‘आप इस्लाम कबूल करें, मेरी इच्छा है कि मैं जन्नत में आपके साथ रहूँ’, न्यूजीलैंड PM से किसने कही मन की बात?

एक वीडियो सोशल मीडिया में आजकल चर्चा में है, जिसमें एक मुस्लिम युवक को भावनाओं में बहकर न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री को इस्लाम स्वीकारने की सलाह देते हुए देखा जा रहा है। साथ ही, इस युवक ने यह इच्छा भी व्यक्त की है कि वो मिस अर्डर्न के साथ जन्नत में रहे।

न्यूजीलैंड की मस्जिदों पर हुए हमले के बाद न्यूजीलैंड की सभी राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने मुस्लिम समुदाय के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त की, जिस कारण यह सद्भावना का प्रयास दुनियाभर में सराहा गया है। लेकिन एक वीडियो सोशल मीडिया में आजकल चर्चा में है, जिसमें एक मुस्लिम युवक को भावनाओं में बहकर न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री को इस्लाम स्वीकारने की सलाह देते हुए देखा जा रहा है। साथ ही, इस युवक ने यह इच्छा भी व्यक्त की है कि वो मिस अर्डर्न के साथ जन्नत में रहे।

एक मुस्लिम युवक और पीएम अर्डर्न के बीच एक संवाद वायरल हुआ है, जिसमें उन्होंने न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री को इस्लाम अपनाने के लिए आमंत्रित किया है। मिस अर्डर्न ने युवक को ध्यान से सुना और मुस्कुराते हुए इस्लाम में प्रवेश करने के उनके निमंत्रण का जवाब भी दिया।

शख्स ने कहा, “सच कहूँ, जिसने मुझे यहाँ लाया है वह आप हैं। मैं पिछले तीन दिनों से हर दिन रो रहा हूँ। मैं अल्लाह से एक दुआ कर रहा हूँ और मैंने कहा कि काश अन्य नेता आपके नेतृत्व कौशल को देख सकें और मेरी एक और इच्छा है कि मैं आशा करता हूँ कि एक दिन आप इस्लाम में प्रवेश करें। मेरी इच्छा है कि मैं जन्नत में आपके साथ रहूँ।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इस पर, मिस अर्डर्न ने जवाब देते हुए कहा, “इस्लाम मानवता सिखाता है और मुझे लगता है कि यह मेरे पास है।”

विगत दिनों न्यूजीलैंड में हुए इस हमले में मारे गए परिजनों के साथ पीएम अर्डर्न की सहानुभूति की दुनियाभर में खूब प्रशंसा हुई। आतंकी हमले के बाद पीएम ने मस्जिद का दौरा किया और शोक में डूबे परिवारों से मुलाकात की। ऐसे ही एक पीड़ित परिवार से मुलाकात के लिए पीएम जब हिजाब पहनकर पहुँची तो विश्वभर के नेताओं ने उनकी खूब तारीफ की थी।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

अलीगढ़
भीड़ ने जब मंदिर और पुलिस पर ज्यादा पथराव किया तो बदले में पुलिस ने पत्थरबाजों पर आँसू गैस के गोले छोड़े। इसके बाद वहाँ मौजूद लोगों में भगदड़ मच गई और धरना दे रहीं महिलाएँ भी भाग गईं। देहलीगेट और ऊपरकोट इलाके में सुबह से जारी जुलूस प्रदर्शनों में भीम आर्मी के कार्यकर्ता भी शामिल रहे।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

154,435फैंसलाइक करें
42,730फॉलोवर्सफॉलो करें
179,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: