Wednesday, June 26, 2024
Homeदेश-समाजमेरे नाम से फेक अकाउंट बना कर मुझे बदनाम करने की साज़िश: यूट्यूबर शाहरुख़...

मेरे नाम से फेक अकाउंट बना कर मुझे बदनाम करने की साज़िश: यूट्यूबर शाहरुख़ अदनान

चर्चित स्क्रीनशॉट में 'हिन्दू उत्तर प्रदेश में बच जाएँगे लेकिन हैदराबाद, पश्चिम बंगाल, केरल और असम में 'भक्तों' का क्या होगा? ' जैसी बात लिख कर प्रयागराज में लोटन निषाद की हत्या पर जश्न मनाने जैसी बात है।

कल सोशल मीडिया पर कुछ स्क्रीनशॉट्स दिखे जिसमें शाहरुख़ अदनान नाम के एक व्यक्ति के नाम से धमकियाँ देने की बात दिखीं। शाहरुख़ अदनान नाम के प्रोफाइल से लिखा गया कि भक्तों को अब अपना ‘गटर जैसा मुँह’ सोच-समझ कर खोलना चाहिए। अपनी इस धमकी भरी सलाह के साथ उसने प्रयागराज में एक युवक की हत्या वाली ख़बर शेयर की। 07 अप्रैल को ये स्क्रीनशॉट्स चर्चा में आए और शाम को शाहरुख अदनान ने वीडियो के माध्यम से बताया कि वह उसकी असली ID नहीं है, एवं उसने पुलिस को इसकी जाँच करने कहा है।

बता दें कि रविवार (अप्रैल 5, 2020) को बख्सी मोढ़ा गाँव के 28 वर्षीय लोटन निषाद की पड़ोसियों द्वारा इसीलिए हत्या कर दी गई क्योंकि उन्होंने कोरोना वायरस फैला रहे तबलीगी जमात के लोगों पर सवाल उठाए थे। पीड़ित के परिवार का कहना है कि सारे आरोपित मुस्लिम हैं।

हालाँकि, शाहरुख़ अदनान के यूट्यब पेज पर उसके फेसबुक पेज का एड्रेस ज़रूर है लेकिन जिस फेसबुक प्रोफाइल से उसने कमेंट किया था, उसका फेसबुक पर कहीं अता-पता नहीं है। इसका मतलब है कि वह फेसबुक प्रोफाइल डिलीट किया जा चुका है, या डीएक्टीवेटेड है। जब हमने उसके यूट्यब पेज पर दिए उसके ट्विटर आईडी से उसके ट्विटर हैंडल पर जाना चाहा तो पता चला कि उसे भी डिलीट कर लिया गया है। उसने सिर्फ़ अपने ‘अनऑफिसियल’ फेसबुक पेज और यूट्यब के पेजों को नहीं हटाया है। उसके ट्विटर हैंडल का स्क्रीनशॉट:

शाहरुख़ अदनान ने हटाया अपना ट्विटर हैंडल

नीचे आप उसके उस फेसबुक पोस्ट को देख सकते हैं, जो उस फेसबुक आईडी से थी और जिसे हटा लिया गया है:

उसने जिस ख़बर की चर्चा की है, उसके बारे में भी जान लीजिए। दलित लोटन परिचितों के साथ चर्चा कर रहे थे कि अगर विदेश से जमाती नहीं आते तो शायद भारत में कोरोना नहीं फैलता। इसके बाद वहाँ उपस्थित मुसलमानों ने गाली-गलौज शुरू कर दिया और कुछ देर बाद सोना, शादिक,अख्तार, हाकिम और तिखार सहित कई मुसलमान वहाँ पर लाठी-डंडा व असलहों के साथ आ धमके। लोटन के भाई ने एफआईआर में बताया है कि वो बार-बार कह रहे थे- “ये निषाद बचने न पाए।” लौटन के सिर में गोली मार दी गई, जिसके बाद उनका सिर फट गया और मृत्यु हो गई। परिजनों को भाग कर अपनी जान बचानी पड़ी। शाहरुख़ नाम के प्रोफाइल से फेसबुक पर इसी घटना के जश्न मनाने की बात हो रही थी।

शाहरुख़ अदनान का यह फेसबुक प्रोफाइल अब हटा लिया गया है

अगर इस प्रोफाइल के कारनामों की बात करें तो वह इतने पर ही नहीं रुका। जब उससे किसी ने सवाल किया कि क्या तुम लोग ख़ुद को ही आतंकवादी मान रहे हो, तो वो और भड़क गया। उसने धमकी दी कि हिन्दू उत्तर प्रदेश में बच जाएँगे लेकिन हैदराबाद, पश्चिम बंगाल, केरल और असम में ‘भक्तों’ का क्या होगा?

मुस्लिमों के प्रभाव वाले इलाक़ों में जान से मार डालने की धमकी

शाहरुख़ अदनान के इस प्रोफाइल के हिसाब से वो ‘अमेज़न डेवलपमेंट सेंटर’ में काम करता है। वो हैदराबाद का निवासी है। उसका दफ्तर जयभेरी में है। एक नए फेसबुक वीडियो में शाहरुख़ अदनान ने दावा किया है कि फेसबुक पर उसके नाम पर कई फेक एकाउंट्स चल रहे हैं। उसका कहना है कि उसने ऐसा कुछ भी नहीं किया है, और कोई व्यक्ति उसका नाम खराब करना चाहता है ताकि उसके द्वारा सालों का काम बर्बाद हो जाए। हमें भी उसके नाम पर कुछ और अकाउंट मिले लेकिन उस पर कोई ताज़ा सक्रियता दिखाई नहीं देती है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बड़ी संख्या में OBC ने दलितों से किया भेदभाव’: जिस वकील के दिमाग की उपज है राहुल गाँधी वाला ‘छोटा संविधान’, वो SC-ST आरक्षण...

अधिवक्ता गोपाल शंकरनारायणन SC-ST आरक्षण में क्रीमीलेयर लाने के पक्ष में हैं, क्योंकि उनका मानना है कि इस वर्ग का छोटा का अभिजात्य समूह जो वास्तव में पिछड़े व वंचित हैं उन तक लाभ नहीं पहुँचने दे रहा है।

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -