Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाजनेशनल खिलाड़ी, लॉरेंस बिश्नोई का 'मैनेजर', सब-इंस्पेक्टर का बेटा… करणी सेना अध्यक्ष की हत्या...

नेशनल खिलाड़ी, लॉरेंस बिश्नोई का ‘मैनेजर’, सब-इंस्पेक्टर का बेटा… करणी सेना अध्यक्ष की हत्या की साजिश रचने वाला संपत नेहरा, करता सलमान खान का भी मर्डर

संपत नेहरा राजस्थान के रायगढ़ का रहने वाला है और उसके पिता रामचंदर चंडीगढ़ पुलिस में ASI हुआ करते थे। उसका बचपन पंजाब में ही बीता। पंजाब यूनिवर्सिटी में उसकी मुलाकात लॉरेंस बिश्नोई से हुई।

राजस्थान की राजधानी जयपुर में मंगलवार (5 दिसंबर, 2023) को करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की घर में घुस कर हत्या कर दी गई, जिसका CCTV वीडियो भी सामने आया। इसके बाद राजपूत समाज ने पूरे राजस्थान में बंद का आह्वान किया है। अब सामने आया है कि पंजाब के बठिंडा स्थित जेल में बंद गैंगस्टर संपत नेहरा ने इस हत्याकांड की साजिश रची। वो लॉरेंस बिश्नोई का गैंगस्टर है। इस हत्याकांड की साजिश के संबंध में 10 महीने पहले ही राजस्थान पुलिस के पास इनपुट आ गया था।

संपत नेहरा कभी राष्ट्रीय स्तर का खिलाड़ी हुआ करता था, लेकिन फिर वो अपराध की दुनिया में घुस गया। कॉलेज के दिनों में लॉरेंस बिश्नोई से उसकी दोस्ती हुई थी। उसे एक ऐसा अपराधी माना जाता है, जिस पर लॉरेंस बिश्नोई आँख बंद कर के भरोसा करता रहा है। खेल में संपत नेहरा ने कई अवॉर्ड जीते थे। उसे लॉरेंस बिश्नोई का सबसे खास गुर्गा माना जाता है। कई गैंगवॉर, हथियारों की सप्लाई और हवाला के पैसों को इधर-उधर भेजना – इन सब में संपत नेहरा एक्सपर्ट है।

वो भी लॉरेंस बिश्नोई की तरह ही जेल से ही अपराध का गिरोह चलाता है। संपत नेहरा को लॉरेंस बिश्रोई गैंग में नए लड़कों को जोड़ने और उन्हें हथियार उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। संपत नेहरा एक तरह से बिश्नोई गैंग का ‘मैनेजर’ है। संपत नेहरा जब जेल से बाहर था तब वो अपराध को अंजाम देने के बाद अपनी पहचान बदल कर दक्षिण भारत में भाग जाता था और वहाँ रहने लगता था। उसे अभिनेता सलमान खान की हत्या की साजिश रचने के मामले में गिरफ्तार किया गया था, जिन्हें लॉरेंस बिश्नोई कई बार धमकी दे चुका है।

संपत नेहरा राजस्थान के रायगढ़ का रहने वाला है और उसके पिता रामचंदर चंडीगढ़ पुलिस में ASI हुआ करते थे। उसका बचपन पंजाब में ही बीता। पंजाब यूनिवर्सिटी में उसकी मुलाकात लॉरेंस बिश्नोई से हुई। DAV कॉलेज में वो बिश्नोई का जूनियर था। डीकैथलॉन हर्डल रेस खेल में उसने राष्ट्रिय स्तर पर सिल्वर मेडल जीता। लॉरेंस बिश्नोई ने कॉलेज में SOPU (स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन ऑफ पंजाब यूनिवर्सिटी) नामक ग्रुप बनाई थी, जिसका मुखिया संपत नेहरा ही था। 2016 में कार लूट में वो पहली बार गिरफ्तार हुआ।

उस पर रंगदारी से जुड़े कई मामला दर्ज हैं और वो पहचान छिपाने में एक्सपर्ट है। उस पर 25 मामले दर्ज हैं, जिनमें 12 केस मर्डर के हैं। उस पर 2 लाख रुपए का इनाम है। पंजाब, राजस्थान और हरियाणा – 3 राज्यों में उसने आतंक फैलाया। संपत नेहरा ने मुंबई जाकर सलमान खान के घर की रेकी भी की थी। उसे ही सलमान खान की हत्या का काम लॉरेंस बिश्नोई को सौंपा था। उन्हें निशाना बनाने के लिए खरीदी गई राइफल उसने ही 4 लाख रुपए में खरीदी थी।

वो तेलंगाना में पहचान छिपा कर इस साजिश में रचा हुआ था, लेकिन हरियाणा पुलिस ने उससे पहले ही उसे गिरफ्तार कर लिया। लॉरेंस बिश्नोई ने एक बुकी को ‘कच्चा चबा जाऊँगा’ कह कर धमकाया था, साथ ही पंजाब के गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या में भी उसका नाम आया था। इन मामलों में दिल्ली पुलिस ने संपत नेहरा को हिरासत में लेकर पूछताछ की। कुछ अन्य पंजाबी गायक भी बिश्नोई गैंग के निशाने पर हैं। संपत नेहरा पहले दिल्ली की मंडोली जेल में बंद था और उसने अपनी जान को खतरा बताया था जिसके बाद उसे तिहाड़ में भेजा गया था।

बठिंडा जेल में लॉरेंस बिश्नोई गैंग के कुछ अन्य अपराधी भी बंद हैं। उस पर 12 हत्याओं के अलावा गैर-इरादतन हत्या के 6 और डकैती के भी 5 मामले दर्ज हैं। साथ ही फिरौती के 3 मामले उस पर दर्ज हैं। साइबराबाद से गिरफ्तार संपत नेहरा 17 जनवरी, 2018 को राजस्थान के सादुलपुरा कोर्ट परिसर में हिस्ट्रीशीटर अजय जैतपुरा की हत्या में भी वॉन्टेड है। हरियाणा पुलिस को उसे गिरफ्तार करने में कई दिन लगे थे, जिस दौरान ह्यूमन इंटेलिजेंस से लेकर तकनीकी सर्विलांस तक का सहारा लिया गया।

15 दिन हरियाणा पुलिस ने उसकी गिरफ़्तारी के लिए तेलंगाना में डेरा डाला। ऑपरेशन 3 दिनों तक चला। हैदराबाद में 2 MBA ग्रेजुएट्स के साथ उसने फ़्लैट ले रखा था। 8 हत्या के प्रयासों के मामले में भी शामिल होने की बात उसने कबूल की है। मानेसर में बेस बना कर वो गुरुग्राम में अपना नेटवर्क फैला रहा था। उसने अनिल चिप्पी और काला जठेरी गैंग से हाथ मिलाया था। गुरुग्राम में प्रभाव रखने वाले कुशाल और अमित डगर गैंग को हटाने की उसने साजिश रची थी।

संपत नेहरा ने 5 साल पहले कोर्ट में गिड़गिड़ाते हुए अपने लिए बुलेटप्रूफ जैकेट तक की माँग कर दी थी। उसने कहा था कि विरोधी गैंग उसकी हत्या करा सकते हैं। कोर्ट ने पुलिस को उसकी सुरक्षा के बंदोबस्त करने के निर्देश दिए थे। जब हत्या के मामले में पहलवान सुहील कुमार मंडोली के जेल में डाले गए, तब संपत नेहरा ने खुद को जान का खतरा बताया था। तभी उसे शिफ्ट किया गया था। अब करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या में वो फिर से सुर्ख़ियों में है।

इस मामले में पुलिस ने जयपुर के झोटवाड़ा निवासी रोहित राठौड़ को गिरफ्तार किया है। वो मूल रूप से नागौर के मकराना का रहने वाला है। वहीं हरियाणा के महेंद्रगढ़ के रहने वाले नितिन फौजी को भी गिरफ्तार किया गया है। बाड़मेर, चूरू और राजसमंद में भी विरोध प्रदर्शन चालू है और बाजार बंद करवा दिए गए हैं। बता दें कि सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के घर में घुस कर हत्यारों ने बातचीत करते-करते अचानक 20 सेकेण्ड में ताबड़तोड़ 17 राउंड फायरिंग कर डाली जिसमें उनकी मौत हो गई।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -