Saturday, March 25, 2023
Homeराजनीति847 करोड़ रुपए के साथ 36 लाख+ महिलाओं की बदली जिंदगी: MP, महाराष्ट्र और...

847 करोड़ रुपए के साथ 36 लाख+ महिलाओं की बदली जिंदगी: MP, महाराष्ट्र और ओडिशा सबसे आगे

मध्य प्रदेश की महिला किसान केंद्रीय योजना का लाभ उठाने में सबसे आगे हैं। दूसरे नंबर पर महाराष्ट्र है और उसके बाद ओडिशा का नंबर है।

कृषि मंत्रालय ने पिछले सप्ताह संसद को बताया कि महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए सरकार की फ्लैगशिप योजना से 36 लाख से अधिक महिला लाभान्वित हुईं। महिलाओं को कृषि गतिविधियों में संलग्न करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा 24 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 84 परियोजनाओं के लिए 847 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं।

ख़बर के अनुसार, एक सवाल – ‘क्या सरकार महिला किसानों के लिए कोई योजना चला रही है’ – के लिखित जवाब में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि ग्रामीण विकास मंत्रालय महिलाओं की भागीदारी और उत्पादकता बढ़ाने के लिए व्यवस्थित निवेश करके महिला किसान सशक्तीकरण योजना (MKSP) को लागू किया गया है।

उन्होंने कहा,

“MKSP के तहत, देश में 24 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में 84 परियोजनाओं के माध्यम से 36.06 लाख महिला किसान लाभान्वित हुई हैं। इनमें से महाराष्ट्र में 1.81 लाख महिलाओं को लाभान्वित किया गया है। मंज़ूर परियोजनाओं के कार्यान्वयन की दिशा में केंद्र की ओर से कुल 847.5 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है।”

MSKP वेबसाइट के अनुसार, मध्य प्रदेश की महिला किसान केंद्रीय योजना का लाभ उठाने में सबसे आगे हैं, उनका आँकड़ा 6.46 लाख है। सरकारी आँकड़ों से पता चला है कि दूसरे नंबर पर महाराष्ट्र है, जहाँ यह आँकड़ा 5.18 लाख रहा और उसके बाद ओडिशा का नंबर है, जहाँ लाभ उठाने वाली महिला किसानों का आँकड़ा 4.61 लाख था।

MSKP राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन का एक उप-घटक है, जिसका उद्देश्य कृषि में महिलाओं की स्थिति में सुधार करना है। अधिकतर मामलों में, किसानों ने सरकारी सहायता प्राप्त करने और व्यवस्थित खेती के लिए स्वयं सहायता समूह बनाकर लाभ उठाया है।

MKSP योजना के तहत सहायता प्रदान करने के अलावा, कृषि मंत्री तोमर ने कहा कि सरकार कृषि-क्लिनिक और कृषि-व्यवसाय केंद्र, कृषि विपणन की एकीकृत योजनाएँ, कृषि यांत्रिकीकरण के उप-मिशन और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन जैसी योजनाओं के तहत महिला किसानों को अतिरिक्त सहयोग और सहायता दे रही है।

चालू वित्त वर्ष के दौरान, सरकार ने इन योजनाओं के लिए 3,756 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं। मंत्री ने कहा, “इसके अलावा, महिला किसान पात्रता के अनुसार विभाग द्वारा कार्यान्वित सभी योजनाओं के तहत लाभ उठा सकती हैं।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

छिन सकता है सरकारी आवास, सजा न हुई कम तो 8 साल चुनाव भी नहीं लड़ पाएँगे: सांसदी जाने से खत्म नहीं हुई राहुल...

राहुल गाँधी की संसद सदस्यता को लेकर राजनीतिक बवाल छिड़ गया है। अदालत के फैसले के बाद सरकार की जल्दबाजी पर कॉन्ग्रेस ने सवाल उठाए हैं।

धक्का-मुक्की, पथराव और नारेबाजी: राहुल गाँधी की सांसदी जाने के बाद रायपुर में बवाल, BJP कार्यकर्ताओं से कॉन्ग्रेसी भिड़े

रायपुर में कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यालय के बाहर हंगामा करना शुरू कर दिया। वे भाजपा कार्यालय के अंदर घुसने की कोशिश कर रहे थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
250,967FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe