Wednesday, June 26, 2024
Homeदेश-समाजसिर गायब-गुप्तांग भी काटा: युवती की नग्न लाश से हड़कंप, आक्रोशित लोगों ने CM...

सिर गायब-गुप्तांग भी काटा: युवती की नग्न लाश से हड़कंप, आक्रोशित लोगों ने CM हेमंत सोरेन के काफिले को रोका

ओरमांझी पुलिस का कहना है कि आसपास के लोगों को मौके पर बुलाकर शव दिखाया गया, लेकिन कोई सुराग नहीं मिल पाया। पुलिस आशंका जता रही है कि युवती के साथ दुष्कर्म करने के बाद अपराधियों ने गला रेत कर उसकी हत्या कर दी। युवती के शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं मिला। अपराधियों ने युवती का गुप्‍तांग भी काट दिया है।

झारखंड के राँची में एक युवती की सिरकटी लाश मिलने से हड़कंप मच गया। मामला ओरमांझी थाना इलाके के जिराबार जंगल का है। महिला का शव नग्न अवस्था में मिला है और सिर की तलाश जारी है। पुलिस की टीम लगातार जाँच में जुटी हुई है। इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है। खोजी कुत्तों की भी मदद ली जा रही है। फिलहाल महिला का सिर का अभी तक पता नहीं चला है।

ओरमांझी पुलिस का कहना है कि आसपास के लोगों को मौके पर बुलाकर शव दिखाया गया, लेकिन कोई सुराग नहीं मिल पाया। पुलिस आशंका जता रही है कि युवती के साथ दुष्कर्म करने के बाद अपराधियों ने गला रेत कर उसकी हत्या कर दी। युवती के शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं मिला। अपराधियों ने युवती का गुप्‍तांग भी काट दिया है।

राँची के पुलिस अधीक्षक नौशाद आलम ने बताया, “निर्वस्त्र अवस्था में महिला की सिर कटी लाश मिली है। युवती की पहचान अभी नहीं की जा सकी है। डेड बॉडी को ऑटोप्सी के लिए भेजा गया है। पोस्टमार्टम के बाद ही खुलासा हो पाएगा कि युवती के साथ दुष्कर्म हुआ है या नहीं। मामले में जाँच जारी है।”

वहीं कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा जा रहा है कि पुलिस को घटनास्थल पर खाना बनाने के लिए चूल्हा और कई बीयर की खाली बोतलें भी मिली है। इससे भी अनुमान लगाया जा रहा है कि युवती के साथ दुष्कर्म कर उसकी हत्या की गई है और साक्ष्य छुपाने की नीयत से उसके कपड़े और सर को गायब कर दिया गया।

युवती के शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं मिला। शव की पहचान नहीं हो पाए इस वजह से सिर को कहीं और ले जाकर फेंक दिया गया होगा। हालाँकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही दुष्कर्म की पुष्टि हो जाएगी। पुलिस घटना की हर एंगल से जाँच कर रही है।

इस संबंध में सिल्ली के डीएसपी चंद्रशेखर ने बताया कि एक हफ्ते के अंदर राँची में जितनी भी महिलाओं और युवतियों के लापता होने का मामला दर्ज हुआ है, उनकी तस्वीर और विस्तृत जानकारी मँगाई जा रही है।

शव के डीएनए को भी सुरक्षित रखवाया गया है, जल्द ही युवती की पहचान हो जाने और घटना को अंजाम देने वाले आरोपितों की शिनाख्त हो जाने की संभावना है। बताया जा रहा है कि घटनास्थल के पास नदी है। युवती की हत्या करने के बाद अपराधियों ने घटनास्थल पर पानी डाल दिया था ताकि खून और पुलिस को साक्ष्य नहीं मिल पाए।

ऐसी आशंका भी जताई जा रही कि करीब 19 से 20 वर्षीय युवती की हत्या कहीं और करने के बाद शव को जंगल में लाकर फेंक दिया गया। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस टीम मौके पर पहुँची। जाँच में महिला का शव पूरी तरह से नग्न अवस्था में मिला। 

पुलिस इस मामले में सीसीटीवी का फुटेज देखकर और घटनास्थल का कॉल डंप निकाल अपराधियों तक पहुँचने का प्रयास कर रही है। पुलिस कॉल डंप के सहारे इस बात का पता लगाने का प्रयास कर रही है कि घटनास्थल पर कौन-कौन से मोबाइलधारक मौजूद थे। एसएसपी सुरेंद्र झा का कहना है कि अपराधियों के द्वारा बड़ी घटना को अंजाम दिया गया है। पुलिस हर हाल में अपराधियों को गिरफ्तार करेगी।

ओरमांझी में रविवार (जनवरी 03, 2021) को मिले युवती के शव के विरोध में लोगाें ने किशोरगंज चौक पर सोमवार (जनवरी 4, 2020) को विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान गुस्साए लोगों ने जमकर प्रदर्शन किया। उन्होंने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के काफिले को राँची के किशोरगंज चौक के पास रोक दिया। वहाँ से गुजर रहे सीएम के कारकेड को रोकने का प्रयास किया। सुरक्षा के मद्देनजर सीएम का काफिला रास्‍ता बदलकर रवाना हुआ।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बड़ी संख्या में OBC ने दलितों से किया भेदभाव’: जिस वकील के दिमाग की उपज है राहुल गाँधी वाला ‘छोटा संविधान’, वो SC-ST आरक्षण...

अधिवक्ता गोपाल शंकरनारायणन SC-ST आरक्षण में क्रीमीलेयर लाने के पक्ष में हैं, क्योंकि उनका मानना है कि इस वर्ग का छोटा का अभिजात्य समूह जो वास्तव में पिछड़े व वंचित हैं उन तक लाभ नहीं पहुँचने दे रहा है।

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -