्ता कृष्ण देवनाथ के जय श्री राम बोलने पर टीएमसी गुंडों ने इतनी बेरहमी से पिटाई की थी कि उनकी मौत हो गई।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

दिल्ली दंगे
इस नैरेटिव से बचिए और पूछिए कि जिसकी गली में हिन्दू की लाश जला कर पहुँचा दी गई, उसने तीन महीने से किसका क्या बिगाड़ा था। 'दंगा साहित्य' के कवियों से पूछिए कि आज जो 'दोनों तरफ के थे', 'इधर के भी, उधर के भी' की ज्ञानवृष्टि हो रही है, वो तीन महीने के 89 दिनों तक कहाँ थी, जो आज 90वें दिन को निकली है?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

155,450फैंसलाइक करें
43,324फॉलोवर्सफॉलो करें
179,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: