NDTV की इंटरनेशनल बेइज्जती: ओबामा को लेकर छापा था फेक न्यूज, अमेरिका में उड़ाया गया मजाक

NDTV को एक ऐसे चैनल के रूप में जाना जाता है, जिसका बेहूदा और बेशर्म तरीके से झूठ फैलाने का एक लंबा इतिहास रहा है। लेकिन ओबामा वाला यह झूठ अनोखा है, सबको जानना जरूरी कि आखिर क्यों अमेरिकी मीडिया ने इस चैनल को...

मीडिया संस्थान NDTV को एक ऐसे चैनल के रूप में जाना जाता है, जिसका बेहूदा और बेशर्म तरीके से झूठ फैलाने का एक लंबा इतिहास रहा है। चैनल ने पिछले कुछ वर्षों में बड़े पैमाने पर इस तरह से बेशर्म कारनामे करने में काफी कामयाबी हासिल की है। इसमें वित्तीय धोखाधड़ी से लेकर पाकिस्तान के एजेंडे को हवा देना, भारत को नीचा दिखाना और 26/11 के आतंकी हमले के दौरान लोगों के जान को खतरे में डालना शामिल है। हालाँकि हमें इनके ‘कारनामे’ के बारे में कम ही पता था। जानकारी के मुताबिक NDTV अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी बेइज्जती करवा चुका है। बता दें कि 2012 में एक अमेरिकी टीवी शो ‘द न्यूज़रूम’ में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इसका मजाक उड़ाया गया था।

हाल ही में एक वीडियो वायरल हुआ है। जिसे एडवोकेट जे साई दीपक ने ट्विटर पर शेयर किया। इसमें 2012 में सीजन 1 के एपिसोड 4 में ‘द न्यूज़रूम’ का एक वीडियो दिखाया गया है। वीडियो में NDTV द्वारा फैलाए जा रहे झूठ के एक भाग को दिखाया गया है।

इस कड़ी के सेगमेंट में, विल मैकऑन ने जेफ डेनियल की भूमिका निभाई, जो न्यूज नाइट के एंकर और मैनेजिंग एडिटर हैं। वह समाचार प्रस्तुत करते हुए इस बात पर चर्चा करते हैं कि कैसे झूठ को दुनिया भर में फैलाया जाता है।

‘द न्यूजरूम’ सीरीज के एपिसोड का स्क्रीनशॉट
- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इस दौरान एंकर ने उस झूठ के बारे में बात करते हुए 2010 के NDTV के एक लेख का उल्लेख किया। जिसमें तत्कालीन राष्ट्रपति ओबामा भारतीय प्रधानमंत्री के साथ व्यापार संबंधों को मजबूत करने के लिए मुंबई, भारत का दौरा करने वाले थे। एंकर का कहना था कि इस तरह की यात्राओं में आम तौर पर प्रति दिन 5 मिलियन डॉलर खर्च होते हैं। फिर एंकर ने NDTV के एक लेख को उद्धृत किया, जिसमें गुमनाम स्रोतों के हवाले से कहा गया था कि इस यात्रा के लिए प्रति दिन $200 मिलियन खर्च होंगे। इसके बाद एपिसोड में यह बताया गया कि कैसे अमेरिकी मीडिया ने बगैर हकीकत का पता लगाने की कोशिश किए इसे प्रसारित किया। जबकि व्हाइट हाउस ने एक बयान जारी करते हुए इसे गलत बताया था।

‘द न्यूजरूम’ जैसे अमेरिकी टीवी शो में NDTV के नाम का मजाक उड़ाया जाना एक ऐसा कारनामा था, जिसने लोगों का काफी ध्यान खींचा, NDTV का भी। इसके बाद NDTV का वापस से प्रतिष्ठा हासिल करना असंभव सा लगता है। बता दें कि NDTV ने 2010 में जो लेख प्रकाशित की थी, वह मूल रूप से पीटीआई एजेंसी फीड थी।

2010 में NDTV द्वारा प्रकाशित लेख

पीटीआई एजेंसी फीड में कहा गया था, “महाराष्ट्र सरकार के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि सुरक्षा, ठहरने और राष्ट्रपति के दौरे के अन्य पहलुओं पर लगभग $200 मिलियन की भारी-भरकम राशि खर्च की जाएगी।” इसमें आगे कहा गया कि गुप्त सेवा एजेंटों, अमेरिकी सरकारी अधिकारियों और पत्रकारों सहित लगभग 3,000 लोग राष्ट्रपति के साथ होंगे। व्हाइट हाउस और अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियों के कई अधिकारी पिछले एक सप्ताह से हेलीकॉप्टर, एक जहाज और उच्च सुरक्षा वाले सुरक्षा उपकरणों के साथ यहाँ पहले से ही मौजूद हैं।

हालाँकि, इस खबर को उस समय अमेरिकी अधिकारियों ने स्पष्ट रूप से नकार दिया था। लेकिन जैसा कि नकली-समाचार आउटलेट NDTV की प्रकृति है, यूएस की प्रतिक्रिया को लेख में कभी नहीं जोड़ा गया। बता दें कि ‘द न्यूजरूम’ एक अमेरिकी टेलीविजन राजनीतिक ड्रामा सीरीज है, जिसे मुख्य रूप से आरोन सोरकिन द्वारा लिखा गया है, जिसका 24 जून, 2012 को एचबीओ पर प्रीमियर हुआ था और 14 दिसंबर 2014 को समाप्त हुआ था। ये सीरीज 3 सीजन में दिखाया गया। जिसमें 52 से 73 मिनट के 25 एपिसोड थे।

हैदराबाद एनकाउंटर पर रवीश कुमार के प्राइम टाइम की स्क्रिप्ट हुई लीक, NDTV में मचा हड़कम्प

NDTV की एंकर फैला रही थी फेक न्यूज़, वो भी भारत विरोधी… रक्षा विशेषज्ञ ने लगाई क्लास

NDTV ने मॉंगी माफी: असम के अविवाहित CM को बताया था 6 बच्चों का बाप

काले जादू से बच्चे की मौत, जिम्मेदार था मुस्लिम आलिम… NDTV और मीडिया गिरोह ने लिखा तांत्रिक

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कंगना रनौत, आशा देवी
कंगना रनौत 'महिला-विरोधी' हैं, क्योंकि वो बलात्कारियों का समर्थन नहीं करतीं। वामपंथी गैंग नाराज़ है, क्योंकि वो चाहता है कि कंगना अँग्रेजों के तलवे चाटे और महाभारत को 'मिथक' बताएँ। न्यूज़लॉन्ड्री निर्भया की माँ को उपदेश देकर कह रहा है ये 'न्याय' नहीं बल्कि 'बदला' है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

143,833फैंसलाइक करें
35,978फॉलोवर्सफॉलो करें
163,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: