Tuesday, August 3, 2021
Homeदेश-समाजअल्पसंख्यक यूनिवर्सिटी में कार्यरत है अलकायदा आतंकी की बीवी, घर से विवि का वाहन...

अल्पसंख्यक यूनिवर्सिटी में कार्यरत है अलकायदा आतंकी की बीवी, घर से विवि का वाहन पास भी मिला: Pak व ईरान से आते-जाते थे लोग

आतंकी के घर के पास ही सालों से पंक्चर बनाने वाले दानिश ने बताया कि शाहिद हमेशा उससे पुराने टायर की माँग करता था। कारण पूछने पर वो टाल दिया करता था। शाहिद और मिनहाज गैराज में खड़ी गाड़ी का टायर प्रत्येक छह महीने में बदल लेते थे।

उत्तर प्रदेश के आतंक निरोधी दस्ते (ATS) ने लखनऊ से अलकायदा के दो आतंकियों को गिरफ्तार कर के एक बड़ी साजिश को नाकाम किया है। अब इनमें से एक मिनहाज की बीवी और उसकी कार के बारे में भी कई तरह की संदिग्ध बातें सामने आई हैं। उसके घर से ही विस्फोटक के साथ प्रेशर कूकर और पिस्टल बरामद हुए हैं। मिनहाज की बीवी इंटीग्रल यूनिवर्सिटी में कार्यरत है। उसके घर से इस यूनिवर्सिटी का एक वाहन पास भी जब्त किया गया है।

बता दें कि लखनऊ में चलने वाली इंटीग्रल यूनिवर्सिटी एक अल्पसंख्यक शैक्षिक संस्थान है। ATS ने रविवार (11 जुलाई, 2021) की देर रात मिनहाज के अब्बा और बीवी को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। मिनहाज के घर के पास ही एक दानिश नाम का व्यक्ति सालों से पंक्चर बनाने की दुकान लगा रहा है। उसने बताया कि मिनहाज के घर से जो SUV गाड़ी बरामद हुई है, उसे किसी ने पहले उसके गैराज से निकलते नहीं देखा।

उसका पड़ोसी शाहिद कभी-कभी उस गाड़ी से निकलता था, ये बात भी सामने आई है। दानिश ने बताया कि शाहिद हमेशा उससे पुराने टायर की माँग करता था। कारण पूछने पर वो टाल दिया करता था। शाहिद और मिनहाज गैराज में खड़ी गाड़ी का टायर प्रत्येक छह महीने में बदल लेते थे। दानिश का कहना है कि उनकी इस हरकतों पर उसे कभी-कभार संदेह भी होता था। मड़ियाँव से शाहिद ने 3 टायर खरीदे थे।

जब एक टायर कम पड़ गया तो उन दोनों ने दानिश से संपर्क किया। उससे वो लोग टायर लेकर गए, लेकिन उनकी गाड़ी में ये टायर नहीं लग सका। जब वो इस टायर को लौटाने आए तो दानिश ने मना करते हुए इसे गैराज में रहने देने को कहा और कहा कि जब ज़रूरत होगी तो वो ले लेगा। आरोपितों के घर अक्सर पाकिस्तान-अफगानिस्तान और ईरान तक के के लोग आते-जाते रहते थे, ऐसा मीडिया ने ATS सूत्रों के हवाले से बताया है।

ये विदेशी लोग भी आतंक के इस नेटवर्क में शामिल हैं। इन्होंने उत्तर प्रदेश में बम विस्फोट के लिए बड़ी मात्रा में विस्फोटक उपलब्ध कराए थे। कुछ दिनों पहले 3-4 संदिग्ध पाकिस्तानी भी काकोरी आए थे। उसी गाड़ी से वो लोग कश्मीर गए थे, जिसे शाहिद के गैराज से जब्त की गई है। केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों ने ATS से उस गाड़ी का नंबर साझा किया था। अब पूरे यूपी में गश्त बढ़ा कर होटलों-लॉजों में रुकने वालों का ब्यौरा जुटाया जा रहा है।

लखनऊ में गिरफ्तार आतंकी गई बार कानपुर आए थे, ऐसे में वहाँ छापेमारी कर के कई संदिग्धों को उठा कर पूछताछ की जा रही है। कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज भी मिले हैं। जाजमऊ, चमनगंज और बेकनगंज से चार-चार संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। लखनऊ से गिरफ्तार दोनों आतंकियों के मोबाइल नंबर्स खँगाल कर छापेमारी हो रही है। खासकर रात के समय पुलिस को गश्त बढ़ाने को कहा गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘चुप! वर्दी उतरवा दूँगी.. तेरी औकात नहीं है’: नैनीताल में महिला पर्यटक की पुलिस से दबंगई, ₹6 करोड़ की कार जब्त

महिला के साथ उसके कुछ साथी भी थे, जो लगातार पुलिसकर्मियों के साथ बदसलूकी कर रहे थे। नैनीताल पुलिस ने 6 करोड़ रुपए की कार सीज कर ली है।

‘माँस फेंक करते हैं परेशान’: 81 हिन्दू परिवारों ने लगाए ‘मकान बिकाऊ है’ के पोस्टर, एक्शन में मुरादाबाद पुलिस

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद स्थित कटघर थाना क्षेत्र में स्थित इस कॉलोनी में 81 हिन्दू परिवारों ने 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगा दिए हैं। वहाँ बसे मुस्लिमों पर परेशान करने के आरोप।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,740FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe